- Advertisement -
HomeRajasthan NewsSikar newsशराबी ने छात्राओं का हाथ पकड़ की शर्मनाक हरकत

शराबी ने छात्राओं का हाथ पकड़ की शर्मनाक हरकत

- Advertisement -

सीकर. नवलगढ़ रोड पर शुक्रवार दोपहर को शराब के नशे में एक मनचले ने दो हॉस्टल की छात्राओं के साथ छेड़छाड कर दी। छात्राओं के चिल्लाने पर आए छात्रों ने युवक की जमकर धुनाई कर डाली। छात्रों के आपस में झगड़े की सूचना पर पुलिस का भारी जाप्ता मौके पर भेजा गया। वहां पर पहुंचने के बाद पुलिस को हकीकत का पता लगा। इसके बाद शराब के नशे में धुत युवक को उद्योगनगर थाने में ले आए। थाने में आने के बाद युवक ने जमकर तीन घंटे तक नोटंकी मचाई। पुलिस की टीम उसे एसके अस्पताल में मेडिकल कराने के लिए ले गई। इसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। एसआई कंचन ने बताया कि जीवण नगर में हॉस्टल के बाहर दो छात्राएं निकल कर जा रही थी। दोनों छात्राओं को रोक कर शराब के नशे में विजय निवासी नायकों का मोहल्ले ने हाथ पकड़ लिया। उनके साथ दुव्र्यवहार करने लगा। दोनों छात्राएं चिल्लाने लगी। उनकी आवाज सुनकर काफी छात्रा बाहर आ गए। छात्रों ने शराब के नशे में धुत युवक की लात-घूसों से पिटाई कर डाली। छात्रों के आपस में लडक़र हंगामा करने की सूचना पुलिस को मिली। इस पर पुलिस का भारी जाप्ता तुरंत मौके पर भेजा गया। पुलिस की टीम ने वहां पर पहुंच कर छात्रों को खदेड़ा। शराबी विजय के सिर व शरीर के अन्य हिस्सों से खून निकल रहा था। शराबी को पकड़ कर पुलिस उद्योगनगर थाने ले आई। पुलिस ने दोनों छात्राओं से घटना को लेकर पूछताछ की। छात्राओं ने राह चलते हुए छेड़छाड़ किए जाने की बात कहीं। पुलिस ने अस्पताल में उसका मेडिकल कराया और गिरफ्तार कर लिया। पुलिस की टीम मामले की जांच में जुटी है।
शराबी ने तीन घंटे थाने में किया ड्रामा
शराबी विजय को पकड़ कर थाने में पुलिस टीम ले आई। थाने में करीब तीन घंटे तक खूब ड्रामा चला। आरोपी विजय ने थाने में ही शर्ट उतार कर साइड में रख दी। शराब के नशे में वह पुलिसकर्मियों को भला-बुरा बोलता रहा। उसने कुर्सी पर बैठकर नोटंकी करते हुए अदालत शुरु कर दी है। बार-बार वह ऑर्डर-ऑर्डर बोलता रहा। इसके बाद वह छात्राओं व पुलिस की कोर्ट में शिकायत करने की बात बड़बड़ाता रहा। पुलिसकर्मी उससे काफी परेशान हो चुके थे। एसआई कंचन, एसआई राजेश कुमार, हैडकांस्टेबल देवाराम, श्रवणकुमार उसे काफी समझाते रहे। शराब के नशे में होने के कारण वह किसी की बात सुनने को तैयार नहीं था। वह थाने में ही शराब मंगाने की फरमाइश करने लगा। कभी गुटखा तो कभी शराब की डिमांड करने लगा। बाद में उसे गुटखा लाकर दिए तो वह शांत हुआ। बाद में उसके परिजनों को भी थाने में बुलाया गया। परिजनों ने बताया कि वह मानसिक रुप से परेशान है।

Advertisement
Advertisement

- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

- Advertisement -

Related News

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here