- Advertisement -
Home News लबालब हुए बांध, चल रही चादर

लबालब हुए बांध, चल रही चादर

- Advertisement -

बहरावण्डा खुर्द. क्षेत्र में अच्छी बारिश से जैतपुर गांव के समीप स्थित मानसरोवर बांध लबालब हो गया है। मानसरोवर बांध के भर जाने से क्षेत्र के 15 गांवों को अब फसलों की सिंचाई के लिए चिन्तित नहीं होना पड़ेगा वहीं क्षेत्र के कुओं, जलकूपों का जलस्तर बना रहेगा। मानसरोवर बांध की भराव क्षमता 31 फीट है। बारिश के चलते मानसरोवर बांध 31.3 फीट भराव पर पहुंच गया और बांध की वेस्टवियर पर 3 इंच की चादर चल गई। सिंचाई विभाग के अनुसार बांध पर 3 इंच की चादर चल रही है। बांध के भरने से क्षेत्र में नवम्बर से 4 महीने नहरें चल सकेंगी। इसके बावजूद भी बांध में करीब 11 फीट पानी बच जाएगा। नागोलाव बांध पर चली चादरबौंली. बौंली का सबसे बड़ा नागोलाव बांध ओवरफ्लो हो गया। क्षेत्र में लगातार बारिश के चलते नागोलाव बांध पर चादर चल रही है। चादर चलने के बाद ही क्षेत्र के लोगों में खासा उत्साह देखने को मिल रहा है। तीन वर्ष बाद ओवरफ्लो होने के बाद नागोलाव बांध पर पर्यटकों की खासी भीड़ रही।डिडायच बनास रपट से गुजर रहा पानी, टापुर डेम पर चादरचौथ का बरवाड़ा. उपखंड मुख्यालय पर पिछले तीन दिनों से लगातार बारिश से तालाबों में चादर चलने के साथ ही नदी नाले उफान पर हैं। क्षेत्र के डिडायच बनास रपट पर शनिवार को भी एक फीट पानी चलने से वाहन चालकों को आवाजाही में परेशानी हुई, तथा कई रपट पर पानी देखकर वापस चले गए। दूसरी ओर टापुर डेम पर चादर चली होने से चादर को देखने के लिए बड़ी संख्या में लोगों का जमावड़ा लगा रहा। इसके साथ ही लोग यहां पिकनिक का लुप्त उठाते हुए नजर आए। इधर बारिश के कारण पांवाडेरा गांव में एक कच्चा मकान गिरने तथा मिट्टी के नीचे दबने से दो बकरियों की मौत हो गई। पीडि़त मोतीलाल गुर्जर ने बताया कि वह परिवार सहित सुबह खेत चला गया था। ऐसे में मकान गिरने की सूचना मिली। वहीं मकान गिरने तथा मलबे के नीचे दो बकरियों की दबने से मौत हो गई।चार फीट खाली है सूरवाल बांधसूरवाल. पिछले कुछ दिनों से लगातार हो रही बारिश से सूरवाल बांध में पानी की आवक बढ़ी है। बांध की कुल भराव क्षमता 15 फीट है। इसके मुकाबले बांध में 11 फीट 10 इंच पानी भर गया है। यदि लगातार बारिश होती रही तो एक दो दिन में सूरवाल बांध भी ओवरफ्लो होने की संभावना है।शिवाड़ के बड़े तालाब की पाल की मिट्टी के कटाव बढ़ाशिवाड़. कस्बे का बड़ा तालाब व छोटा तालाब पानी से लबालब भरने के साथ ही दोनों तालाबों पर चादर चल रही है। शनिवार को चादर चलने के मार्ग के पास कच्ची पाल की मिट्टी के कटाव बढऩे लगा है। ग्रामीणों को इस की जानकारी मिलते ही मौके पर भीड़ लग गई। सरपंच गीता शर्मा, ग्राम विकास अधिकारी शिवाड़ जितेन्द्र शर्मा भी मौके पर पहुंचे व पंचायत कर्मी को प्लास्टिक तिरपाल व कट्टे उपलब्ध कराने के साथ ही तालाब स्थिति पर चौकसी रखने के दिशा निर्देश दिए। इसके अलावा मौके पर पहुंचे युवाओं सहित लोगों ने देर रात तक श्रमदान किया। इसके अलावा छोटे तालाब में भी पानी के बीच से निकल रही पाइप लाइन के टूटने से ***** के द्वारा निकल रहे छोटे तालाब के पानी को यशपाल शर्मा, विकास गुर्जर सहित कई युवाओं ने पत्थर व मिट्टी के कट्टे डाल रिसाव को रोका।

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

क्या 2015 के फॉर्म्युले पर मिलकर लड़ेंगी RJD और कांग्रेस?

बिहार में विपक्षी महागठबंधन (आरजेडी, कांग्रेस, वाम दल और अन्य) में विधानसभा चुनाव में सीट बंटवारे के लिए अंतिम दौर की बैठक चल रही...
- Advertisement -

खाटूश्यामजी में आठ महीने बाद हुई बैठक में चार घंटे चला हंगामा

सीकर/ खाटूश्यामजी. नगरपालिका की आठ महीने बाद सोमवार को चार घंटे तक चली बैठक हंगामेदार रही। गत बैठक में लिए गए प्रस्तावों पर...

मलकेड़ा में सबसे कम मतों से जीती सरपंच, जानें कौन कहां कितने मतों से रहा विजयी

सीकर.लोकतंत्र के उत्सव में सोमवार को पिपराली पंचायत के मतदाता पूरी तरह रंगे हुए नजर आए। मतदाताओं ने अपने वोट की ताकत के...

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ कांग्रेस की नई रणनीति, जानें संविधान के किस अनुच्छेद से ढूंढा जा रहा है तोड़

देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रविवार को कृषि और किसानों से जुड़े बिलों को मंजूरी दे दी है. मगर, विपक्ष अब भी कृषि...

Related News

क्या 2015 के फॉर्म्युले पर मिलकर लड़ेंगी RJD और कांग्रेस?

बिहार में विपक्षी महागठबंधन (आरजेडी, कांग्रेस, वाम दल और अन्य) में विधानसभा चुनाव में सीट बंटवारे के लिए अंतिम दौर की बैठक चल रही...

खाटूश्यामजी में आठ महीने बाद हुई बैठक में चार घंटे चला हंगामा

सीकर/ खाटूश्यामजी. नगरपालिका की आठ महीने बाद सोमवार को चार घंटे तक चली बैठक हंगामेदार रही। गत बैठक में लिए गए प्रस्तावों पर...

मलकेड़ा में सबसे कम मतों से जीती सरपंच, जानें कौन कहां कितने मतों से रहा विजयी

सीकर.लोकतंत्र के उत्सव में सोमवार को पिपराली पंचायत के मतदाता पूरी तरह रंगे हुए नजर आए। मतदाताओं ने अपने वोट की ताकत के...

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ कांग्रेस की नई रणनीति, जानें संविधान के किस अनुच्छेद से ढूंढा जा रहा है तोड़

देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रविवार को कृषि और किसानों से जुड़े बिलों को मंजूरी दे दी है. मगर, विपक्ष अब भी कृषि...

पंचायत चुनाव में कोरोना पॉजिटिव सांसद सुमेधानंद सरस्वती ने दिया वोट

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले की पिपराली पंचायत समिति की 26 ग्राम पंचायतों में पंच व सरपंच के लिए हुए मतदान में सांसद...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here