- Advertisement -
Home News Motivation: मजबूत इरादे से जीत सकते हैं कोई भी जंग

Motivation: मजबूत इरादे से जीत सकते हैं कोई भी जंग

- Advertisement -

अजमेर परमवीर चक्र (param veer chakra) विजेता योगेंद्र सिंह यादव (yogendra singh yadav) ने कहा कि मजबूत इरादे और हौसला हो तो व्यक्ति जिंदगी की कोई भी जंग जीत सकता है। इसका एहसास मुझे करगिल युद्ध (kargil war ) के दौरान हुआ। थकान और दुश्मन की गोलियों का मुकाबल करते हुए भी हम डटे रहे और विजय हासिल की। यादव ने यह बात मेयो कॉलेज (mayo college ajmer) में आयोजित कार्यक्रम में कही।
read more: RPSC: काउंसलिंग पत्र वेबसाइट पर अपलोड
योगेंद्र ने कहा कि 18 हजार फीट ऊंची टाइगर हिल (tiger hill) पर चढऩा आसान नहीं है। सौ फीट से ज्यादा खड़ी चढ़ाई करते ही थकान होती है। लेकिन 1999 में करगिल युद्ध (war of kargil) के दौरान हमें पीछे आती टुकडिय़ें के लिए रस्सियों को बांधना था। लक्ष्य तक पहुंचने से पहले ही पाकिस्तानी (pakistan) सैनिकानें ने गोलाबारी शुरू कर दी। मेरे सहित कई साथियों को गोली लगी। फिर भी हमने हौसला नहीं खोया।
read more: Convocation: दीक्षांत समारोह में मिलेगी इंजीनियर्स को डिग्री
15 गोलियां, टूटा हाथ…छात्रों को जज्बे और हौसले की सीख देते हुए यादव ने कहा कि करगिल में दूसरे बंकर (bunkers) के समीप दुश्मन सैनिकों पर गोलियां बरसा (gun firing) रहे थे। मैंने ग्रेनेड (granade) फेंककर पाक सैनिकों को मौत की नींद सुलाया। हाथ टूटने और शरीर में 15 गोलियां लगने के बावजूद मैंने दुश्मन को ललकारा। टूटे हाथ को बेल्ट (belt) से बांधकर अंतिम बंकर पर फतह पाई। जीवन में मजबूत इरादा और दृढ़ इच्छा शक्ति ही हमें आगे बढ़ाती है।
read more: Rain in ajmer: सावन ने किया तरबतर, अब भादौ से उम्मीद
मातृभूमि की रक्षा सर्वोपरीयादव ने छात्रों को बताया कि प्रत्येक भारतीय को मातृभूमि (mother land) की रक्षा के लिए तत्पर रहना चाहिए। खासतौर पर छात्रों (students) और युवाओं (youth) के लिए सैन्य सेवा बेहतरीन अवसर है। मालूम हो कि यादव सेना के 18 ग्रेनेडियर्स (18 granadiers) में कार्यरत थे। उनके पिता करण सिंह यादव भी कुमाऊं रेजीमेंट (kumaun regiment) में सेवाएं दे चुके हैं। योगेंद्र ने 4 जुलाई 1999 को करगिल युद्ध के दौरान अदम्य साहस दिखाया था। इनकी शूरवीरता पर सरकार ने परमवीर चक्र से नवाजा था।

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

पंचायत चुनाव: नाराज ग्रामीणों ने किया चुनाव का बहिष्कार

सीकर/ टोडा. राजस्थान के सीकर जिले में पाटन की नजदीकी ग्राम पंचायत लादीकाबास के ग्र्रामीणों ने बैठक का आयोजन कर पंचायत चुनावों के...
- Advertisement -

क्या सच में बिहार में सत्ता परिवर्तन होने जा रहा है?

बिहार की सत्ताधारी पार्टी आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए बहुत पहले से ही चुनावी तैयारियों में लग चुकी थी और लगी हुई है. बिहार...

पंचायत चुनाव में मास्क के साथ प्रवेश, सोशल डिस्टेंसिंग से शुरू हुआ मतदान

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले की पिपराली पंचायत समिति की 26 ग्राम पंचायतों में पंच- सरपंच के लिए मतदान सुबह साढ़े सात बजे...

पिपराली की 26 पंचायतों में मतदान आज, शाम तक तय होगा सरताज

सीकर. आखिर मतदान की घड़ी आ ही गई है। पिपराली पंचायत समिति क्षेत्र की 26 ग्राम पंचायतों में सरपंच व पंच के लिए...

Related News

पंचायत चुनाव: नाराज ग्रामीणों ने किया चुनाव का बहिष्कार

सीकर/ टोडा. राजस्थान के सीकर जिले में पाटन की नजदीकी ग्राम पंचायत लादीकाबास के ग्र्रामीणों ने बैठक का आयोजन कर पंचायत चुनावों के...

क्या सच में बिहार में सत्ता परिवर्तन होने जा रहा है?

बिहार की सत्ताधारी पार्टी आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए बहुत पहले से ही चुनावी तैयारियों में लग चुकी थी और लगी हुई है. बिहार...

पंचायत चुनाव में मास्क के साथ प्रवेश, सोशल डिस्टेंसिंग से शुरू हुआ मतदान

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले की पिपराली पंचायत समिति की 26 ग्राम पंचायतों में पंच- सरपंच के लिए मतदान सुबह साढ़े सात बजे...

पिपराली की 26 पंचायतों में मतदान आज, शाम तक तय होगा सरताज

सीकर. आखिर मतदान की घड़ी आ ही गई है। पिपराली पंचायत समिति क्षेत्र की 26 ग्राम पंचायतों में सरपंच व पंच के लिए...

कोरोना ने फिर पार किया शतक, एक परिवार में 17 पॉजिटिव

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में रविवार को फिर कोरोना का कहर सामने आए। जिले में दिनभर में 105 नए कोरोना पॉजिटिव केस...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here