- Advertisement -
Home Rajasthan News Sikar news पात्रता का झमेला, निधि से दूरी!

पात्रता का झमेला, निधि से दूरी!

- Advertisement -

सीकर. जोर-शोर से शुरू होने वाली प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना शर्तों के चलते सवालों के घेरे हैं। जिले के करीब पौने पांच लाख किसानों में से करीब 78 फीसदी किसान ही योजना में स्थान नहीं बना पाए हैं।ऊंट के मुंह में जीरे के समान जमा होने वाली इस राशि से भले ही किसान की बड़ी जरूरतें पूरी नहीं हो पाए लेकिन निर्धारित रकम जमा होने खाद-बीज जैसी छोटी जरूरतें पूरी हो जाएगी। गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने 1 दिसंबर, 2018 से प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) की शुरुआत की थी।यह है कारणयोजना में पात्रता के दायरे में केवल एक ही किसान का नाम शामिल होगा। भले ही उस खसरे में छह किसान खेती करते हो। जिस किसान के पास बैंक खाता नहीं या आधार कार्ड में अंतर होने के कारण पात्रता नहीं होगी। एक मार्च 2019 में केन्द्र सरकार के आदेश के अनुसार जिला स्तर पर कमेटी होनी चाहिए। ये कमेटी दो सप्ताह में समस्या को दूर कर लेगी। हकीकत यह है कि इस कमेटी की जानकारी आम किसान तक नहीं होने के कारण परेशानी बढ़ जाएगी। कमेटी की जानकारी हर किसान तक नहीं होने के कारण वंचित किसान सम्मान के लिए आवेदन नहीं कर पाता है। सरकारी सेवा, राजनीति से जुड़े वर्तमान और पूर्व पदाधिकारी, सेवानिवृत्त कर्मचारी, दस हजार रुपए से ज्यादा पेंशन लेने वाले धारक, पेशेवर लोग योजना से बाहर होंगे। जिसका नतीजा है कि जिले में केवल 22 फीसदी परिवार ही योजना से लाभान्वित हो पाएंगे। कृषि भूमि के प्रति युवा वर्ग का रुझान कम होने और भूमिगत जलस्तर में आने वाली गिरावट के कारण जिले में भूमि का स्वामित्व प्रकार भी बदल गया है। इसके अलावा प्रापर्टी बाजार में तेजी नहीं आने और गांवों के लोगों का शहरो की ओर पलायन होने के कारण भी बड़ी भूमि जोत वाले किसानों की संख्या घटी है।फैक्ट फाइलप्रदेश में पंजीयन- 57 लाख किसानपहली किश्त- 48 लाख किसानदूसरी किश्त-46 लाख किसानतीसरी किश्त – 36 लाख किसानचौथी किश्त -18 लाख किसान
सीकर जिले में लाभार्थी-186529प्रथम किश्त -158624 किसानदूसरी किश्त-152266 किसानतीसरी किश्त-124535 किसानचौथी किश्त-67940 किसान

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

एक्ट्रेस हिमांशी खुराना भड़की कंगना रनौत पर

एक्ट्रेस कंगना रनौत का किसान आंदोलन का लेकर जो नजरिया रहा है, उस पर अलग ही बहस छिड़ गई है. उस सब के ऊपर...
- Advertisement -

आखिर क्यों बदनाम करना चाहते है किसान आंदोलन को भजपा के नेता

न जाने क्यों बीजेपी के नेता किसानों के आंदोलन के पीछे पड़ चुके हैं. अध्यादेश आने के बाद से ही किसान केंद्र सरकार तक...

राजस्थान में यहां एक दिन में 187 कोरोना मरीज हुए स्वस्थ, 30 नए पॉजिटिव

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में गुरुवार को 187 कोरोना मरीज स्वस्थ हुए। जबकि 30 नए कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए। जिसके बाद...

बैठक में किसानों ने ठुकराया सरकार का खाना, जानिए अब तक क्या हुआ

दिल्ली के विज्ञान भवन में सरकार और किसान नेताओं की बैठक जारी है. कृषि कानूनों पर सरकार और किसान नेताओं की चौथे दौर की...

Related News

एक्ट्रेस हिमांशी खुराना भड़की कंगना रनौत पर

एक्ट्रेस कंगना रनौत का किसान आंदोलन का लेकर जो नजरिया रहा है, उस पर अलग ही बहस छिड़ गई है. उस सब के ऊपर...

आखिर क्यों बदनाम करना चाहते है किसान आंदोलन को भजपा के नेता

न जाने क्यों बीजेपी के नेता किसानों के आंदोलन के पीछे पड़ चुके हैं. अध्यादेश आने के बाद से ही किसान केंद्र सरकार तक...

राजस्थान में यहां एक दिन में 187 कोरोना मरीज हुए स्वस्थ, 30 नए पॉजिटिव

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में गुरुवार को 187 कोरोना मरीज स्वस्थ हुए। जबकि 30 नए कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए। जिसके बाद...

बैठक में किसानों ने ठुकराया सरकार का खाना, जानिए अब तक क्या हुआ

दिल्ली के विज्ञान भवन में सरकार और किसान नेताओं की बैठक जारी है. कृषि कानूनों पर सरकार और किसान नेताओं की चौथे दौर की...

किसानों ने जिलेभर में किया प्रदर्शन, चुनाव बाद उग्र आंदोलन की तैयारी

सीकर. केन्द्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली में जारी किसानों के प्रदर्शन के समर्थन में सीकर में अखिल भारतीय किसान...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here