- Advertisement -
Home News बहन से राखी बंधाने के लिए प्रज्जवलित रही प्रज्ज्वल की सांसें, पांच...

बहन से राखी बंधाने के लिए प्रज्जवलित रही प्रज्ज्वल की सांसें, पांच दिन करता रहा मौत से संघर्ष, अंत में टूटी डोर

- Advertisement -

अविनाश बाकोलिया / जयपुर। Jaipur Accident News : त्रिमूर्ति सर्किल ( Trimurti Circle ) पर पांच दिन पहले सड़क दुर्घटना में घायल हुए प्रज्ज्वल की सांसें अपनी बहन से राखी बंधवाने के लिए ही चल रही थी। हादसे की सूचना पर पहले ही जयपुर पहुंच चुकी उसकी बहन प्रियांशी ने रक्षाबंधन ( Rakshabandhan ) के दिन अस्पताल में भर्ती भाई के राखी बांधी, इसके कुछ घंटे बाद ही प्रज्ज्वल इस दुनिया को अलविदा कह गया। इससे उसकी बहन और माता-पिता गहरे सदमें में हैं। जबकि इसी 11 अगस्त को हुए हादसे में प्रज्ज्वल के साथी वैभव सिंघल की उसी दिन मौत हो गई थी।
 
प्रज्ज्वल के चाचा बंटी डंगायच ने बताया कि प्रियांशी पुणे में एबीए कर रही हैं। उसे हादसे की जानकारी नहीं दी थी। राखी के बहाने ही 13 अगस्त को प्रियांशी को घर बुलाया था। गौरतलब है कि 11 अगस्त सुबह 3.44 बजे तेज रफ्तार कार ने बाइक सवार दो छात्रों को जोरदार टक्कर मारी। टक्कर इतनी तेज थी कि बाइक सवार कई फीट दूर जाकर गिरे। टक्कर में मोहन नगर निवासी वैभव सिंघल की इलाज के दौरान मौत हो गई थी, जबकि रविवार के हादसे में गंभीर रूप से घायल गोविंदपुरी ब्रह्मपुरी निवासी प्रज्ज्वल डंगायच ने गुरुवार रात 10.30 बजे दम तोड़ दिया। पुलिस ने पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया।
 
बहन को हिम्मत देने के लिए पूरे परिवार ने ही अस्पताल में मनाई राखीप्रज्ज्वल की मौत से परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। रक्षाबंधन पर बहन को हिम्मत देने के लिए पूरे परिवार ने ही अस्पताल में राखी बंधवाई। प्रियांशी और चचेरी बहन योवांशी ने आइसीयू में जाकर भाई को राखी बांधी। वहीं वैभव की बहन खुशबू पूरे दिन गमगीन रही। फोटो देख-देखकर भाई को याद कर रही थी। वैभव के दोस्तों ने खुशबू से राखी बंधवाई।
 
दोनों ही परीक्षा में पास हो गएप्रज्ज्वल और वैभव का सीए बनने का सपना था। इसलिए दोनों दोस्त जी-तोड़ मेहनत कर रहे थे। 14 अगस्त को सीए फाउंडेशन का परिणाम आया। नियति को कुछ और ही मंजूर था। दोनों ही दोस्त परीक्षा में पास हो गए। सीए बनने का सपना सपना ही रह गया।
 
कार चालक को गिरफ्तार कर भेजा जेलदुर्घटना के छह दिन बाद पुलिस ने आखिर कार चालक को पकड़ लिया। दुर्घटना थाना पूर्व थानाधिकारी संजीव चौहान ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी कार चालक कैलाश चंद सैनी (52) ढेहर का बालाजी का रहने वाला है। आरोपी बकरों का काम करता है। आरोपी को शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया।
 
चालक बोला मेरी कोई गलती नहीं, बाइक सवार खुद ही घुसे थे कार मेंजांच अधिकारी गजानंद ने बताया कि दुर्घटना के बाद कार चालक के घर गए, लेकिन वह नहीं मिला। मोबाइल पर भी संपर्क करने की कोशिश की गई, लेकिन कोई बात नहीं हुई। हादसे के बाद वह चौथ का बरवाड़ा के पास अपने फॉर्म हाउस पर चला गया था। राखी पर वह अपने घर आया था। शुक्रवार को पुलिस घर पहुंची और आरोपी को गिरफ्तार किया। हादसे वाले दिन वह अपने रिश्तेदार के साथ बकरों को ईदगाह भिजवाकर टोंक फाटक घर छोडऩे जा रहा था। पुलिस पूछताछ में आरोपी ने कहा कि उसकी कोई गलती नहीं है। बाइक सवार खुद ही कार में घुसे थे।

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

मलकेड़ा में सबसे कम मतों से जीती सरपंच, जानें कौन कहां कितने मतों से रहा विजयी

सीकर.लोकतंत्र के उत्सव में सोमवार को पिपराली पंचायत के मतदाता पूरी तरह रंगे हुए नजर आए। मतदाताओं ने अपने वोट की ताकत के...
- Advertisement -

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ कांग्रेस की नई रणनीति, जानें संविधान के किस अनुच्छेद से ढूंढा जा रहा है तोड़

देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रविवार को कृषि और किसानों से जुड़े बिलों को मंजूरी दे दी है. मगर, विपक्ष अब भी कृषि...

पंचायत चुनाव में कोरोना पॉजिटिव सांसद सुमेधानंद सरस्वती ने दिया वोट

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले की पिपराली पंचायत समिति की 26 ग्राम पंचायतों में पंच व सरपंच के लिए हुए मतदान में सांसद...

सचिन पायलट का भाजपा पर फिर हमला

पायलट बोले- जब सरकार अपने घटक दल अकाली दल को ही नहीं समझा पाए तो किसानों को कैसे समझा पाएंगे. राजस्थान में कांग्रेस विधायक सचिन...

Related News

मलकेड़ा में सबसे कम मतों से जीती सरपंच, जानें कौन कहां कितने मतों से रहा विजयी

सीकर.लोकतंत्र के उत्सव में सोमवार को पिपराली पंचायत के मतदाता पूरी तरह रंगे हुए नजर आए। मतदाताओं ने अपने वोट की ताकत के...

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ कांग्रेस की नई रणनीति, जानें संविधान के किस अनुच्छेद से ढूंढा जा रहा है तोड़

देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रविवार को कृषि और किसानों से जुड़े बिलों को मंजूरी दे दी है. मगर, विपक्ष अब भी कृषि...

पंचायत चुनाव में कोरोना पॉजिटिव सांसद सुमेधानंद सरस्वती ने दिया वोट

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले की पिपराली पंचायत समिति की 26 ग्राम पंचायतों में पंच व सरपंच के लिए हुए मतदान में सांसद...

सचिन पायलट का भाजपा पर फिर हमला

पायलट बोले- जब सरकार अपने घटक दल अकाली दल को ही नहीं समझा पाए तो किसानों को कैसे समझा पाएंगे. राजस्थान में कांग्रेस विधायक सचिन...

कविता: ओ सपनों में जीने वालों

कविता: ओ सपनों में जीने वालों ओ सपनो में जीने वालों,छुप-छुपकर न यूँ अश्क बहाओ।ख्वाब तुम्हारे भी है कुछ,ना उनको यूँ मिटाओ।सुख दुःख तो...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here