- Advertisement -
Home Rajasthan News Sikar news खाटू मेला: आंखों पर एतबार नहीं था, मेरा सांवरा मेरे सामने था....

खाटू मेला: आंखों पर एतबार नहीं था, मेरा सांवरा मेरे सामने था….

- Advertisement -

सीकर/खाटूश्यामजी. बाबा श्याम का सबसे बड़ा फाल्गुनी मेला महोत्सव बुधवार को शुरू हुआ। पहले दिन ही कोविड पर गोविंद की भक्ति भारी पड़ी। श्याम रस के सामने कोरोना वायरस फीका पड़ गया। कोरोना काल की पाबंदियों के बीच भी शीश के दानी के सामने हजारों शीश झुके। पिछले लक्खी मेलों के मुकाबले श्रद्धालुओं की संख्या इस बार जरूर कम रही। लेकिन, आस्था, उल्लास व श्याम रंग की उमंग में कोई कमी नहीं दिखी। बाबा श्याम की झलक की ललक लिए वाहन तो कोई पैदल व निशान लेकर मंदिर पहुंचा। जहां दंडवत आर्त पुकार तो किसी ने झोली फैलाकर कर अराध्य से अरदास की। सबसे खास बाबा श्याम की छटा बिखरेती अनूठी छवि रही। जो सफेद महल के रूप में सजे दरबार में हर किसी की आंखे ठगा रही थी। जिसने भी उस मनोहारी मूरत को देखा वो ठिठक कर अपलक रह गया। इन सबके बीच कोरोना गाइडलाइन की वजह से श्रद्धालुओं की श्याम दर्शन की आस आंसुओं में भी बहती नजर आई, तो प्रशासन की लापरवाही की ढील-पोल भी खुलकर सामने आई।—————————पिछले मेले के मुकाबले आधी रही भीड़मेले में श्रद्धालुओं के पहुंचने का सिलसिला दिनभर जारी रहा। लेकिन, पिछले लक्खी मेलों के मुकाबले पहले दिन श्रद्धालुओं की भीड़ करीब आधी रही। कोरोना की दूसरी लहर के खतरे व गाइडलाइन के फेर से बचने के लिए श्रद्धालुओं का मेले में पहुंचने का रुझान कम रहा। इसके अलावा मेले की भीड़ व नियमों से बचने के लिए लाखों श्रद्धालु मेले के पहले भी दर्शन कर भी लौट चुके हैं। जिसके कारण भी मेले की रंगत पहले से कुछ फीकी रही।——————–चार बजे तक बिना रजिस्ट्रेशन व कोविड जांच के दर्शनमेले में पहले दिन ही प्रशासन के दावों व लापरवाही की पोल खुल गई। ऑनलाइन पंजीयन व कोरोना निगेटिव रिपोर्ट के सत्यापन के बाद ही श्रद्धालुओं को मेले में प्रवेश के दावों के बीच शाम तक श्रद्धालुओं की जांच ही शुरू नहीं हो पाई। शाम चार बजे बाद प्रशासन व मंदिर कमेटी की टीम ने ये कवायद शुरू की।—————–तीन बाण व जयकारे की मुहर बना पासशाम को चेक प्वाइंट शुरू होने के बाद पंजीयन व कोरोना रिपोर्ट के सत्यापन के बाद श्रद्धालुओं के हाथ पर मुहर लगाकर ही उन्हें आगे बढ़ाया गया। बाबा श्याम के प्रतीक तीन बाण का लोगो व ‘हारे के सहारे की जय‘ का जयकारा अंकित मुहर ने श्रद्धालुओं के लिए पास का काम किया।—————–दर्शन के लिए गिड़गिड़ाए श्रद्धालु, नम हुई आंखेमेले में हजारों श्रद्धालु बिना पंजीयन व कोविड जांच रिपोर्ट के पहुंचे। जिनमें ज्यादातर रींगस से पैदल चलकर आए थे। लेकिन, चेक प्वाइंट पर उन्हें रोक दिया गया। ऐसे में वह मौजूद टीम से दीन भाव से श्याम बाबा का दर्शन कराने की गुहार करने लगे। इस बीच निराश होने पर कइयों के तो आंसु भी छलक पड़े।——————–पदयात्री श्याम प्रेम में भूले पांवों की पीड़ामेले में पहले दिन ज्यादातर श्रद्धालु पैदल व निशान लेकर ही पहुंचे। जयकारों की गूंज के बीच छोटे- बड़े, लंबे- चौड़े निशान लिए भक्तों के जत्थे दूर- दूर तक दिखाई दिए। जिनमें शामिल श्रद्धालु नाचते- गाते, ताली बजाते व झूमते हुए बाबा श्याम के दर की तरफ बढ़ रहे थे। खाटू के तोरण द्वार पहुंचने पर उनका उत्साह देखते ही बन रहा था। पैदल चलने से पांव में पड़े छालों व दर्द की पीड़ा को भूल वे सिर्फ बाबा श्याम के प्रेम में उमगते- बहते जा रहे थे।——————-सूना रहा कुंडकोरोना गाइडलाइन के अनुसार मेले में श्याम कुंड में स्नान पर भी पाबंदी रही। श्याम कुंड को बंद रखा गया। श्रद्धालुओं नहीं पहुंचने पर कुंड पहली बार मेले में सूना रहा।—————गुलाबी पोशाक में सजे खाटू नरेशफाल्गुनी मेले में बाबा श्याम ने पहले दिन गुलाबी पोशाक में दर्शन दिए। बाबा के श्रृंगार में 10 तरह के देशी- विदेशी फूलों का उपयोग हुआ। जिसमें सफेद, लाल, गुलाबी गुलाब, पीले, सफेद व नीले आर्किड, तलसी, कमल के अलावा विदेशी व आर्टिफिशियल फूल शामिल रहे। इस दौरान बाबा श्याम की मनमोहनी मूरत देखते ही बन रही थी।————–मास्क व डिस्टेंसिंग से दूरीमेले में मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग की पालना में भी प्रशासन लापरवाह रहा। हजारों लोग मेले में बिना मास्क व सोशल डिस्टेसिंग से दूरी बनाए दिखे। लेकिन, प्रशासन की टीम कहीं भी लोगों को रोकती- टोकती नजर नहीं आई।————-20 दिन में 24 घंटे की मेहनत से बना सफेद महलबाबा श्याम का दरबार सफेद महल के रूप में सजाया गया है। जिसे तैयार करने में 20 दिन का समय लगा है। कारीगर अमरीश पात्रा ने बताया कि इसके लिए कोलकाता के 65 कारीगरों ने दो पारी में 24 घंटे काम किया है। महल का सम्पूर्ण काम होने में अब भी दो दिन का समय और लगेगा।

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

पांचवे दिन फिर लौटा कोरोना, चार नए मरीज मिले

सीकर. राजस्थान के सीकर शहर में कोराना पांचवे दिन वापस लौट आया। जिले में शुक्रवार को कारोना के चार नए मरीज मिले। जिसके...
- Advertisement -

Rakesh Tikait की बेटी और बहू ने भी बुलंद की आवाज़

लंबे वक्त से दिल्ली की सीमा पर बैठे किसान कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं. भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत (Rakesh...

नाबालिग से नग्न होकर करता था गंदी हरकतें, परिजनों ने वीडियो बनाया, 48 वर्षीय आरोपी गिरफ्तार

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले के ग्रामीण इलाके में पुलिस ने नग्न होकर नाबालिग के सामने अश्लील हरकत करने के आरोपी को गिरफ्तार...

Shri Ganga Nagar में BJP नेता कैलाश मेघवाल के फाड़े कपड़े

राजस्थान के श्रीगंगानगर (Shri Ganga Nagar) में राज्य सरकार के खिलाफ हो रहे भाजपा के जिला स्तरीय प्रदर्शन में शामिल होने आए हनुमानगढ़ के...

Related News

पांचवे दिन फिर लौटा कोरोना, चार नए मरीज मिले

सीकर. राजस्थान के सीकर शहर में कोराना पांचवे दिन वापस लौट आया। जिले में शुक्रवार को कारोना के चार नए मरीज मिले। जिसके...

Rakesh Tikait की बेटी और बहू ने भी बुलंद की आवाज़

लंबे वक्त से दिल्ली की सीमा पर बैठे किसान कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं. भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत (Rakesh...

नाबालिग से नग्न होकर करता था गंदी हरकतें, परिजनों ने वीडियो बनाया, 48 वर्षीय आरोपी गिरफ्तार

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले के ग्रामीण इलाके में पुलिस ने नग्न होकर नाबालिग के सामने अश्लील हरकत करने के आरोपी को गिरफ्तार...

Shri Ganga Nagar में BJP नेता कैलाश मेघवाल के फाड़े कपड़े

राजस्थान के श्रीगंगानगर (Shri Ganga Nagar) में राज्य सरकार के खिलाफ हो रहे भाजपा के जिला स्तरीय प्रदर्शन में शामिल होने आए हनुमानगढ़ के...

एनएचएम में 155 पदों पर होगी भर्ती

सीकर. राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन में 155 पदों पर भर्ती होगी। राज्य सरकार राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन ( एनएचएम ) के तहत जिला स्तर तथा...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here