- Advertisement -
Home News JNU में छात्रों पर हुए हमले को लेकर तापसी पन्नू बोलीं- परिस्थिति...

JNU में छात्रों पर हुए हमले को लेकर तापसी पन्नू बोलीं- परिस्थिति डरावनी होती जा रही है

- Advertisement -

दिल्ली पुलिस का कहना है कि ये लड़ाई दो गुटों के बीच हुई है. हालांकि छात्रसंघ अध्यक्ष का कहना है कि ये हमला एबीवीपी के लोगों ने किया है. बता दें कि हमलावर लाठी डंडों के साथ आए और छात्रों को पीटा. इस हमले में प्रोफेसर सुचारिता सेन को भी चोट लगी है.

JNU परिसर में हिंसा होने के कुछ घंटों बाद, शिक्षकों ने विश्वविद्यालय की सुरक्षा-व्यवस्था पर सवाल उठाए और आरोप लगाया कि प्रशासन हमलावरों से मिला हुआ है. शिक्षकों ने यह भी कहा कि हिंसा ने छात्रों को हक्का-बक्का कर दिया है. डंडों से लैस नकाबपोश व्यक्तियों के विश्वविद्यालय में प्रवेश करने और छात्रों तथा शिक्षकों पर हमला करने के बाद परिसर के बाहर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. इस हमले में कई लोग जख्मी हुए हैं.

शिक्षकों ने विश्वविद्यालय के दरवाजे के अंदर से पत्रकारों से बातचीत की. जेएनयू में इतिहास विभाग में प्रोफेसर महालक्ष्मी ने कहा कि शिक्षकों ने शाम पांच बजे साबरमती टी प्वाइंट पर एक शांति बैठक आयोजित की थी. उन्होंने कहा, जैसे ही यह बैठक खत्म हुई, हमने देखा कि बड़ी संख्या में लोग परिसर में आ गए और उन्होंने शिक्षकों और छात्रों पर हमला करना शुरू कर दिया. महालक्ष्मी ने कहा, जाहिर तौर पर, उन्हें कुछ शिक्षकों और छात्रों पर हमला करने के लिए कहा गया था और इसलिए उन्होंने यह किया. वे नहीं रुके. वे डंडे लेकर यहां-वहां घूम रहे थे और लोगों को बेदर्दी से पीट रहे थे.

लेबर स्टडीज़ के प्रोफेसर प्रदीप शिंदे ने कहा, कैसे इतनी बड़ी संख्या में रॉड से लैस लोग परिसर में प्रवेश कर सकते हैं. इसलिए हम हैरान हैं. मेरे ख्याल से ये राजनीतिक कार्यकर्ता थे जिन्हें उन लोगों ने भड़काया था जो हमें राष्ट्र विरोधी कहते हैं.उन्होंने कहा कि छात्र फीस बढ़ोतरी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं.

मौजूदा हालात को देखते हुए बॉलीवुड से प्रतिक्रिया आने लगी है. अभिनेत्री तापसी पन्नू ने इस मामले पर ट्वीट करते दुख जताया है. उन्होंने ट्वीट की सीरीज में लिखा, ”हम जिस तरह की परिस्थिति में हम रह रहे हैं, जहां हमारी भविष्य गढ़ा जा रहा है. यह परिस्थिति हमेशा के लिए डरावनी होती जा रही है.यह ऐसा नुकसान है जिसे पूरा नहीं किया जा सकता.

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में हुई घटना के बाद बॉलीवुड से प्रतिक्रिया आने लगी है.अभिनेत्री तापसी पन्नू ने इस मामले पर ट्वीट करते दुख जताया है. उन्होंने ट्वीट की सीरीज में लिखा, हम जिस तरह की परिस्थिति में हम रह रहे हैं, जहां हमारी भविष्य गढ़ा जा रहा है. यह परिस्थिति हमेशा के लिए डरावनी होती जा रही है. यह ऐसा नुकसान है जिसे पूरा नहीं किया जा सकता.

such is the condition inside what we consider to be a place where our future is shaped. It’s getting scarred for ever. Irreversible damage. What kind of shaping up is happening here, it’s there for us to see…. saddening https://t.co/Qt2q7HRhLG— taapsee pannu (@taapsee) January 5, 2020अपने दूसरे ट्वीट में तापसी ने बड़े ही ज़हीन अंदाज़ में जेएनयू में मौजूदा हालात में तंज कसा है. उन्होंने लिखा, दिल और दिमाग की रेस में सिर्फ छह मिनट का अंतर है. दिल अगर पहले काम करना बंद करता है तो उसके रुकने के बाद दिमाग के पास भी सिर्फ छह मिनट रह जाते, खत्म तो वह भी होगा. हम शायद इस वक्त उस मध्यांतर में हैं.

Dil aur dimaag ki race mein sirf 6 minute ka difference hai. Dil agar pehle kaam karna bandh karta hai toh uske rukne ke baad dimag ke paas bhi sirf 6 hi minute hai, khatam toh woh bhi hoga. hum shayad is waqt us madhayantar mein hai.— taapsee pannu (@taapsee) January 5, 2020

बता दें दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में एक बार फिर से हिंसा हुई है. इस हमले में जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष के सिर पर गंभीर चोट आई है. इस हिंसा पर प्रतिक्रिया देते हुए सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि वो नाकाबपोश कौन थे, जो जेएनयू में घुसे और छात्रों पर हमला किया.आपको बता दें सीताराम येचुरी खुद जेएनयू के छात्र संघ अध्यक्ष रह चुके हैं. जेएनयू के छात्रों के समर्थन में जामिया, एएमयू और डीयू के छात्र भी उतर आए हैं.

