- Advertisement -
Home News लेबर रूम में सांप देखकर मचा हड़कम्प, बिस्तर छोड़ भागी प्रसूताएं

लेबर रूम में सांप देखकर मचा हड़कम्प, बिस्तर छोड़ भागी प्रसूताएं

- Advertisement -

-पीबीएम अस्पताल की घटना-पहले भी पकड़े जा चुके हैं सैकड़ों सांप और गोयरे
बीकानेर। सांप (snake) को देखकर हर कोई भाग खड़ा होता है। इस तरह का नजारा मंगलवार को संभाग के सबसे बड़े पीबीएम अस्पताल (PBM Hospital) में देखने को मिला। मंगलवार को जनाना अस्पताल (Zanana Hospital) के लेबर रूम (Labor room) में सांप निकल आया। इससे वहां भर्ती प्रसूताएं (Maternities) भयभीत हो गई। कई महिलाएं गंभीर होने के बावजूद बिस्तर छोड़कर चली गईं। बाद में सांप को पकडऩे की कोशिश की गई, लेकिन उसे पकड़ा नहीं जा सका। अस्पताल में पहले भी कई बार सांप निकल चुके हैं, लेकिन जिम्मेदा कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं।
अस्पताल के लेबर रूप में सांप दोपहर करीब सवा एक बजे निकला। इससे वहां मौजूद प्रसूताओं और स्टाफ में हड़कम्प मच गया। बाद में नर्सिंग स्टाफ ने समाजसेवी इकबाल को सूचना दी। इकबाल ने मौके पर पहुंच कर सांप को पकडऩे के प्रयास शुरू किए ही थे कि वह बिजली के एक्सटेंशन में जा दुबका। करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद भी सांप बाहर नहीं निकला। आखिरकार इकबाल को बिना सांप पकड़े ही बैरंग लौटना पड़ा।
इससे पहले भी पकड़े हैं सांप
इकबाल ने बताया कि इसस पहले भी पीबीएम अस्पताल से सैकड़ों सांप पकड़े जा चुके हैं। इसी स्थान से पहले तीन सांप पकड़े गए हैं। वहीं लेबर रूम के ऊपर स्थित प्रसूताओं के वार्ड से तीन सांप, ऑपरेशन थियेटर के ए ब्लॉक से तीन, जे वार्ड से छह सांप, दो गोयरे, एमआरआइ सेन्टर के नजदीक से दो सांप, के और ई वार्ड से करीब 15 सांप, डी और जेड वार्ड के शौचालय से पांच सांप पकड़े जा चुके हैं।
सफाई के अभाव में घटनाएं
पीबीएम अस्पताल में आए दिन सांप निकलने के बावजूद अस्पताल प्रशासन ने इन्हें रोकने के लिए पुख्ता इंतजाम नहीं किए हैं। अस्पताल परिसर में साफ-सफाई के अभाव में इस तरह की घटनाएं सामने आ रही हैं। मरीजों के परिजनों की ओर से जूठन नालियों में डालने से अस्पताल में चूहों की भरमार हो गई है। चूहों को खाने के लिए सांप भी आए दिन निकल रहे हैं। इकबाल ने बताया कि इस संबंध में अस्पताल प्रशासन को कई बार लिखित में शिकायत कर वार्डों में सफाई रखने की अपील की गई थी, लेकिन प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है।
 

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

क्या कृषि विधेयकों के विरोध से डर गई सरकार?

क्या सरकार कृषि विधेयकों पर किसानों के गुस्से से डर गई है? या उसे अपने ही मंत्रिमंडल के एक सहयोगी के इस्तीफ़े ने हिला...
- Advertisement -

राजस्थान में यहां 22 कोरोना पॉजिटिव, एक मौत की पुष्टि

(22 corona positive found in sikar) सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में सोमवार को कोरेाना (corona virus) से फिर एक मौत की पुष्टि...

डॉ. कफील बोले- अभी राजनीति में उतरने का समय नहीं

डॉक्टर कफील खान की मथुरा जेल से रिहाई के 20 दिनों बाद सोमवार को दिल्ली में उनकी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी से मुलाकात हुई. डॉक्टर...

बैग में रखे 3.50 लाख रुपये में से पांच मिनट में कम हो गए 2 लाख रुपये

सीकर/ खाचरियावास. राजस्थान के सीकर जिले के दांतारामगढ़ कस्बे के कुली गांव में सोमवार को एक बैग में भरकर रखे गए 3 लाख...

Related News

क्या कृषि विधेयकों के विरोध से डर गई सरकार?

क्या सरकार कृषि विधेयकों पर किसानों के गुस्से से डर गई है? या उसे अपने ही मंत्रिमंडल के एक सहयोगी के इस्तीफ़े ने हिला...

राजस्थान में यहां 22 कोरोना पॉजिटिव, एक मौत की पुष्टि

(22 corona positive found in sikar) सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में सोमवार को कोरेाना (corona virus) से फिर एक मौत की पुष्टि...

डॉ. कफील बोले- अभी राजनीति में उतरने का समय नहीं

डॉक्टर कफील खान की मथुरा जेल से रिहाई के 20 दिनों बाद सोमवार को दिल्ली में उनकी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी से मुलाकात हुई. डॉक्टर...

बैग में रखे 3.50 लाख रुपये में से पांच मिनट में कम हो गए 2 लाख रुपये

सीकर/ खाचरियावास. राजस्थान के सीकर जिले के दांतारामगढ़ कस्बे के कुली गांव में सोमवार को एक बैग में भरकर रखे गए 3 लाख...

क्या है जनता के इस गुस्से के मायने?

हाल के दिनों में नीतीश सरकार के कई मंत्रियों और विधायकों ने मारपीट का आरोप लगाया है. एनडीएए (NDA) के ये विधायक और मंत्री...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here