- Advertisement -
Home News 70 सालों में जो नहीं हुआ वह सब कुछ मोदी सत्ता में...

70 सालों में जो नहीं हुआ वह सब कुछ मोदी सत्ता में हो रहा है

- Advertisement -

70 साल इस शब्द को प्रधानमंत्री मोदी ने जनता के जेहन में बिठा दिया है यह शब्द सुनते ही जनता कांग्रेस के खिलाफ भड़क जाती है बात देश में रह रहे सभी लोगों की यह पूरी जनता की नहीं हो रही है बात हो रही है भाजपा समर्थकों की मोदी समर्थकों की आर एस एस समर्थकों की.

भाजपा की प्रचार एजेंसी मीडिया मोदी सत्ता के इशारे पर कांग्रेस शासन के 70 सालों को जनता के सामने ऐसे रखती है जैसे आजादी से पहले देश में गरीबी थी ही नहीं.देश का हर व्यक्ति करोड़पति था और आजादी मिलते ही कांग्रेस ने जनता को लूटना स्टार्ट कर दिया.

70 साल- इस शब्द की आड़ में प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा के तमाम नेता अपनी हर नाकामी छुपा ले जाते हैं. मौजूदा दौर में वह सब कुछ हो रहा है जो 70 सालों में कभी नहीं हुआ.

प्रधानमंत्री मोदी के पहले कार्यकाल में भी देश की जनता त्रस्त थी लेकिन प्रधानमंत्री मोदी के पहले कार्यकाल में जो सबसे आश्चर्यजनक चीजें देखने को मिली उसमें सीबीआई और ईडी के अधिकारी आपस में तांडव कर रहे थे एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे थे एक दूसरे की गिरफ्तारी और एक दूसरे के खिलाफ जांच की मांग कर रहे थे.

इसके अलावा पिछले 70 सालों में ऐसा कभी नहीं हुआ कि देश की अदालतों को न्याय के लिए जनता के समक्ष गुहार लगानी पड़े, लेकिन मोदी कार्यकाल में यह भी मुमकिन हुआ. प्रधानमंत्री मोदी के प्रथम कार्यकाल में देश की अदालतों के जज जनता के सामने आए और उन्होंने कहा कि अदालतों में और न्याय प्रक्रिया में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है. उस समय भी मोदी सत्ता की खूब आलोचना हुई लेकिन मुद्दे को दबा दिया गया.

सीबीआई के अधिकारी जब एक दूसरे के सामने थे उस समय भी देश की खूब बदनामी हुई, मोदी सरकार की खूब आलोचना हुई लेकिन मुद्दे को दबा दिया गया.

प्रधानमंत्री मोदी के प्रथम कार्यकाल में वह सब कुछ हुआ जो 70 सालों में पहले कभी नहीं हुआ जिन 70 सालों में देश की संवैधानिक संस्थाओं पर जनता का भरोसा लगातार बढ़ता रहा वह भरोसा पिछले 6 सालों में प्रधानमंत्री मोदी के कार्यकाल में डामाडोल हो चुका है.

प्रधानमंत्री मोदी के दूसरे कार्यकाल में देश की राजधानी दिल्ली के अंदर दिल्ली पुलिस और वकील आमने-सामने है, एक दूसरे को मार रहे हैं, एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं, एक दूसरे के खिलाफ धरना प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन मोदी सरकार इस हालत पर भी चुप्पी साध कर बैठी हुई है.

मोदी कार्यकाल में सीबीआई-ईडी जैसी संस्थाएं अपना विश्वास जनता के बीच खो चुकी है. न्याय प्रक्रिया भी सवालों के घेरे में है. जनता का विश्वास लगातार मोदी सरकार में संवैधानिक संस्थाओं पर से उठता जा रहा है.

संवैधानिक संस्थाएं एक दूसरे से टकरा रही है, संवैधानिक संस्थाओं में काम करने वाले अधिकारी एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं और अब पुलिस और वकील एक दूसरे के सामने हैं.

जम्मू कश्मीर, पाकिस्तान-आतंकवाद, मंदिर-मस्जिद, हिंदू-मुसलमान आखिर कब तक चलेगा ?धीरे-धीरे मोदी सरकार की नाकामियां जनता के सामने आ रही है और तथाकथित ढोल और डंका फटता हुआ नजर आ रहा है.

यह भी पढ़े : PM मोदी की नजरों में आने के लिए कुछ उनके समर्थक देश के अलग-अलग क्षेत्रों में काम करने वालों का अपमान कर रहे हैं

Thought of Nation राष्ट्र के विचार
The post 70 सालों में जो नहीं हुआ वह सब कुछ मोदी सत्ता में हो रहा है appeared first on Thought of Nation.

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

हादसे में कार सवार दो की मौत, तीन घायल

सीकर/नेछवा. राजस्थान के सीकर जिले के नेछवा कस्बे में सालासर रोड पर सूतोद बस स्टेंड के समीप एक कार मंगलवार को सामने चल...
- Advertisement -

असामाजिक तत्वों ने आंदोलन को तोड़ने की कोशिश की- संयुक्त किसान मोर्चा

दिल्ली में ट्रैक्टर रैली के दौरान आंदोलनकारी किसानों ने जबरदस्त उत्पात मचाया. वे लाल किले पहुंच गए और वहां पर केसरिया झंडा फहरा दिया....

दिल्ली के लाल किला तक पहुँचे आन्दोलनकारी किसान

कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ आन्दोलन कर रहे किसान राजधानी दिल्ली के अंदरूनी हिस्सों तक पहुँच चुके हैं. केंद्रीय दिल्ली के आईटीओ के पास पुलिस...

किसानों पर कहीं बरसे फूल तो कहीं चली लाठियां, तापसी पन्नू का आया रिएक्शन

गणतंत्र दिवस के मौके पर जहां राजपथ पर परेड निकल रही है और पूरा देश गणतंत्र दिवस का समारोह मना रहा है तो वहीं...

Related News

हादसे में कार सवार दो की मौत, तीन घायल

सीकर/नेछवा. राजस्थान के सीकर जिले के नेछवा कस्बे में सालासर रोड पर सूतोद बस स्टेंड के समीप एक कार मंगलवार को सामने चल...

असामाजिक तत्वों ने आंदोलन को तोड़ने की कोशिश की- संयुक्त किसान मोर्चा

दिल्ली में ट्रैक्टर रैली के दौरान आंदोलनकारी किसानों ने जबरदस्त उत्पात मचाया. वे लाल किले पहुंच गए और वहां पर केसरिया झंडा फहरा दिया....

दिल्ली के लाल किला तक पहुँचे आन्दोलनकारी किसान

कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ आन्दोलन कर रहे किसान राजधानी दिल्ली के अंदरूनी हिस्सों तक पहुँच चुके हैं. केंद्रीय दिल्ली के आईटीओ के पास पुलिस...

किसानों पर कहीं बरसे फूल तो कहीं चली लाठियां, तापसी पन्नू का आया रिएक्शन

गणतंत्र दिवस के मौके पर जहां राजपथ पर परेड निकल रही है और पूरा देश गणतंत्र दिवस का समारोह मना रहा है तो वहीं...

दिल्ली में ही किसानों की ‘ट्रैक्टर परेड’

देश आज 72वाँ गणतंत्र दिवस मना रहा है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री मोदी की मौजूदगी में राजपथ पर तिरंगा झंडा फहराया गया और...
- Advertisement -