- Advertisement -
Home Rajasthan News Sikar news प्रदेशाध्यक्ष पूनिया का दावा- बसपा विधायकों से गहलोत ने की मंत्री बनाने...

प्रदेशाध्यक्ष पूनिया का दावा- बसपा विधायकों से गहलोत ने की मंत्री बनाने की डील

- Advertisement -

सीकर.
भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ( BJP State President Satish Poonia ) ने कहा है कि अशोक गहलोत ( CM Ashok Gehlot ) ने तिकड़म से सरकार को बचा रखा है। सरकार को बचाने के लिए गहलोत ने पिछले दिनों बसपा के छह विधायकों को कांग्रेस में शामिल कर लिया, लेकिन अब उन्होंने आंखे दिखाने शुरू की तो प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी अविनाश पांडे को जयपुर आना पड़ा। पूनिया ने कहा कि गहलोत ने बसपा के विधायकों ( BSP MLAs ) से जयपुर के होटल में मंत्री बनाने बनाने समेत कई डील की है। इसके लिए निकाय चुनाव तक का समय मांगा गया है। गहलोत के तिकड़म का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने मुख्यमंत्री बनने के बाद दस माह में प्रदेश से ज्यादा दिल्ली की यात्राएं की है।
Read More :
VIDEO: निकाय चुनाव में वसुंधरा राजे की आवश्यकता नहीं- भाजपा प्रदेशाध्यक्ष
पूनिया सोमवार को यहां सांवली सर्किल के पास भाजपा के नए कार्यालय भवन के भूमि पूजन व शिलान्यास कार्यक्रम में भाग लेने आए थे। पूनिया ने यहां कार्यकर्ता सम्मेलन को भी संबोधित किया। उन्होंने कांग्रेस को घेरते हुए कहा कि प्रतिपक्षी विचार की नियत ठीक नहीं है। उनकी सुबह भाजपा और संघ को गाली निकालने से शुरू होती है। इसी तरह शाम बीतती है। कांग्रेस ने जाति की राजनीति शुरू की। जाति और पंथ के नाम पर मजहब को तोडऩे का कार्य किया। भाजपा सरोकारों की पार्टी है। उन्होंने कहा कि भाजपा में खूबिया है, लेकिन चुनौतियां भी कम नहीं है। इस दौरान पत्रकारों से बातचीत में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के चुनावी मैदान में सक्रियता के सवाल पर कहा कि राजे सरीखे बड़े कद के नेताओं की निकाय चुनाव में इतनी आवश्यकता नहीं है। यदि कहीं आवश्यकता होगी, तो वह वहां जरूर जाएगी। निकाय चुनाव की तैयारी पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार की विफलताओं को आमजन तक पहुंचाने के साथ भाजपा प्रदेश सरकार के खिलाफ चार्जशीट तैयार करेगी।
Read More :
सीकर निकाय चुनाव: टिकट से पहले अंदरूनी कलह निपटाने में जुटी कांग्रेस, उधर भाजपा ने उतारे नए चेहरे
वहीं, विकास को लेकर भाजपा स्थानीय स्तर पर अपना विजन डाक्यूमेंट भी तैयार कर रही है। आरएलपी से गठबंधन के सवाल पर उन्होंने कहा कि आलाकमान ने वक्त की नजाकत को समझते हुए यह फैसला लिया है। इस दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री सीआर चौधरी, सांसद सुमेधानंद सरस्वती, जिला अध्यक्ष विष्णु चेतानी, प्रेम सिंह बाजोर, हरिराम रणवा, रतनलाल जलधारी, बंशीधर बाजिया, काशीराम गोदारा, गोवर्धन वर्मा, केडी बाबर, राजकुमारी शर्मा सहित कई भाजपा नेता उपस्थित थे।[MORE_ADVERTISE1]

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

5 दिन बाद ही पुलिस के हत्थे चढ़ा बाइक चोर

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले के नीमकाथाना शहर में छावनी रोड स्थित प्रभा कॉलेज के पास से 5 दिन पहले चोरी हुई बाइक...
- Advertisement -

यहां घर से लापता हुई बालिका का चार दिन बाद कुएं में मिला शव

सीकर. राजस्थाना के सीकर जिला के नीमकाथाना कस्बे के पाटन इलाके के न्यौराणा गांव में मंगलवार शाम को लापता हुई नाबालिग बालिका का...

अनोखा निकाय… जहां वार्ड मेम्बर बनने के लिए सामने आए 25 फीसदी मजदूर!

सीकर. नगर पालिका चुनाव के लिए वार्डों में दावेदारों की स्थिति बिल्कुल साफ हो गई। 54 वार्डों के लिए 190 उम्मीदवार अपना भाग्य...

युद्ध में घायल सैनिक के आश्रित को नौकरी नहीं देने पर एक लाख का हर्जाना

सीकर. ऑपरेशन रक्षक में घायल सैनिक के आश्रित को नियुक्ति नहीं देने पर राजस्थान हाईकोर्ट ने राज्य सरकार पर 1 लाख रुपए का...

Related News

5 दिन बाद ही पुलिस के हत्थे चढ़ा बाइक चोर

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले के नीमकाथाना शहर में छावनी रोड स्थित प्रभा कॉलेज के पास से 5 दिन पहले चोरी हुई बाइक...

यहां घर से लापता हुई बालिका का चार दिन बाद कुएं में मिला शव

सीकर. राजस्थाना के सीकर जिला के नीमकाथाना कस्बे के पाटन इलाके के न्यौराणा गांव में मंगलवार शाम को लापता हुई नाबालिग बालिका का...

अनोखा निकाय… जहां वार्ड मेम्बर बनने के लिए सामने आए 25 फीसदी मजदूर!

सीकर. नगर पालिका चुनाव के लिए वार्डों में दावेदारों की स्थिति बिल्कुल साफ हो गई। 54 वार्डों के लिए 190 उम्मीदवार अपना भाग्य...

युद्ध में घायल सैनिक के आश्रित को नौकरी नहीं देने पर एक लाख का हर्जाना

सीकर. ऑपरेशन रक्षक में घायल सैनिक के आश्रित को नियुक्ति नहीं देने पर राजस्थान हाईकोर्ट ने राज्य सरकार पर 1 लाख रुपए का...

अब चूड़ी वाले हाथों घूम रहा किसान आंदोलन का स्टेयरिंग!

अब भूमिपुत्रियों ने थामा आंदोलन का स्टेयरिंग24 जनवरी को दिल्ली के लिए करेंगे कूचसीकर. केन्द्र सरकार के तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here