- Advertisement -
Home Rajasthan News Sikar news जानिए ...देश के सबसे बड़े प्रांत के 25 लाख भूमिपुत्र को क्या...

जानिए …देश के सबसे बड़े प्रांत के 25 लाख भूमिपुत्र को क्या लग रहा है डर…अकस्मात मौत को लेकर क्यों हैं ये चिंतित

- Advertisement -

सीकर. सहकारिता को बढ़ावा देने वाला सहकारिता विभाग किसानों की अनदेखी कर रहा है। इसकी बानगी है कि बीमा कंपनी और सहकारी विभाग के बीच एमओयू नहीं हुआ और सहकारी बैंक के ऋणी किसान बीमा सुविधा से वंचित हो गए। जिसका नतीजा है कि किसान अपने व्यक्तिगत सहकारी बैंक की ढील के कारण प्रदेश के 25 लाख से ज्यादा ऋणी किसान बीमा सुविधा से वंचित हैं। प्रदेश के किसानों को सहकारी बैंकों ने ऋण तो बांट दिए लेकिन इन किसानों को बीमा नहीं किया है। ऐसे में किसान बीमा करवाने के लिए व्यवस्थापकों के चक्कर लगा रहे हैं लेकिन बीमा कब शुरू होगा इसके लिए कोई दिशा निर्देश तक नहीं हैं। किसानों का कहना है कि बैंक की ओर से किसानों का बीमा नहीं करवाया जा रहा है, जबकि किसान बार-बार उनको बीमा करने के लिए कहते हैं। साथ ही यदि किसी किसान की मृत्यु हो गई तो उसके परिवार को इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा तो किसान के परिजन उनको दोषी ठहराएंगे। यह है बीमा योजनासहकारी बैंक में बीमा 18 से 79 वर्ष तक आयु वर्ग के ऋणी किसान सदस्य का किया जाता है, जिसके लिए निर्धारित प्रीमियम राशि जमा करवानी होती है। इससे संबंधित किसान का एक वर्ष के लिए जितना उसका ऋण है उस ऋण राशि का बीमा हो जाता है। किसान की दुर्घटना में अथवा सामान्य मृत्यु होने पर बीमा कंपनी की ओर से ऋण राशि का भुगतान किया जाता है। इसी प्रकार दुर्घटना बीमा 18 से 70 वर्ष तक के किसान का दस लाख रुपए का होता है। किसानों के होने वाले बीमा के लिए सरकार के स्तर पर बीमा कंपनियों से एमओयू होता है, जो अभी तक नहीं हुआ है। यह सरकार के स्तर का मामला है। 67 हजार 380 किसानों का 380.37 करोड़ का ऋण माफ राजस्थान कृषक ऋण माफी योजना 2019 के तहत सीकर जिले में 67 हजार 380 किसानों को 380.37 करोड़ रुपए की ऋण माफी दी गई है। सीकर केन्द्रीय सहकारी बैंक के प्रबंध निदेशक बीएल मीना ने बताया कि 30 नवम्बर 2018 को बकाया अल्पकालीन कृषि ऋण के माफ करने की घोषणा की गई। ऋण माफी योजना में अपात्र ऋणी कृषकों की एक सूची जारी की गई। जिसमें सरकारी कर्मचारी, आयकरदाता, नियमित पेंशन भोगी, विभिन्न निगम, बोर्डस के अध्यक्ष, विधायक, सांसद आदि को योजना के लाभ के दायरे से बाहर रखा गया है। उन्होंने बताया कि राजस्थान कृषक ऋण माफी योजना 2019 में अब तक सीकर जिले में 77 हजार 192 किसानों के आवेदन प्राप्त हुए हैं। वंचित रहे किसानों के दस्तावेजों का सत्यापन करवाया जा रहा है।

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

महाराष्ट्र के विधान परिषद चुनाव में BJP को झटका

महाराष्ट्र विधान परिषद चुनाव में बीजेपी को बड़ा झटका लगा है. 6 सीटों पर हुए चुनाव में बीजेपी को सिर्फ एक सीट पर जीत...
- Advertisement -

BPCL की अपनी पूरी हिस्सेदारी बेच रही है मोदी सरकार

केंद्र सरकार भारत की दूसरी सबसे बड़ी तेल रिफाइनरी और पेट्रोलियम कंपनी BPCL में अपनी पूरी 52.98 फीसदी हिस्सेदारी बेच रही है. सरकार को...

मर्यादा भूले BJP नेता, दिलीप घोष ने ममता बनर्जी को दी गाली

पश्चिम बंगाल में चुनावी साल आने से पहले ही राजनीतिक दलों में चुनावी जंग तेज हो गई है. बंगाल भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष...

अस्पताल में बच्चे सहित प्रसूता की मौत, परिजनों ने लगाए गंभीर आरोप

सीकर. सुरक्षित मातृत्व को लेकर चिकित्सा विभाग की ओर से किए जा रहे दावों की हकीकत कुछ अलग नजर आ रही है। राजस्थान...

Related News

महाराष्ट्र के विधान परिषद चुनाव में BJP को झटका

महाराष्ट्र विधान परिषद चुनाव में बीजेपी को बड़ा झटका लगा है. 6 सीटों पर हुए चुनाव में बीजेपी को सिर्फ एक सीट पर जीत...

BPCL की अपनी पूरी हिस्सेदारी बेच रही है मोदी सरकार

केंद्र सरकार भारत की दूसरी सबसे बड़ी तेल रिफाइनरी और पेट्रोलियम कंपनी BPCL में अपनी पूरी 52.98 फीसदी हिस्सेदारी बेच रही है. सरकार को...

मर्यादा भूले BJP नेता, दिलीप घोष ने ममता बनर्जी को दी गाली

पश्चिम बंगाल में चुनावी साल आने से पहले ही राजनीतिक दलों में चुनावी जंग तेज हो गई है. बंगाल भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष...

अस्पताल में बच्चे सहित प्रसूता की मौत, परिजनों ने लगाए गंभीर आरोप

सीकर. सुरक्षित मातृत्व को लेकर चिकित्सा विभाग की ओर से किए जा रहे दावों की हकीकत कुछ अलग नजर आ रही है। राजस्थान...

कृषि कानूनों के विरोध में किसान प्रदर्शन पर विज्ञान भवन में सरकारी प्रजेंटेशन का नया तमाशा

सरकार ने नए कृषि कानूनों के विरोध में किसानों के प्रदर्शन को देशव्यापी समर्थन मिलने के बाद एक प्रेजेंटेशन (प्रस्तुतिकरण) दिया है, लेकिन इस...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here