- Advertisement -
Home Rajasthan News Sikar news कोरोना की तीसरी लहर का कैसे करेंगे सामना, सहायक रेडियोग्राफर व लैब...

कोरोना की तीसरी लहर का कैसे करेंगे सामना, सहायक रेडियोग्राफर व लैब टेक्नीशियन की भर्ती विवादों में

- Advertisement -

सीकर.कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के चलते सरकार की ओर से रोज चिकित्सा विभाग के ढंाचे को ग्रास रूट तक मजबूत करने का दावा किया जा रहा है। लेकिन चिकित्सा विभाग के साथ भर्ती एजेन्सियों की लापरवाही तैयारियों पर सवाल खड़े कर रही है। हालत यह है कि कोरोना की पहली लहर के दौरान लैब टेक्नीशियन भर्ती की घोषणा की गई। लेकिन कोरोना की दूसरी लहर के जाने के बाद भी बोर्ड भर्ती पूरी नहीं कर सका है। इसी तरह सहायक रेडियोग्राफर भर्ती भी अटकी हुई है। अंकतालिका के आधार पर हुए फर्जी प्रमाण पत्रों का मामला एसओजी तक भी पहुंचा। प्रदेश में भर्तियों के हाल यह है कि कर्मचारी चयन बोर्ड चार साल में फार्मासिस्ट भर्ती को पूरा नहीं कर सका है। इस कारण प्रदेश के मेडिकल क्षेत्र के बेरोजगारों में लगातार आक्रोश बढ़ रहा है।
ऐसे समझें अटकी भर्तियों का गणित
1. रेडियोग्राफर भर्ती: अब तक पूरी नहीं हुई 750 पदों की भर्तीराजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड की 750 पदों की रेडियोग्राफर भर्ती भी विवादों में है। विभाग की ओर से पहले 750 अभ्यर्थियों की सूची जारी की गई। बाद में कई अनियमितता सामने आने के बाद 209 अभ्यर्थियों का चयन निरस्त कर दिया गया। इनमें से कुछ अभ्यर्थी तो ऐसे थे दूसरे राज्यों से डिग्री लेकर आ गए। पिछले दिनों पेरामेडिकल काउंसिल ने कमेटी का गठन कर इन पंजीयन प्रमाण पत्रों की जांच की तो बड़ा घपला सामने आया। इस पर 413 पंजीयन को रद्द कर दिया गया। बेरोजगारों का कहना है कि अब बोर्ड को प्रतीक्षा सूची के अभ्यर्थियों को मौका देना चाहिए, जिससे चिकित्सा विभाग की व्यवस्था बेहतर हो सके।
2. लैब टेक्नीशियन भर्ती:कोरोना की पहली लहर के दौरान लैब टेक्नीशियन के 1119 पदों पर भर्ती की विज्ञप्ति जारी की गई थी। लेकिन अब महज 439 कर्मचारियों के ही नियुक्ति आदेश जारी हो सके। यह भर्ती भी फर्जी अनुभव व पंजीयन प्रमाण पत्रों की वजह से खूब चर्चा में आई। कई अभ्यर्थियों के दस्तावेज में घपला सामने आने पर विभाग की ओर से नियुक्ति आदेश भी रद्द किए गए। कई अभ्यर्थियों ने इस मामले को न्यायालय में चुनौती दी है। प्रतीक्षा सूची के बेरोजगारों को अब तक सूची अनलॉक होने का इंतजार है।
3. फार्मासिस्ट भर्ती:कर्मचारी चयन बोर्ड की ओर से वर्ष 2018 में फार्मासिस्ट 1734 पदों पर भर्ती की विज्ञप्ति जारी की गई। नियमों के पेंच की वजह से अब तक यह भर्ती पूरी नहीं हो सकी। बोर्ड की ओर से दो बार परीक्षा तिथि घोषित कर दी गई। लेकिन अब तक परीक्षा का आयोजन ही नहीं हो सका है। इस कारण बेरोजगारों में काफी आक्रोश है। अब रिक्त पदों की संख्या बढ़कर 4105 तक पहुंच गई। लेकिन अभी तक विभाग की ओर से संशोधित अभ्यर्थना नहीं जारी की गई है।

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

तीसरे दिन भी कोरोना संक्रमण से बचा सीकर, कल यहां होगा वैक्सीनेशन

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में बुधवार को भी कोरोना संक्रमण का कोई नया केस नहीं मिला। हालांकि पूर्व संक्रमित मरीज भी स्वस्थ...
- Advertisement -

कांग्रेस 2024 लोकसभा चुनाव में डूबने की जगह तैर जाएगी

कांग्रेस 2024 के बाद हुए पिछले 2 लोकसभा चुनाव हारी है और वह भी बुरी तरीके से हारी है. आने वाले लोकसभा चुनाव 2024...

पुलिस जीप को टक्कर मारने की कोशिश के बाद तलवार लेकर निकले बदमाश, पुलिसकर्मियों से की हाथापाई

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले के रानोली थाना इलाके में पुलिस ने बुधवार को दो बदमाशों को अवैध हथियार सहित गिरफ्तार किया है।...

अपनी ही सरकार के खिलाफ आंदोलन कर रही भाजपा

सीकर. जयपुर से दिल्ली जाते समय हाईवे स्थित खेड़ा बॉर्डर पर किसानों के हमले में शामिल आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए पूर्व...

Related News

तीसरे दिन भी कोरोना संक्रमण से बचा सीकर, कल यहां होगा वैक्सीनेशन

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में बुधवार को भी कोरोना संक्रमण का कोई नया केस नहीं मिला। हालांकि पूर्व संक्रमित मरीज भी स्वस्थ...

कांग्रेस 2024 लोकसभा चुनाव में डूबने की जगह तैर जाएगी

कांग्रेस 2024 के बाद हुए पिछले 2 लोकसभा चुनाव हारी है और वह भी बुरी तरीके से हारी है. आने वाले लोकसभा चुनाव 2024...

पुलिस जीप को टक्कर मारने की कोशिश के बाद तलवार लेकर निकले बदमाश, पुलिसकर्मियों से की हाथापाई

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले के रानोली थाना इलाके में पुलिस ने बुधवार को दो बदमाशों को अवैध हथियार सहित गिरफ्तार किया है।...

अपनी ही सरकार के खिलाफ आंदोलन कर रही भाजपा

सीकर. जयपुर से दिल्ली जाते समय हाईवे स्थित खेड़ा बॉर्डर पर किसानों के हमले में शामिल आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए पूर्व...

सीकर में खामोश कदमों से बढ़ रहा है हेपेटाइटिस

सीकर. वायरल बीमारियो में सबसे ज्यादा खतरनाक माने जाना वाला हेपेटाइटिस का वायरस सीकर जिले में खामोशी से पैर पसार रहा है। जिला...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here