- Advertisement -
Home Rajasthan News Sikar news शर्मनाक...! सीकर में हर साल 720 लोग लगा रहे है मौत को...

शर्मनाक…! सीकर में हर साल 720 लोग लगा रहे है मौत को गले

- Advertisement -

सीकर. यह केवल एक उदाहरण मात्र नहीं सच्चाई है। जिले में हर वर्ष औसतन ७२० लोग किसी न किसी कारण से आत्महत्या कर रहे हैं। एज्युकेशन हब के रूप में प्रदेश में पहचान बनाने वाले सीकर जिले के लिए यह शर्मनाक हकीकत है। हर रोज एसके अस्पताल के ट्रोमा में औसतन दो मरीज रोजाना एेसे आते हैं जिन्होंने जहर, फांसी पर लटकने, हाथ की नसों को काट लिया हो। युवा प्रतिस्पर्धा के युग में अच्छी नौकरी, पैसा, प्यार में नाकामी और कर्ज नहीं चुका पाने पर अवसाद में चले जाते हैं और इसी तनाव के कारण कई लोग आत्महत्या का रास्ता अपना लेते हैं। अच्छी बात यह है कि इनमें से ६५ प्रतिशत से ज्यादा लोगों को बचा लिया जाता है। हालांकि कानून की नजर में आत्महत्या का प्रयास करना व उसके लिए दुष्प्रेरित करना अपराध है। वल्र्ड एंटी सुसाइड दिवस पर मनोविज्ञानिकों का कहना है कि व्यक्ति समस्याओं का समाधान नहीं होने की स्थिति में आत्महत्या का रास्ता अपनाता है। उसे समय पर परामर्श दिया जाए तो इन आंकड़ों को कम किया जा सकता है।
पुरुषों की संख्या महिलाओं से दोगुनी
जिला अस्पताल से लिए गए पिछले तीन वर्षों के आंकड़ों पर नजर डालें तो आत्महत्या करने के मामले में पुरुषों की संख्या महिलाओं से दोगुनी है। एक जनवरी से जुलाई २०१९ तक २५६ महिलाओं व ४६५ पुरुषों ने आत्महत्या की। जबकि वर्ष 2018 में १३९ महिलाओं ने व ५२५ पुरुषों ने तथा वर्ष 2017 जुलाई तक २८९ महिलाओं ने तथा ४४७ पुरुष ने आत्महत्या की।
युवा इसलिए मौत को लगाते हैं गले
युवाओं के तनाव में आने का एक कारण कर्जदार होना है। नशा करने, जुआ खेलने व ब्रांडेड कपड़े-जूते व दुपहिया व चौपहिया वाहन रखने के शौक के चलते युवा कर्ज लेते हैं। इसके अलावा प्रेमप्रसंग में नाकामी, पढाई का तनाव, गरीबी और बेरोजगारी, पारिवारिक क्लेश, मानसिक बीमारी और कर्ज चुकाने में असफल होना। कई युवा तो पांच से दस रुपए प्रति सैकड़ा के हिसाब से बाहुबलियों से कर्ज ले रहे हैं। इसे समय पर नहीं चुकाने एवं बार-बार कर्ज चुकाने की धमकियां मिलने के चलते कई युवा आत्महत्या कर लेते हैं।
केस एक:
सालासर सीएचसी से रैफर २४ वर्षीय महिला सुनीता (बदला हुआ नाम) एसके अस्पताल के ट्रोमा सेंटर में सोमवार सुबह बेहोश हालात में पहुंची, उसके मुंह से इतना ही निकला कि परिवार के लोगों के तानों से परेशान होकर जीवन खत्म करने के लिए कीटनाशक पी लिया लेकिन अब पछता रही है। फिलहाल महिला एसके अस्पताल के फीमेल मेडिकल वार्ड में गंभीर हालत में भर्ती है।

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

एक्ट्रेस हिमांशी खुराना भड़की कंगना रनौत पर

एक्ट्रेस कंगना रनौत का किसान आंदोलन का लेकर जो नजरिया रहा है, उस पर अलग ही बहस छिड़ गई है. उस सब के ऊपर...
- Advertisement -

आखिर क्यों बदनाम करना चाहते है किसान आंदोलन को भजपा के नेता

न जाने क्यों बीजेपी के नेता किसानों के आंदोलन के पीछे पड़ चुके हैं. अध्यादेश आने के बाद से ही किसान केंद्र सरकार तक...

राजस्थान में यहां एक दिन में 187 कोरोना मरीज हुए स्वस्थ, 30 नए पॉजिटिव

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में गुरुवार को 187 कोरोना मरीज स्वस्थ हुए। जबकि 30 नए कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए। जिसके बाद...

बैठक में किसानों ने ठुकराया सरकार का खाना, जानिए अब तक क्या हुआ

दिल्ली के विज्ञान भवन में सरकार और किसान नेताओं की बैठक जारी है. कृषि कानूनों पर सरकार और किसान नेताओं की चौथे दौर की...

Related News

एक्ट्रेस हिमांशी खुराना भड़की कंगना रनौत पर

एक्ट्रेस कंगना रनौत का किसान आंदोलन का लेकर जो नजरिया रहा है, उस पर अलग ही बहस छिड़ गई है. उस सब के ऊपर...

आखिर क्यों बदनाम करना चाहते है किसान आंदोलन को भजपा के नेता

न जाने क्यों बीजेपी के नेता किसानों के आंदोलन के पीछे पड़ चुके हैं. अध्यादेश आने के बाद से ही किसान केंद्र सरकार तक...

राजस्थान में यहां एक दिन में 187 कोरोना मरीज हुए स्वस्थ, 30 नए पॉजिटिव

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में गुरुवार को 187 कोरोना मरीज स्वस्थ हुए। जबकि 30 नए कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए। जिसके बाद...

बैठक में किसानों ने ठुकराया सरकार का खाना, जानिए अब तक क्या हुआ

दिल्ली के विज्ञान भवन में सरकार और किसान नेताओं की बैठक जारी है. कृषि कानूनों पर सरकार और किसान नेताओं की चौथे दौर की...

किसानों ने जिलेभर में किया प्रदर्शन, चुनाव बाद उग्र आंदोलन की तैयारी

सीकर. केन्द्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली में जारी किसानों के प्रदर्शन के समर्थन में सीकर में अखिल भारतीय किसान...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here