हमले में बुरी तरह घायल हुईं जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष ने कहा, मुझे मास्क पहने गुंडों ने बेरहमी से मारा है. मेरा खून बह रहा है. मुझे बेरहमी से पीटा गया है.

जेएनयू में हिंसा को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट किया है. उन्होंने कहा कि जेएनयू में हिंसा की घटना से हैरान हूं. छात्रों पर बुरी तरह हमला किया गया है. पुलिस को फौरन हिंसा को रोकना चाहिए और शांति बहाल करना चाहिए. केजरीवाल ने ट्वीट करके सवाल उठाया कि अगर हमारे छात्र यूनिवर्सिटी कैंपस में सुरक्षित नहीं होंगे, तो देश कैसे विकास करेगा? जेएनयू में हिंसा को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उपराज्यपाल से भी बात की है. साथ ही उपराज्यपाल से अपील की कि वो पुलिस को शांति व्यवस्था बहाल करने का आदेश दें. केजरीवाल ने बताया कि उपराज्यपाल ने आश्वासन दिया है कि वो हालात पर करीब से नजर रख रहे हैं और जरूरी कदम उठा रहे हैं.

इसके अलावा आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने जेएनयू हिंसा को लेकर केंद्रीय गृहमंत्री पर सीधा हमला बोला है. उन्होंने कहा कि जबसे अमित शाह देश के गृहमंत्री बने हैं, तब से देश की राजधानी दिल्ली गुण्डागर्दी, हिंसा और अपराध का अड्डा बन गई है. कभी वकीलों पर हमला होता है, तो कभी छात्रों पर हमला किया जाता है. गृहमंत्री अमित शाह को अपने पद पर रहने का हक नहीं है. अमित शाह इस्तीफा दो.

सामाजिक कार्यकर्ता योगेंद्र यादव ने जेएनयू हिंसा को लेकर पुलिस पर निशा साधा है. उन्होंने कहा कि पुलिस की सुरक्षा में गुंडे कैंपस के अंदर घुसे हुए हैं. मैंने छात्रों और शिक्षकों से बातचीत की है. उन्होंने बताया कि जेएनयू के अंदर खौफ का माहौल है. देश की टॉप यूनिवर्सिटी में गुंडागुर्दी की जा रही है. पुलिस ने गेट बंद कर दिए हैं और किसी को आने नहीं दिया जा रहा है. पुलिस और गुडों ने मेरे साथ धक्का मुक्की की गई है. मुझको टीचर से भी बात नहीं करने दी गई. इस दौरान एक छात्र ने योगेंद्र यादव का विरोध किया और राजनीति करने का आरोप लगाया.

वहीं, पुलिस ने कहा कि आज दो छात्र गुटों में झड़प हुई है. यूनिवर्सिटी की इजाजत मिलने के बाद पुलिस कैंपस में दाखिल हुई है. फिलहाल हालात नियंत्रण में हैं. इस घटना को लेकर कानूनी कार्रवाई की जा रही है.

यह भी पढ़े : JNU पर हमला, हमले से पहले बंद कर दी गई थी स्ट्रीट लाइट

Thought of Nation राष्ट्र के विचार

The post JNU में छात्रों पर हुए हमले को लेकर तापसी पन्नू बोलीं- परिस्थिति डरावनी होती जा रही है appeared first on Thought of Nation.

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

शिवराज और उनकी पत्नी साधना सिंह दोनों हुए ट्रोल

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की पत्नी साधना सिंह पर कविता चोरी करने का आरोप लगा है. मुख्यमंत्री ने उसे साधना सिंह की...
- Advertisement -

किसानों और सरकार के बीच सुलह पर बड़ा संकट

कृषि कानून के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है. बीते दिन सरकार के साथ बातचीत फेल होने के बाद किसानों ने आक्रामक रुख अपना...

खतरनाक हुआ कोरोना, 12 घंटे में ही दम तोड़ रहे मरीज

(Corona became dangerous, patients dying in 12 hours) सीकर. कोरोना वायरस अब ज्यादा खतरनाक होता जा रहा है। संक्रमित करने के बाद यह...

शराबी सिपाही की कार खंभे से टकरा कर दुकान में घुसी, सटर व बरामदा टूटकर गिरा

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में शराब के नशे में सिपाही की कार खंभे से टकराकर एक दुकान में घुसने का मामला सामने...

Related News

शिवराज और उनकी पत्नी साधना सिंह दोनों हुए ट्रोल

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की पत्नी साधना सिंह पर कविता चोरी करने का आरोप लगा है. मुख्यमंत्री ने उसे साधना सिंह की...

किसानों और सरकार के बीच सुलह पर बड़ा संकट

कृषि कानून के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है. बीते दिन सरकार के साथ बातचीत फेल होने के बाद किसानों ने आक्रामक रुख अपना...

खतरनाक हुआ कोरोना, 12 घंटे में ही दम तोड़ रहे मरीज

(Corona became dangerous, patients dying in 12 hours) सीकर. कोरोना वायरस अब ज्यादा खतरनाक होता जा रहा है। संक्रमित करने के बाद यह...

शराबी सिपाही की कार खंभे से टकरा कर दुकान में घुसी, सटर व बरामदा टूटकर गिरा

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में शराब के नशे में सिपाही की कार खंभे से टकराकर एक दुकान में घुसने का मामला सामने...

11 दिसंबर बाद पूरा होगा 31 हजार सरकारी नौकरी का 12 लाख युवाओं का इंतजार

सीकर. प्रदेश के 12 लाख से अधिक युवाओं के शिक्षक बनने की आस थोड़ी दूर हो गई है। बीएसटीसी व बीएड डिग्रीधारी युवाओं...
- Advertisement -