- Advertisement -
Home News अर्णब के मामले में पत्रकार अजीत अंजुम ने कई सवाल उठाए हैं

अर्णब के मामले में पत्रकार अजीत अंजुम ने कई सवाल उठाए हैं

- Advertisement -

अर्णब गोस्वामी की व्हाट्सएप चैट जब से सार्वजनिक हुई है, कई तरह के सवाल उठ रहे हैं, सरकार पर भी और मीडिया जगत पर भी. अर्णब गोस्वामी के मामले में गोदी मीडिया खामोशी अख्तियार किए हुए है. वहीं सरकार के तमाम मंत्री और नेता चुप्पी साधे हुए हैं.
जाने-माने पत्रकार अजीत अंजुम ने भी अर्णब गोस्वामी के मामले पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है कि सारे राष्ट्रवादी, मोदीवादी, सरकारवादी, और बीजेपीवादी लेखक, पत्रकार, एंकर अपनी बिरादरी के चाटूकार द ग्रेट के नंगे होने पर तौलिया से अपना मुंह ढककर बैठ गए हैं.

सारे राष्ट्रवादी , मोदीवादी , सरकारवादी , और बीजेपीवादी लेखक , पत्रकार, एंकर अपनी बिरादरी के चाटूकार द ग्रेट के नंगे होने पर तौलिया से अपना मुंह ढककर बैठ गए हैं .
— Ajit Anjum (@ajitanjum) January 16, 2021

इसके अलावा एक अन्य ट्वीट में अजीत अंजुम ने अर्णब गोस्वामी को लेकर लिखा है कि ये आदमी इस हद तक गिरा हुआ होकर भी इतना उछलता कैसे है? ये आदमी इतना नंगा होने के बाद भी ‘राष्ट्रवादी’ कैसे है? ये आदमी पत्रकारिता को बेचकर भी मुंह दिखाने का इतना हौसला कहाँ से लाता है? इतना एक्सपोज़ होने के बाद भी चुल्लू भर पानी इसे क्यों नहीं मिलता? पूछता है भारत.
आपको बता दें कि अर्णब गोस्वामी की व्हाट्सएप चैट सार्वजनिक होने के बाद सोशल मीडिया से लेकर तमाम लोगों के बीच हड़कंप मचा हुआ है. सभी यही पूछ रहे हैं कि आखिर अर्णब गोस्वामी को किसकी शह पर बचाया जा रहा था, या बचाया जा रहा है. तमाम खुफिया जानकारी अर्णब गोस्वामी तक कैसे पहुंच रही थी कौन लीक कर रहा था?
पुलवामा हमले को लेकर भी अब फिर से सवाल उठने लगे हैं. पहले भी पुलवामा हमले को लेकर कई तरह के सवाल हुए थे, लेकिन एक बार फिर से सेना, सेना के जवानों की शहादत और राष्ट्रवाद का चोला ओढ़ कर अपने निजी फायदे के लिए मेन मुद्दों से ध्यान हटाने के लिए, गैर जरूरी मुद्दों के दम पर सरकार का बचाव करने वाले लोगों पर सवाल उठने लगे हैं.
तमाम लोग पहले से ही मौजूदा मीडिया को गोदी मीडिया और सरकार की चाटुकारिता करने वाली मीडिया के रूप में पहचानने लग गए थे. लेकिन एक बार फिर से इस मुद्दे को हवा मिल चुकी है. सभी का यही कहना है कि तमाम बड़े पत्रकार और मीडिया चैनल सरकार की सांठगांठ से और सरकार के इशारे पर ही चल रहे हैं. तमाम जानकारियां इन्हें पहले से ही दे दी जाती हैं.
जो भी हो अर्णब गोस्वामी के मामले में आगे और क्या एक्शन लेती है पुलिस या फिर जांच एजेंसियां यह देखने का विषय होगा. अर्णब गोस्वामी के मामले में जो कुछ भी सामने आ रहा है और सरकार और जांच एजेंसियों का रवैया जिस तरीके से निष्क्रिय बना हुआ है, उससे साफ है कि आने वाले दिनों में सरकार और जांच एजेंसियों पर से भरोसा जनता का और अधिक उठेगा.
The post अर्णब के मामले में पत्रकार अजीत अंजुम ने कई सवाल उठाए हैं appeared first on THOUGHT OF NATION.

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

VIDEO. आठ मार्च को विधानसभा घेरेंग प्रदेश के सरपंच, पाक्षिक बैठक का करेंगे बहिष्कार

सीकर. राजस्थान के सीकर शहर में सरपंच संघ की बैठक बुधवार को रामलीला मैदान स्थित एक होटल में हुई। जिलाध्यक्ष हनुमान प्रसाद की...
- Advertisement -

अब आसानी से आयुष्मान भव:

सीकर. आमजन को निजी अस्पताल में केसलेश उपचार मुहैया करवाने के लिए प्रदेश सरकार ने आयुष्मान भारत- महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना...

चार बेटियों ने किया पिता का अंतिम संस्कार, बड़ी बेटी के सिर बंधी पगड़ी

Four daughters performed the last rites of the father - पिता की मृत्यु के बाद पुत्रियों ने ही अंतिम संस्कार की रस्म निभाईसीकर. श्रीमाधोपुर...

छात्रा से दुष्कर्म का आरोपी व्याख्याता पांच साल से गायब, अब विभाग ने छीना पद

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले के ग्रामीण इलाके की सरकारी स्कूल में चार साल पहले छात्रा के साथ दुष्कर्म करने के आरोपी व्याख्याता...

Related News

VIDEO. आठ मार्च को विधानसभा घेरेंग प्रदेश के सरपंच, पाक्षिक बैठक का करेंगे बहिष्कार

सीकर. राजस्थान के सीकर शहर में सरपंच संघ की बैठक बुधवार को रामलीला मैदान स्थित एक होटल में हुई। जिलाध्यक्ष हनुमान प्रसाद की...

अब आसानी से आयुष्मान भव:

सीकर. आमजन को निजी अस्पताल में केसलेश उपचार मुहैया करवाने के लिए प्रदेश सरकार ने आयुष्मान भारत- महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना...

चार बेटियों ने किया पिता का अंतिम संस्कार, बड़ी बेटी के सिर बंधी पगड़ी

Four daughters performed the last rites of the father - पिता की मृत्यु के बाद पुत्रियों ने ही अंतिम संस्कार की रस्म निभाईसीकर. श्रीमाधोपुर...

छात्रा से दुष्कर्म का आरोपी व्याख्याता पांच साल से गायब, अब विभाग ने छीना पद

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले के ग्रामीण इलाके की सरकारी स्कूल में चार साल पहले छात्रा के साथ दुष्कर्म करने के आरोपी व्याख्याता...

आग की ऐसी तस्वीरें देख चकरा गए वनविभाग के अधिकारी भी! असलियत होश फाख्ता कर देगी

Seeing such photos of the fire, the forest department were shocked -सडक़ किनारे लगी आग-आनन-फानन में पहुंची वन विभाग की टीमसीकर. आपने ऐसी तस्वीरें...
- Advertisement -