- Advertisement -
Home News Heavy rain in ajmer: अजमेर के पानी से मारवाड़ को मिला जीवनदान

Heavy rain in ajmer: अजमेर के पानी से मारवाड़ को मिला जीवनदान

- Advertisement -

रक्तिम तिवारी/अजमेर
लगातार ताबड़तोड़ बरसने वाली घटाओं ने रविवार को कुछ ब्रेक लगाए। अलबत्ता अजमेर (ajmer) के पानी से मारवाड़ (marwar) के कई तालाब, बांध को जीवनदान मिल गया है। अजमेर की बदौलत ही मारवाड़ के कई इलाकों में पानी (rain water) पहुंच पाया है।
अजमेर के आनासागर झील (anasagar lake )में बांडी नदी (bandi river) उफनती हुई पानी पहुंचाती है। आनासागर से उफनता पानी एस्केप चैनल से होता हुआ खानपुरा तालाब से पीसांगन और गोविंदगढ़ पहुंचता है। यहां से पानी मारवाड़ (marwar) का रुख करता है। पिछले तीन दिन तक हुई झमाझम बरसात (heavy rain in ajmer) से ऐसा ही कुछ हाल हुआ। इंद्रदेव ने बिलाड़ा के जसवंतसागर बांध (jaswant sagar) की झोली भर दी। इसमें सबसे ज्यादा योगदान अजमेर का रहा। आनासागर का पानी उफनता-उफनता मारवाड़ तक पहुंच गया। आगे यह पानी बाडमेर (barmer) और अन्य जिलों तक पहुंच चुका है।
read more: Bisalpur dam: 315 का आंकड़ा छूने की तैयारी में बीसलपुर बांध
यूं पहुंचा आनासागर का पानी
आनासागर का पानी आने से पीसांगन-बुधवाड़ा में सागरमती नदी (sagramati river) में घोड़ा वाला मार्ग टूट गया है। यहां नूरियावास, दांतड़ा संपर्क सडक़ पर भी बहाव तेज है। हनवंतपुरा गांव में एनिकट छलक पड़ा। रामपुरा डाबला में खेजड़ा नाडी की चादर चल रही है। यही पानी आगे बढ़ता हुआ पाली (pali), जोधपुर (jodhpur) और बाडमेर (barmer)-जालौर (jalore)-सिरोही (sirohi) तक पहुंच चुका है।
read more: अजमेर: जूनिया और पुष्कर में बाढ़ के हालात, डूबने से दो की मौत, खोले आनासागर चैनल के दो चैनल गेट
बांडी नदी है प्रमुख स्त्रोतनाग पहाड़-अरावली (aravalli) से निकलने वाली बांडी नदी (bandi river) दरअसल कई जिलों को संजीवनी (water increase) देती है। यह अजमेर से होते हुए नागौर (nagaur) जिले के कुछ हिस्से छूती हुई पाली,जोधपुर और आगे तक जाती है। कहीं-कहीं थार रेगिस्तान (thar desert) के अंदरूनी इलाकों (अब लुप्त) से होते हुए इसे पाकिस्तान (pakistan) तक जाना भी बताया गया है।
read more: Heavy rain in ajmer: जूनिया और पुष्कर में बाढ़ के हालात
अजमेर के जलाशयों का हालजोताया के मानसागर तालाब में भी पानी की आवक (water level) जारी है। श्रीनगर में पनेर नदी सहितनालेश्वर महादेव मंदिर पास स्थित झरना, सुनारी गाल, गुच्छी तालाब की चादर (water flows) चल रही है। किशनगढ़ के गूंदोलाव झील, हमीर तालाब, निकटवर्ती भोजियावास, रलावता तालाब छलकना जारी है। अजमेर में आनासागर झील के चैनल गेट (channel gate) से पानी उफन रहा है। वैशाली नगर-आंतेड़ इलाके में बरसों बाद झरना तेज रफ्तार से छलक रहा है। माकड़वाली, होकरा, गगवाना, गेगल, घूघरा, कांकरदा भूणबाय, भिनाय, बांदनवाड़ा, नसीराबाद, मांगलियावास,बिजयनगर में भी कई बड़े और छोटे तालाबों (small ponds), एनिकटों की चादर चल रही है।

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

कविता: नारी है वो….

ममत्व की जननी है वो,सतीत्व की रक्षिका है वोसपनों का साया है वो,वह अपनों की माया है वो,बड़ों का सम्मान है वो,स्वयं का...
- Advertisement -

हाथरस गैंगरेप पर आया उद्धव ठाकरे का रिएक्शन

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने गुरुवार को कहा कि राज्य में हाथरस गैंगरेप जैसी घटनाओं को सहन नहीं किया जाएगा और जो महिलाओं...

आबादी में खड़े ट्रोले में लगी भीषण आग, धमाकों से दहले लोग

सीकर. राजस्थान के सीकर शहर में गुरुवार को आबादी इलाके में एक ट्रोले में भीषण आग लगने से जबरदस्त हड़कंप मच गया। देखते...

राहुल, प्रियंका को हिरासत में लिया गया

हाथरस गैंगरेप पीड़िता को इंसाफ दिलाने के लिए देशभर में आवाज़ें उठ रही हैं. गुरुवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव...

Related News

कविता: नारी है वो….

ममत्व की जननी है वो,सतीत्व की रक्षिका है वोसपनों का साया है वो,वह अपनों की माया है वो,बड़ों का सम्मान है वो,स्वयं का...

हाथरस गैंगरेप पर आया उद्धव ठाकरे का रिएक्शन

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने गुरुवार को कहा कि राज्य में हाथरस गैंगरेप जैसी घटनाओं को सहन नहीं किया जाएगा और जो महिलाओं...

आबादी में खड़े ट्रोले में लगी भीषण आग, धमाकों से दहले लोग

सीकर. राजस्थान के सीकर शहर में गुरुवार को आबादी इलाके में एक ट्रोले में भीषण आग लगने से जबरदस्त हड़कंप मच गया। देखते...

राहुल, प्रियंका को हिरासत में लिया गया

हाथरस गैंगरेप पीड़िता को इंसाफ दिलाने के लिए देशभर में आवाज़ें उठ रही हैं. गुरुवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव...

गायों के लिए सरकार ने हाथ किए तंग, गोपालकों में आक्रोश

सीकर/फतेहपुर. गौ संवर्धन अधिनियम में संशोधन के बाद सरकार ने अब गौशालाओं को मिलने वाले अनुदान पर कैंची चला दी है। अब गौशालाओं...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here