- Advertisement -
Home News विदेशी ऑर्डर की कर लें तहकीकात, कहीं हो न जाएं ठगी के...

विदेशी ऑर्डर की कर लें तहकीकात, कहीं हो न जाएं ठगी के शिकार

- Advertisement -

-जोधपुर के सौ से अधिक निर्यातक विदेशों में हुए ठगी का शिकार- भारतीय दूतावास से कर रहे सहयोग की मांग- विदेशो में अटके 50 करोड़ रुपए
जोधपुर। हैंडीक्राफ्ट (handicraft) वस्तुओं पर कलात्मक कारीगरी कर विदेशों में निर्यात (Export) करने और सरकार को विदेशी मुद्रा (foreign currency) अर्जित कराने वाले निर्यातक विदेशों में ठगी (Cheating abroad) का शिकार हो गए हैं। जोधपुर के करीब 100 निर्यातकों के करीब 50 करोड़ रुपए विदेशों में अटक गए हैं। ठगी का कारण निर्यातकों के साथ नकली वेबसाइट व ईमेल हैकिंग (Email hacking) के माध्यम से की गई धोखेबाजी बताई जा रही है। वर्तमान में देश सहित जोधपुर के हैंडीक्राफ्ट निर्यातक इस प्रकार के साइबर ठगी (Cyber fraud) के जाल में फंसते जा रहे हैं। अमेरिका (America) के डिस्कवरी फर्नीचर नाम से एक रजिस्टर्ड ग्राहक ने जोधपुर के कई निर्यातकों से ठगी की। यह विदेशी ग्राहक जोधपुर के 6 से ज्यादा निर्यातकों से करीब 10 करोड़ रुपए से ज्यादा का माल हड़प चुका है । यहां के कई निर्यातकों के माल हड़पने के बाद उसने अपने आप को दिवालिया घोषित कर दिया। थोड़े दिनों बाद उसने डिस्को वेयरहाउस नाम से नई फ र्म बनाई और फि र से काम करना शुरू कर दिया। ऐसे ही एक मामले में आस्ट्रेलिया (Australia) के एक ग्राहक ने जोधपुर के निर्यातक (Jodhpur Exporter) से करोड़ों को माल मंगाकर माल को खराब बताया व बकाया राशि देने से मना कर दिया।बढ़ रहा क्रेज, फंस रहे युवा व नए निर्यातकजोधपुर में हैंडीक्राफ्ट एक्सपोर्ट बिजनेस का क्रेज बढ़ता जा रहा है। शहर के युवा डॉक्टर, इंजीनियर सहित अन्य युवा हैंडीक्राफ्ट एक्सपोर्टर बनना चाहते हैं। नए काम शुरू करने, ऑर्डर मिलने की खुशी कई नए निर्यातक अपना पैसा फ ंसा देते है। विदेशों में अटके पैसों को निकलवाने के लिए कोई सख्त कानून भी नहीं है।
दूतावास से मांगा सहयोगएसोसिएशन की ओर से ऐसे विदेशी ग्राहकों को टाइम बाउंड कर भारतीय दूतावासों के सहयोग से अटके पैसे निकलवाने की कोशिश की जा रही है। ऐसे फ्रॉड ग्राहकों की एक ब्लेक लिस्ट भी तैयार की गई है।
डॉ. भरत दिनेश, अध्यक्ष, जोधपुर हैंडीक्राफ्ट एक्सपोर्टर्स एसोसिएशन

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

राजस्थान में चक्रवात की वजह से बदल रहा है मौसम

सीकर. विदाई की ओर बढ़ रहे मानसून के साथ अब चक्रवात के कारण राजस्थान में बार-बार मौसम में बदलाव आ रहा है। पिछले...
- Advertisement -

क्या 2015 के फॉर्म्युले पर मिलकर लड़ेंगी RJD और कांग्रेस?

बिहार में विपक्षी महागठबंधन (आरजेडी, कांग्रेस, वाम दल और अन्य) में विधानसभा चुनाव में सीट बंटवारे के लिए अंतिम दौर की बैठक चल रही...

खाटूश्यामजी में आठ महीने बाद हुई बैठक में चार घंटे चला हंगामा

सीकर/ खाटूश्यामजी. नगरपालिका की आठ महीने बाद सोमवार को चार घंटे तक चली बैठक हंगामेदार रही। गत बैठक में लिए गए प्रस्तावों पर...

मलकेड़ा में सबसे कम मतों से जीती सरपंच, जानें कौन कहां कितने मतों से रहा विजयी

सीकर.लोकतंत्र के उत्सव में सोमवार को पिपराली पंचायत के मतदाता पूरी तरह रंगे हुए नजर आए। मतदाताओं ने अपने वोट की ताकत के...

Related News

राजस्थान में चक्रवात की वजह से बदल रहा है मौसम

सीकर. विदाई की ओर बढ़ रहे मानसून के साथ अब चक्रवात के कारण राजस्थान में बार-बार मौसम में बदलाव आ रहा है। पिछले...

क्या 2015 के फॉर्म्युले पर मिलकर लड़ेंगी RJD और कांग्रेस?

बिहार में विपक्षी महागठबंधन (आरजेडी, कांग्रेस, वाम दल और अन्य) में विधानसभा चुनाव में सीट बंटवारे के लिए अंतिम दौर की बैठक चल रही...

खाटूश्यामजी में आठ महीने बाद हुई बैठक में चार घंटे चला हंगामा

सीकर/ खाटूश्यामजी. नगरपालिका की आठ महीने बाद सोमवार को चार घंटे तक चली बैठक हंगामेदार रही। गत बैठक में लिए गए प्रस्तावों पर...

मलकेड़ा में सबसे कम मतों से जीती सरपंच, जानें कौन कहां कितने मतों से रहा विजयी

सीकर.लोकतंत्र के उत्सव में सोमवार को पिपराली पंचायत के मतदाता पूरी तरह रंगे हुए नजर आए। मतदाताओं ने अपने वोट की ताकत के...

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ कांग्रेस की नई रणनीति, जानें संविधान के किस अनुच्छेद से ढूंढा जा रहा है तोड़

देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रविवार को कृषि और किसानों से जुड़े बिलों को मंजूरी दे दी है. मगर, विपक्ष अब भी कृषि...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here