- Advertisement -
Home News रवीश कुमार की लोगों को सलाह

रवीश कुमार की लोगों को सलाह

- Advertisement -

टीवी पत्रकार रवीश कुमार ने लोगों को सलाह दी है कि वे अपने अनुभवों को पोस्टर में छपवा कर घर की छतों पर लटका दें. संक्रमण की सुनामी के दौरान नरसंहार में अपने के मारे जाने की आपबीती रिश्तेदारों को लिखकर बताएं. साथ ही उस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का फोटो भी चिपका दें. रविश कुमार NDTV Prime Time में जनता के मुद्दे उठाते रहते है.
ये बातें वरिष्ठ पत्रकार ने फेसबुक पोस्ट के जरिए कहीं. उन्होंने लिखा, अपने अनुभव को पोस्टर में छपवा कर घर की छत से लटका दें. रिश्तेदारों को भेजें. आप सभी भयावह अनुभव से गुजरे हैं. अस्पताल के भीतर की लूट से लेकर अस्पताल पहुंचने के रास्ते में हुई लूट तक. आक्सीजन के बगैर किसी को अपनी बांहों में तड़प कर मर जाते देखा होगा. दवा के लिए गिड़गिड़ाते रहे होंगे. इन सब अनुभवों को आप लिखें और बोलें.
बकौल रवीश, मीडिया जगह नहीं देगा (इन कड़वे अनुभवों को) क्योंकि प्रधानमंत्री की चमक खराब हो जाएगी. इसलिए एक काम करें. तकलीफ के उस भयावह मंज़र का एक एक शब्द लिखें और उसे फ्लैक्स के बड़े से पोस्टर पर छपवा दें. उस पोस्टर को अपने घर की छत पर लटका दें. बालकनी से लटका दें. अगर मुमकिन है तो एक पर्ची छपवा लें. काले रंग की. पैम्फलेट. जो भी घर आए उसे थमा दें. ताकि आपके साथ जो हुआ वो ठीक ठीक शब्दों में आपके परिजन और आस-पास के लोगों तक पहुंचे.
रवीश कुमार ने आगे कहा, फेसबुक पर भी इस बाबत सारा डिटेल लिखें. लिफाफे में डाल कर अपने रिश्तेदारों को भेजें. बताइये कि कैसे आपके अपने इस नरसंहार में मारे गए. हमेशा नरसंहार शब्द का इस्तमाल करें. रिश्तेदारों को डिटेल में पता चलना चाहिए कि उनके दादा, नाना, चाचा, चाची, भैया, दीदी, मौसी, मौसा की हत्या कैसे हुई है. कैसे वे तड़पा तड़पा कर मारे गए हैं. उस पर्चे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का फोटो जरूर लगाएं जैसे वैक्सीन के सर्टिफिकेट पर लगा है.
दरअसल, रवीश कुमार का यह कड़ा कटाक्ष ऐसे वक्त पर आया है, जब देश में कोरोना की दूसरी लहर के बीच तंत्र पूरी तरह से फेल नजर आ रहा है. जगह-जगह बेड, वेंटिलेटर, ऑक्सीजन सिलेंडर और रेमडेसिविर के साथ कोरोना टीकों की कमी पड़ रही है. ऊपर से जान के सौदागर कालाबाजारी करने से भी बाज नहीं आ रहे हैं. वहीं, शहरों के साथ संक्रमण नए-नए रूप धरते हुए गांवों और पहाड़ी इलाकों की ओर भी रुख कर रहा है.
The post रवीश कुमार की लोगों को सलाह appeared first on THOUGHT OF NATION.

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

राजस्थान बोर्ड का रिजल्ट फॉर्मूला तैयार: यूं मिल सकते हैं अंक

सीकर. कोरोना की वजह से राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की परीक्षाएं रद्द होने के बाद अब शिक्षा विभाग की ओर से गठित समिति...
- Advertisement -

राजस्थान के 20 जिलों में आज बरसात का अलर्ट

सीकर. राजस्थान में प्री- मानसूनी गतिविधियां हल्की हो गई है। हवाओं के साथ बरसात की रफ्तार में कमी देखी जा रही है। जो...

खबर का असर: कच्ची बस्ती में लगा शिविर, कोरोना की जांच के साथ कुपोषित बच्चों का शुरू हुआ उपचार

सीकर. शहर की कच्ची बस्ती के जरुरतमंद लोगों के भोजन व अन्य सुविधाओं को लेकर राजस्थान पत्रिका में प्रकाशित खबर के बाद से...

सीकर में फिर बढ़े कोरोना के एक्टिव केस

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में मंगलवार को कोरोना के नए मरीजों की संख्या एक बार फिर स्वस्थ होने वाले मरीजों से ज्यादा...

Related News

राजस्थान बोर्ड का रिजल्ट फॉर्मूला तैयार: यूं मिल सकते हैं अंक

सीकर. कोरोना की वजह से राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की परीक्षाएं रद्द होने के बाद अब शिक्षा विभाग की ओर से गठित समिति...

राजस्थान के 20 जिलों में आज बरसात का अलर्ट

सीकर. राजस्थान में प्री- मानसूनी गतिविधियां हल्की हो गई है। हवाओं के साथ बरसात की रफ्तार में कमी देखी जा रही है। जो...

खबर का असर: कच्ची बस्ती में लगा शिविर, कोरोना की जांच के साथ कुपोषित बच्चों का शुरू हुआ उपचार

सीकर. शहर की कच्ची बस्ती के जरुरतमंद लोगों के भोजन व अन्य सुविधाओं को लेकर राजस्थान पत्रिका में प्रकाशित खबर के बाद से...

सीकर में फिर बढ़े कोरोना के एक्टिव केस

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में मंगलवार को कोरोना के नए मरीजों की संख्या एक बार फिर स्वस्थ होने वाले मरीजों से ज्यादा...

BIG NEWS: पुलिस थाने की बिजली गुल होते ही गायब हुआ हत्यारा

सीकर/पाटन. राजस्थान के सीकर जिले के पाटन पुलिस थाने से एक हत्या का आरोपी फरार हो गया। आरोपी सुभाष पुत्र नाथूराम गुर्जर को...
- Advertisement -