- Advertisement -
Home Rajasthan News नगरपालिका चुनाव-2019आयोग द्वारा तैयार की जा रही मतदाता सूची प्रारुप का प्रकाशन...

नगरपालिका चुनाव-2019आयोग द्वारा तैयार की जा रही मतदाता सूची प्रारुप का प्रकाशन शनिवार को

- Advertisement -

नगरपालिका चुनाव-2019आयोग द्वारा तैयार की जा रही मतदाता सूची प्रारुप का प्रकाशन शनिवार को14 से 23 सितंबर तक पात्र मतदाता जुड़वा सकेंगे अपना नामआयुक्त ने की अधिकाधिक पात्र मतदाताओं से नाम जुड़वाने की अपील

आजकलराजस्थान न्यूज़ / जयपुर, 13 सितंबर। राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त श्री पीएस मेहरा ने प्रदेश के आमजन से अपील करते हुए कहा है कि ऎसे मतदाता जिनकी उम्र 1 जनवरी, 2019 को 18 वर्ष हो गई है और उनका नाम मतदाता सूची में नहीं है, वे 14 से 23 सितंबर तक अपना नाम मतदाता सूची में दर्ज जरूर करवाएं। उन्होंने कहा कि इन दिनों में पूर्व में पंजीकृत मतदाता अपनी प्रविष्टियों में संशोधन भी करवा सकते हैं।श्री मेहरा ने बताया कि नाम जुड़वाने के लिए 15 सितंबर (रविवार), 21 सितंबर (शनिवार) और 22 सितंबर (रविवार) को विशेष अभियान की तिथियां भी रहेंगी। इनमें मतदाता मतदान केंद्र पर जाकर नाम जुड़वाने के लिए आवेदन कर सकते हैं। इन 3 दिनों में सभी बीएलओ या प्रगणक मतदान केंद्रों पर सुबह 10 बजे से सायं 6 बजे तक उपस्थित रहकर आवेदन लेंगे। अन्य दिनों में प्रगणक दोपहर 2 से 5 बजे तक मतदान केंद्रों पर उपस्थित रहेंगे। उन्होंने बताया कि इसके अलावा मतदाता निर्वाचन रजिस्ट्रीकरण अधिकारी या सहायक निर्वाचन रजिस्ट्रीकरण अधिकारी कार्यालय में भी आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं।    आयोग के सचिव श्रीमती शुचि त्यागी ने बताया कि जिन मतदाताओं का नाम मतदाता सूची में नहीं है वे अपना नाम मतदाता सूची में जुड़वाने के लिए फॉर्म नंबर-3, आक्षेप होने पर नाम हटवाने के लिए फॉर्म नंबर-5 और नाम, उम्र, वार्ड, लिंग या कोई अन्य संशोधन के लिए फॉर्म नंबर-6 के जरिए आवेदन कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि निर्वाचक नामावलियों का प्रारूप प्रकाशन 14 सितंबर (शनिवार) का होगा। वाडोर्ं और मतदान केन्द्रों पर नामावलियों का पठन 14 व 15 सितंबर को किया जाएगा। प्रारूप प्रकाशन के बाद 14 से 23 सितंबर तक कोई भी पात्र मतदाता अपना नाम जोड़ने, हटाने या संशोधन के लिए आवेदन कर सकता है। निर्वाचक नामावलियों का अंतिम प्रकाशन 18 अक्टूबर (शुक्रवार) को किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिनका नाम लोकसभा, विधानसभा चुनाव की मतदाता सूचियों में है, वे भी अपना नाम जांच लें क्योंकि राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा तैयार की गई मतदाता सूची अलग है। मतदाता सूची में नाम जोड़ना, हटाना और संशोधन अब ऑनलाइन भी सचिव श्रीमती त्यागी ने बताया कि मतदाताओं द्वारा अपना नाम जोड़ने, हटाने और संशोधन के लिए आयोग ने ऑनलाइन व्यवस्था भी दी गई है। कोई भी मतदाता आयोग की वेबसाइट www.sec.rajasthan.gov.in पर उपलब्ध विकल्प इंपोर्टेंट लिंक पर उपलब्ध विकल्प ‘ऑनलाइन क्लेम एंड ऑब्जेक्शन‘ का चयन कर आवेदन कर सकता है। इस प्लेटफॉर्म पर मतदाता अपना नाम, वार्ड, मतदान केंद्र भी खोज सकते हैं। 

Advertisement
Advertisement

- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

5 बेटियों और एक बेटे के पिता हैं असदुद्दीन ओवैसी, जानिए सब कुछ!

ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम के चुनाव के बीच एआईएमआईएम (AIMIM) चीफ असदुद्दीन ओवैसी और बीजेपी नेताओं के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है....
- Advertisement -

पत्रिका चेंजमेकर: धोद में स्थापित हो पंचायत समिति कार्यालय

सीकर/धोद. राजस्थान पत्रिका के चेंजमेकर अभियान ( Rajasthan Patrika change maker campaign) के तहत बुधवार को फतेहपुर (Fatehpur panchayat samiti) व धोद पंचायत...

अहमद पटेल को खोने के पार्टी के लिए क्या हैं मायने?

अहमद पटेल के दुनिया से रुखसत होने के भारतीय राजनीति, खास तौर पर कांग्रेस के लिए क्या मायने हैं? आखिर क्यों उन्हें पिछले कुछ...

दिल्ली दंगे को पुलिस ने बताया ‘आतंकी घटना’ चार्जशीट में बड़े आरोप

राजधानी दिल्ली में पिछली फरवरी में हुए दंगे को पुलिस ने ‘आतंकी घटना’ बताते हुए जेएनयू के छात्र उमर खालिद, विश्वविद्यालय के रिसर्च स्कॉलर...

Related News

5 बेटियों और एक बेटे के पिता हैं असदुद्दीन ओवैसी, जानिए सब कुछ!

ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम के चुनाव के बीच एआईएमआईएम (AIMIM) चीफ असदुद्दीन ओवैसी और बीजेपी नेताओं के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है....

पत्रिका चेंजमेकर: धोद में स्थापित हो पंचायत समिति कार्यालय

सीकर/धोद. राजस्थान पत्रिका के चेंजमेकर अभियान ( Rajasthan Patrika change maker campaign) के तहत बुधवार को फतेहपुर (Fatehpur panchayat samiti) व धोद पंचायत...

अहमद पटेल को खोने के पार्टी के लिए क्या हैं मायने?

अहमद पटेल के दुनिया से रुखसत होने के भारतीय राजनीति, खास तौर पर कांग्रेस के लिए क्या मायने हैं? आखिर क्यों उन्हें पिछले कुछ...

दिल्ली दंगे को पुलिस ने बताया ‘आतंकी घटना’ चार्जशीट में बड़े आरोप

राजधानी दिल्ली में पिछली फरवरी में हुए दंगे को पुलिस ने ‘आतंकी घटना’ बताते हुए जेएनयू के छात्र उमर खालिद, विश्वविद्यालय के रिसर्च स्कॉलर...

जेल से जीतूँगी चुनाव: ममता बनर्जी

ममता बनर्जी आरपार के मूड में हैं. बिल्कुल अमित शाह की पार्टी बीजेपी की तरह. तृणमूल प्रमुख ममता बनर्जी ने गुरुवार को चुनौती दी...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here