- Advertisement -
Home News 7 दिन में माही के आवास खाली करने का अल्टीमेटम, सेवानिवृत्त कार्मिक...

7 दिन में माही के आवास खाली करने का अल्टीमेटम, सेवानिवृत्त कार्मिक बोले- ‘जवानों को बसाने के लिए उन्हें क्यों उजाड़ा जा रहा है’

- Advertisement -

बांसवाड़ा. माही बांध स्थल पर निर्मित आवासीय भवनों को खाली कराने को लेकर रस्साकसी तेज हो गई है। तीन से चार दशक से निवासरत 50 से ज्यादा सेवानिवृत्त कार्मिकों को माही परियोजना अधिकारियों ने आवास खाली करने के नोटिस थमा कर सात दिन में आवास खाली करने का अल्टीमेटम दे दिया है तो इन कार्मिकों ने इस कार्रवाई को लेकर जिला कलक्टर के सामने अपना विरोध दर्ज कराया और कहा कि एमबीसी को 100 बीघा की मांग की तुलना में 119 बीघा जमीन पहले ही दे गई है और उनके आवास इस जमीन पर भी नहीं है तो जवानों को बसाने के लिए उन्हें क्यों उजाड़ा जा रहा है।
#Banswara_News : बारिश के बावजूद धूमधाम से मनाया आजादी का जश्न, कुशलगबाग मैदान में राज्यमंत्री बामनिया ने फहराया राष्ट्रीय ध्वज
मकानों पर काबिज सेवानिवृत्त कार्मिक बुधवार को जिला मुख्यालय पहुंचे और जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंप अपनी व्यथा सुनाई और मामले में सकारात्मक कार्रवाई की उम्मीद जताई। सेवानिवृत्त कार्मिकों ने बताया कि जिला कलक्टर के मौखिक आदेश का हवाला देते हुए एमबीसी के लिए माही के आवास खाली करने की धौंस दिखाई जा रही है। जब, एमबीसी को आवश्यकता से अधिक भूमि दे दी गई है तो जो भी निर्माण व गतिविधि होनी है वहां की जाए। साथ ही जो आवास खाली हैं उनकी मरम्मत करवाकर एमबीसी को सौंपे जा सकते हैं। सन 1975 से निवासरत सेवानिवृत्त कार्मिकों से वृद्धा व निराश्रित अवस्था में आवास खाली करवाने के आदेश से संकट बन गया है।
महाराष्ट्र में बाढ़ पीडि़तों की मदद के लिए आगे आए वागड़वासी, राहत सामग्री लेकर 11 सदस्यों का दल रवाना
नहीं दिया कभी नोटिसमाही से जारी नोटिस में बताया गया है कि कार्मिकों को पूर्व में भी कई बार नोटिस जारी कर आवास खाली करने को कहा गया है। पर, सेवानिवृत्त कार्मिकों का कहना है कि पूर्व में कभी भी नोटिस नहीं दिया गया है। विभाग समय पर किराया वूसल रहा है।
किराया तो हम भी दे रहेकार्मिकों का कहना है कि माही विभाग उनसे आवास खाली करवाकर एमबीसी के जवानों को किराये पर देने की बात कह रहा है। जबकि, सेवानिवृत्ति के साथ ही वह विभाग की ओर से तय किराया मय पेनल्टी जमा करवा रहे हैंं। विभाग को किराये से ही मतलब है तो ऐसा क्यों किया जा रहा है।

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

किसान बिलों के खिलाफ किसान सभा ने हर ब्लॉक में जताया आक्रोश

सीकर. केन्द्र सरकार द्वारा किसानों को लेकर पास किए गए तीन बिलों के विरोध में शुक्रवार को अखिल भारतीय किसान सभा की ओर...
- Advertisement -

कविता: रिश्ते

रिश्ते बनाये नहीं जातेबस सिर्फ और सिर्फ निभाये जाते हैंहर रिश्ते की एक अलग इम्तिहानहोती हैजिन्दा रखने के लिए उसकी एकपहचान होती हैइन्सान...

मौजूदा समय के सबसे बड़े चुनाव का ऐलान

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा है कि कोरोना के दौर में ये पहला चुनाव होगा. हमारे लिए लोगों...

सावधान! एयरपोर्ट व शिक्षक से लेकर वर्क फ्रॉम होम तक के नाम से हो रही है ठगी

सीकर. कोरोनाकाल में बेरोजगार हुए युवाओं के नौकरी के अरमानों से अब प्रदेशभर में ठगी का बड़ा खेल शुरू हो गया है। एयरपोर्ट...

Related News

किसान बिलों के खिलाफ किसान सभा ने हर ब्लॉक में जताया आक्रोश

सीकर. केन्द्र सरकार द्वारा किसानों को लेकर पास किए गए तीन बिलों के विरोध में शुक्रवार को अखिल भारतीय किसान सभा की ओर...

कविता: रिश्ते

रिश्ते बनाये नहीं जातेबस सिर्फ और सिर्फ निभाये जाते हैंहर रिश्ते की एक अलग इम्तिहानहोती हैजिन्दा रखने के लिए उसकी एकपहचान होती हैइन्सान...

मौजूदा समय के सबसे बड़े चुनाव का ऐलान

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा है कि कोरोना के दौर में ये पहला चुनाव होगा. हमारे लिए लोगों...

सावधान! एयरपोर्ट व शिक्षक से लेकर वर्क फ्रॉम होम तक के नाम से हो रही है ठगी

सीकर. कोरोनाकाल में बेरोजगार हुए युवाओं के नौकरी के अरमानों से अब प्रदेशभर में ठगी का बड़ा खेल शुरू हो गया है। एयरपोर्ट...

डैमेज कंट्रोल के लिए कमलनाथ का प्लान रेडी

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने चुनाव प्रचार और प्रबंधन के बाद समन्वय की कमान भी अपने हाथों में ले ली है. उम्मीदवारों की पहली सूची...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here