- Advertisement -
Home Rajasthan News Sikar news वहां सिंघु बॉर्डर पर हैं डटे हुए, यहां मंडी जाने से कतरा...

वहां सिंघु बॉर्डर पर हैं डटे हुए, यहां मंडी जाने से कतरा रहे किसान

- Advertisement -

The onion farmers is not interested for sell their crop in mandi
-किसानों की पीड़ा…कम से कम नुकसान में तो नहीं बेचेंगे-प्याज उत्पादक किसानों की मंडी से दूरी-सीकर मंडी में पिछले साल से ज्यादा भाव लेकिन किसान बोले कम मिल रहे भावसीकर. शेखावाटी का मीठा प्याज (onion) देश के कोने-कोने में पहुंचने के बाद विदेशों में भी पहचान बना चुका है। लेकिन यहां मंडियों में अब यह काफी कम देखने को मिल रहा है। वजह लागत मूल्य से भाव कम होना है। किसान अब सीधे ही प्याज बेच रहे हैं। किसानों का कहना है कि कम से कम नुकसान में तो वे अपना प्याज नहीं बेचेंगे।
पीक सीजन में भी अता पता नहीं!शेखावाटी (shekhawati)में अप्रेल माह में पीक सीजन होने के बावजूद सीकर कृषि उपज मंडी में प्याज उत्पादक किसानों (onion farmers) की दूरी बढ़ती जा रही है। इसकी बानगी है कि पिछले वर्ष की तुलना में अप्रेल माह की शुरूआत में भाव ज्यादा होने के बावजूद आवक घटती जा रही है।
35 से 50 हजार कट्टे प्रतिदिन पहुंचते थे मंडीगौरतलब है कि अभी तक पीक सीजन में जहां मंडी में प्याज के कट्टों की आवक 35 से 50 हजार प्रतिदिन तक पहुंच जाती थी, वहां अब यह आवक आधी ही रह गई है।
खेतों में ही लग रही बोलीवजह किसानों के प्याज की खेतों से सीधे बिक्री होने को बताया जा रहा है। थोक व्यापारी नेमीचंद दूजोद ने बताया कि सीकर मंडी में मंगलवार को प्याज के थोक भाव नौ से 11 रुपए प्रति किलो तक रहे। पिछले साल से ज्यादा भाव होने के बावजूद किसान कम मात्रा में प्याज लेकर आ रहे हैं। इसके कारण प्याज के भाव बढ़ेंगे, वहीं प्याज की बुवाई का क्षेत्र भी ज्यादा होने की उम्मीद है।
क्यों बेचा जा रहा सीधे ही प्याजखूड के किसान उगमाराम ने बताया कि पिछले साल अच्छे भाव की उम्मीद में उसने नौ बीघा में प्याज की बुवाई की है, लेकिन प्याज के भाव कम रहने के कारण पूरी लागत नहीं मिल रही है। मौजूदा दौर में महंगे भाव में बीज लेकर उसकी निराई, गुडाई, रोपने से लेकर खोदने की लागत बढ गई। इससे सिंचाई और किसान की मेहनत को जोड़ा जाए तो नुकसान हो रहा है। इस कारण नुकसान से बचने के लिए उसने खेत में प्याज की उपज को सीधे ही बेच दिया।

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

बाबुल सुप्रियो ने राजनीति को कहा अलविदा

मोदी सरकार में मंत्री रहे बाबुल सुप्रियो (Babul Supriyo) ने राजनीति से आज अचानक ही सन्यास ले लिया. बता दें कि वह लंबे समय...
- Advertisement -

शिवराज सरकार के मंत्री Vishwas Sarang का अजीबोगरीब बयान

मध्य प्रदेश की बीजेपी सरकार मे मंत्री और बीजेपी नेता विश्वास सारंग (Vishwas Sarang) ने मीडिया कर्मियों को संबोधित करते हुए महंगाई से संबंधित...

राजस्थान में गहलोत ही ‘सबकुछ’: धारीवाल

Gehlot is 'everything' in Rajasthan: Dhariwalमंत्री ने इशारा किया कि सत्ता और संगठन के लिए जो अच्छा होगा, वह गहलोत ही करेंगेलक्ष्मणगढ़ आए...

Capt Amarinder Singh ने पहली बार इस मुद्दे पर खुलकर बात की है

मीडिया द्वारा लंबे समय तक पंजाब कांग्रेस को लेकर भ्रम फैलाया गया और कहा गया कि नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) और मुख्यमंत्री...

Related News

बाबुल सुप्रियो ने राजनीति को कहा अलविदा

मोदी सरकार में मंत्री रहे बाबुल सुप्रियो (Babul Supriyo) ने राजनीति से आज अचानक ही सन्यास ले लिया. बता दें कि वह लंबे समय...

शिवराज सरकार के मंत्री Vishwas Sarang का अजीबोगरीब बयान

मध्य प्रदेश की बीजेपी सरकार मे मंत्री और बीजेपी नेता विश्वास सारंग (Vishwas Sarang) ने मीडिया कर्मियों को संबोधित करते हुए महंगाई से संबंधित...

राजस्थान में गहलोत ही ‘सबकुछ’: धारीवाल

Gehlot is 'everything' in Rajasthan: Dhariwalमंत्री ने इशारा किया कि सत्ता और संगठन के लिए जो अच्छा होगा, वह गहलोत ही करेंगेलक्ष्मणगढ़ आए...

Capt Amarinder Singh ने पहली बार इस मुद्दे पर खुलकर बात की है

मीडिया द्वारा लंबे समय तक पंजाब कांग्रेस को लेकर भ्रम फैलाया गया और कहा गया कि नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) और मुख्यमंत्री...

मोदी के भाई Prahlad Modi ने कारोबारियों के पक्ष में आवाज बुलंद की है.

PM मोदी के भाई प्रह्लाद मोदी (Prahlad Modi) ने गुजरात में अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे कारोबारियों के पक्ष में आवाज बुलंद...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here