- Advertisement -
HomeNewsऊभ छठ पर चंद्रदर्शन का इंतजार

ऊभ छठ पर चंद्रदर्शन का इंतजार

- Advertisement -

बाड़मेर. सुहाग की लम्बी आयु की कामना व अच्छा वर पाने के लिए महिलाओं व युवतियों ने बुधवार को दिन भर उपवास रखा। शाम को चंद्र दर्शन नहीं होने तक खड़े रहकर ऊभ छठ माता की आराधना की। इस दौरान कथा का श्रवण किया। देर रात को चांद को अघ्र्य देकर व्रत पूर्ण किया।
जिले भर में बुधवार को ऊभ छठ का पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। शाम होते ही सजी-धजी महिलाएं मंदिरों में दर्शन को पहुंची। इसके बाद देर रात तक चंद्र दर्शन के लिए खड़े रहकर इंतजार किया। चंद्रदर्शन के बाद पूजा अर्चना कर व्रत का पारणा किया।
मंदिरों में उमड़ी भीड़
शहर के चारभुजा मंदिर, वीर हनुमान मंदिर, सत्यनारायण मंदिर, मुकुंद मंदिर, राधाकृष्ण मंदिर सहित अन्य मंदिरों में शाम को सैकड़ोंं महिलाओं व युवतियों की कतारें लगी रही। यहां दर्शन के लिए शाम से ही तांता लगा रहा। इससे पहले ऊ भ छठ पर सजने के लिए ब्यूटी पार्लर में भी महिलाओं ने एडवांस में बुकिंग करवाई।
पुलिस नहीं आई नजर
शहर के प्रमुख मंदिरों व बाजारों में आधी रात तक महिलाओं युवतियों की चहल- पहल रही पर कहीं भी पुलिस नजर नहीं आई। कुछ जगह समाजकंटक व संदिग्ध युवक नजर आए पर उन्हें रोकने-टोकने वाला कोई नहीं था।
पत्रिका व्यू
पुलिस की हो तैनाती
थार का इलाका आम तौर पर शांत माना जाता है। बाड़मेर शहर में भी प्रदेश के अन्य कुछ हिस्सों की तुलना में अपराध दर कम है पर इसका मतलब ये तो नहीं की पुलिस ही सुस्त हो जाए। शहर में गणगौर, तीज और ऊभ छठ जैसे पारंपरिक त्यौहार पूरे उत्साह व उमंग से मनाए जाते हैं। इस दौरान बाजारों में आधी रात तक महिलाओं,युवतियों व बालिकाओं की चहल- पहल रहती है। एेसे में सुरक्षा की दुष्टि से मंदिरों के आस-पास व प्रमुख मार्गों पर पुलिस की तैनाती भी होनी चाहिए।

- Advertisement -
- Advertisement -
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -