- Advertisement -
HomeNewsलूट की वारदात का राजफाश: 24 लाख की लूट का सरगना चालक...

लूट की वारदात का राजफाश: 24 लाख की लूट का सरगना चालक ही निकला

- Advertisement -

भीलवाड़ा।
secret of robbery brust गुटखा व्यवसायी के मुनीम की आंखों में मिर्ची झोंककर 18 दिन पूर्व 24 लाख रुपए की लूट की वारदात का मास्टरमाइंड व्यवसायी का पिकअप चालक ही निकला। पुलिस टीम ने शुक्रवार को वारदात का राजफाश कर चालक समेत सभी पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। चार को बापर्दा रखा गया है। पुलिस ने आरोपियों की निशादेही पर लूट की राशि में से 18.60 लाख की नकदी बरामद की है।
 
secret of robbery brust पुलिस अधीक्षक हरेन्द्र महावर ने बताया कि पान मसाला व्यवसायी रमेश कृपलानी का मुनीम शंकरलाल भावनानी पांच अगस्त को पिकअप चालक किशनलाल बलाई के साथ गांवों से राशि का संग्रहण कर भीलवाड़ा लौट रहा था। शाम को राह में एक व्यक्ति ने लिफ्ट ली। हलेड़ चौराहा क्षेत्र में लिफ्ट लेकर बैठे व्यक्ति ने लघुशंका के बहाने पिकअप रुकवाई। इसी दौरान पीछे से तीन मोटरसाइकिलों पर आए कुछ लोगों व पिकअप में लिफ्ट लेकर बैठे व्यक्ति ने मुनीम शंकरलाल भावनानी की आंखों में मिर्च डालकर २४ लाख १४ हजार ८०० रुपए की लूट की वारदात को अंजाम दिया। शंकरलाल ने सदर थाने में लूट का मामला दर्ज करवाया।
 
वारदात के खुलासे के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दिलीप सैनी व पुलिस उपाधीक्षक राजेश आर्य की अगुवाई में टीम गठित की गई। सदर थानाप्रभारी कृष्ण कुमार व टीम ने पिकअप रवाना होने से लेकर जहां-जहां से निकली वहां के सीसी कैमरे खंगाले, कॉल डिटेल की जानकारी लेकर २५० से अधिक लोगों से पूछताछ की।
 
secret of robbery brust लुटेरों ने मुनीम के चेहरे पर ही मिर्ची फेंकी, चालक किशनलाल बलाई पर नहीं। इस पर चालक पर शिकंजा कसा गया। उसके मोबाइल की लोकेशन, कॉल डिटेल की जांच के साथ ही उससे कड़ाई से पूछताछ पर उसने अपने चार साथियों की मदद से वारदात को अंजाम देना कबूल किया। पुलिस ने घटनाक्रम की मॉकड्रिल भी की थी।
ये धरे गए
पिकअप चालक सांगानेर निवासी कृष्ण उर्फ किशनलाल (२५) पुत्र भैंरूलाल बलाई, कीरखेड़ा निवासी बबलू उर्फ देवीलाल (२५) पुत्र शंकर कीर, सांगानेर निवासी बबलू कीर (24) पुत्र बद्री कीर व कालू (27) पुत्र रामदयाल जाट तथा घनश्याम उर्फ गन्ना (22) पुत्र बंशीलाल माली को गिरफ्तार किया गया। आरोपित ने लूट में से बड़ी राशि मौज-मस्ती में खर्च करने की जानकारी दी।
चालक ने रचा लूट का षडयंत्र
किशन तीन साल से मुनीम के साथ जाते हुए रेकी कर रहा था। उसने साथियों के साथ पहले भी तीन बार लूट का प्रयास किया, लेकिन सफल नहीं हो सका। चारों साथियों के साथ नए सिरे से लूट की साजिश रचकर पांच अगस्त को वारदात को अंजाम दिया।
यूं दिया वारदात को अंजामबबलू ने घनश्याम को बाइक पर बैठाया और उसे सोपुरा ले जाकर छोड़ दिया। घनश्याम लिफ्ट लेकर पिकअप में सवार हो गया। शेष आरोपी ईरांस चौराहे पर पहुंचे। जैसे ही पिकअप आई, सभी बाइक पर उसके पीछे लग गए। हलेड़ चौराहा क्षेत्र में वारदात को अंजाम दिया। साजिश के अनुसार घनश्याम को मोबाइल नहीं दिया गया था। और पिकअप रुकने पर चालक की आंखों में मिर्ची फेंकी। चालक किशन वारदात के बाद नाटक करता रहा और पिकअप को आगे ले गया। यहां मौजूद उसके साथी नकदी भरा बैग ले भागे और कुछ दूरी पर कचरे के ढेर में छिपा दिया।

- Advertisement -
- Advertisement -
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -