- Advertisement -
Home News अब पिंकसिटी में भी दिखने लगा हैशटैग लॉगआउट कैंपन का असर

अब पिंकसिटी में भी दिखने लगा हैशटैग लॉगआउट कैंपन का असर

- Advertisement -

जयपुर . फूड इंडस्ट्री में चल रहे इश्यू का असर अब पिंकसिटी में भी दिखाई देने लगा है। नेशनल रेस्टोरेंट्स ऑफ इंडिया, द फेडरेशन ऑफ होटल्स एंड रेस्टोरेंट्स ऑफ इंडिया और कैफेज एंड लाउंज वेलफेयर एसोसिएशन की ओर से जेमेटो , स्विगी, ऊबर इट्स जैसे फूड डिलिवरी एप्स के खिलाफ शुरू किए गए कैंपन अब दिल्ली और मुंबई के अलावा अन्य शहरों में भी अपना असर दिखाने लगा है। इस क्रम में अब पिंकसिटी भी शामिल हो गया है। दरअसल पिंकसिटी में फूड डिलिवरी एप्स की नाराजगी को लेकर नेशनल रेस्टोरेंट्स ऑफ इंडिया के राजस्थान मेंबर्स की ओर से बुधवार को सहकार मार्ग स्थित एक रेस्त्रां में मीटिंग की गई। मीटिंग में यह तय किया गया है कि दिल्ली और मुंबई जैसे शहरों की तर्ज पर अब पिंकसिटी के रेस्तरां मालिक भी अपनी फूड डिलिवरी एप्स से अपना नाता तोड़ेगे। रेस्टोरेंट्स और कैफेज के मालिकों ने कहा कि पिंकसिटी भी अब हैशटैग लॉगआउट कैंपन को सपोर्ट करते हुए आज से ही हमने फूड डिलिवरी एप्स से नाता तोड़ लिया है। उनका कहना है कि जब तक शहर के फूड डिलिवरी एप्स अपनी अनहैल्दी प्रेक्टिसेज को बंद नहीं करते हैं, तब तक हैशटेग लॉगआउट कैंपेन जयपुर में भी पूरी मजबूती के साथ चलता दिखाई देगा।
शहर के २६५ रेस्तरां शामिल मीटिंग के दौरान मिली जानकारी के अनुसार जयपुर से हैशटेग लॉगआउट कैंपन को सपोर्ट करने के लिए पहले ही दिन २६५ रेस्टोरेंट्स एंड कैफेज का सपोर्ट मिला है। धीरे- धीरे इसकी संख्या में इजाफा हो रहा है। आने वाले दिनों में जयपुर के लगभग सभी रेस्टोरेंट्स और होटल्स में इसका असर देखने को मिलेगा।
क्या है इश्यू दरअसल फूड डिलिवरी एप्स ने भी कई रेस्टोरेंट्स और कैफेज को अपने प्लेटफॉर्म से डिलिंक कर दिया है। इसका कारण रेस्टोरेंट्स ओनर्स से मिली जानकारी के अनुसार एसोसिएशन की ओर से सभी चर्चित फूड डिलिवर एप्स को मेल किया गया हैए जिसमें बिना रेस्टोरेंट कर्सन के डिस्काउंट अमाउंट तय करनाए कमीशन चार्जए लुक साइडए एग्रीमेंट वन साइड जैसे इश्यूज है।

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

जैण्डर संवेदनशीलता: वर्तमान परिपे्रक्ष्य: मुकेश निठारवाल

देश का गौरव बढ़ाने वाली हिन्दुस्तान की बेटियों पर हर भारतीयों को गर्व होना चाहिए, जैसे खेल, राजनीति,सामाजिक जागरूकता, प्रशासनिक आदि क्षेत्रों में...
- Advertisement -

बाइक से पेट्रोल निकालकर युवक को स्कूटी सहित जलाया, सीसीटीवी फुटेज में दिखे तीन युवक

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले के पिपराली ब्लॉक के पलासिया गांव में शुभकरण हत्याकांड में पुलिस को कई अहम सुराग मिले है। पुलिस...

पहले सियासी संग्राम और अब आचार संहिता ने लगाए नेताओं के ब्रेक

सीकर. पहले कोरोना और फिर प्रदेश में मचे सियासी घमसान ने प्रभारी मंत्रियों को प्रभार वाले जिलों से दूर कर दिया। जैसे-तैसे प्रदेश...

किसान बिल को लेकर फूटा सपना चौधरी का गुस्सा

संसद में पास हो चुके दो किसान बिलों के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन की हलचल पूरे देश में फैल रही है. कांग्रेस सहित कई विपक्षी पार्टियां...

Related News

जैण्डर संवेदनशीलता: वर्तमान परिपे्रक्ष्य: मुकेश निठारवाल

देश का गौरव बढ़ाने वाली हिन्दुस्तान की बेटियों पर हर भारतीयों को गर्व होना चाहिए, जैसे खेल, राजनीति,सामाजिक जागरूकता, प्रशासनिक आदि क्षेत्रों में...

बाइक से पेट्रोल निकालकर युवक को स्कूटी सहित जलाया, सीसीटीवी फुटेज में दिखे तीन युवक

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले के पिपराली ब्लॉक के पलासिया गांव में शुभकरण हत्याकांड में पुलिस को कई अहम सुराग मिले है। पुलिस...

पहले सियासी संग्राम और अब आचार संहिता ने लगाए नेताओं के ब्रेक

सीकर. पहले कोरोना और फिर प्रदेश में मचे सियासी घमसान ने प्रभारी मंत्रियों को प्रभार वाले जिलों से दूर कर दिया। जैसे-तैसे प्रदेश...

किसान बिल को लेकर फूटा सपना चौधरी का गुस्सा

संसद में पास हो चुके दो किसान बिलों के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन की हलचल पूरे देश में फैल रही है. कांग्रेस सहित कई विपक्षी पार्टियां...

पहले सियासी संग्राम और अब आचार संहिता ने लगाए नेताओं के ब्रेक

सीकर. पहले कोरोना और फिर प्रदेश में मचे सियासी घमसान ने प्रभारी मंत्रियों को प्रभार वाले जिलों से दूर कर दिया। जैसे-तैसे प्रदेश...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here