- Advertisement -
Home News रेलवे की भर्ती परीक्षा में हुआ विवाद, अभ्यर्थियों ने किया प्रदर्शन, रेल...

रेलवे की भर्ती परीक्षा में हुआ विवाद, अभ्यर्थियों ने किया प्रदर्शन, रेल मंत्री को लिखा पत्र

- Advertisement -

विकास जैन / जयपुर। रेलवे की ओर से आयोजित आरआरबी—जेइएन—सीएमएस सीबीटीवन परीक्षा ( RRB JE CBT 1 exam) में न्यूनतम गुणवत्ता अंक प्राप्त करने वाले अभ्यर्थियों को सीबीटीटू परीक्षा के लिए अवसर दिए जाने का आरोप लगाते हुए शुक्रवार को अभ्यर्थियों ने उत्तर पश्चिम रेलवे ( North Western Railway ) के जवाहर सर्किल स्थित मुख्यालय पर प्रदर्शन किया।
 
यह भी पढ़ें : मॉब लिंचिंग और ऑनर किलिंग पर खुलकर बोले सीएम गहलोत, बताया मानवता के लिए कलंक
 
इनका कहना था कि इस परीक्षा में तकनीकी क्षेत्र से जुड़े और तकनीकी क्षेत्र की तैयारी करने वाले अभ्यर्थियों के साथ न्याय नहीं किया गया। इस संबंध में इन अभ्यर्थियों ने रेल मंत्री पीयूष गोयल को भी पत्र लिखा है। अभ्यर्थियों ने बताया कि इसी माह 13 अगस्त को इसका परिणाम जारी किया गया। परिणाम जारी होने के बाद 70 प्रतिशत अभ्यर्थी परेशान हो गए। क्योंकि सीबीटू परिणाम का कट ऑफ अत्यधिक गया है।
 
यह भी पढ़ें : त्रिमूर्ति सर्किल पर हादसा, रक्षाबंधन के दिन एक बहन से छीना उसका भाई
 
कट ऑफ अंक अधिक होने का कारण आरआरबी जेईएन सीबीटीवन की परीक्षा करीब 20 लाख अभ्यर्थियों का देना और इनमे से 80 से 90 प्रतिशत छात्रों का ऐसा होना था, जिनकी जिनकी डिग्री तो तकनीकी की है, लेकिन वो नॉन तकनीकी क्षेत्र एसएसजी, सीजीएल सहित अन्य की तैयारी करते हैं। उनके अंक सीबीटीवन में अधिक आ रहे हैं। जबकि सीबीटी वन का सिलेबस पूरी तरह नॉन तकनीकी था। साथ ही इन्हें तकनीकी क्षेत्र भी छोड़े हुए काफी समय हो गया है।
 
यह भी पढ़ें : खुशखबरी : बीसलपुर लबालब, जयपुर के चार बड़े क्षेत्रों को भी मिलेगा पानी, तीन लाख लोगों को होगा फायदाअभ्यर्थियों का कहना था कि जो छात्र तकनीकी क्षेत्र गेट, आईईएस, आरएसयू और जेईएन की तैयारी कर रहे हैं, उनके सीबीटीवन में कुछ अंक कम आ रहे हैं, जिसके कारण वे सीबीटी वन को उत्तीर्ण नहीं कर पाए हैं। इससे तकनीकी क्षेत्र मजबूत होते हुए भी इन्हें सीबीटी टू के लिए मौका नहीं मिल रहा है।

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

क्या कृषि विधेयकों के विरोध से डर गई सरकार?

क्या सरकार कृषि विधेयकों पर किसानों के गुस्से से डर गई है? या उसे अपने ही मंत्रिमंडल के एक सहयोगी के इस्तीफ़े ने हिला...
- Advertisement -

राजस्थान में यहां 22 कोरोना पॉजिटिव, एक मौत की पुष्टि

(22 corona positive found in sikar) सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में सोमवार को कोरेाना (corona virus) से फिर एक मौत की पुष्टि...

डॉ. कफील बोले- अभी राजनीति में उतरने का समय नहीं

डॉक्टर कफील खान की मथुरा जेल से रिहाई के 20 दिनों बाद सोमवार को दिल्ली में उनकी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी से मुलाकात हुई. डॉक्टर...

बैग में रखे 3.50 लाख रुपये में से पांच मिनट में कम हो गए 2 लाख रुपये

सीकर/ खाचरियावास. राजस्थान के सीकर जिले के दांतारामगढ़ कस्बे के कुली गांव में सोमवार को एक बैग में भरकर रखे गए 3 लाख...

Related News

क्या कृषि विधेयकों के विरोध से डर गई सरकार?

क्या सरकार कृषि विधेयकों पर किसानों के गुस्से से डर गई है? या उसे अपने ही मंत्रिमंडल के एक सहयोगी के इस्तीफ़े ने हिला...

राजस्थान में यहां 22 कोरोना पॉजिटिव, एक मौत की पुष्टि

(22 corona positive found in sikar) सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में सोमवार को कोरेाना (corona virus) से फिर एक मौत की पुष्टि...

डॉ. कफील बोले- अभी राजनीति में उतरने का समय नहीं

डॉक्टर कफील खान की मथुरा जेल से रिहाई के 20 दिनों बाद सोमवार को दिल्ली में उनकी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी से मुलाकात हुई. डॉक्टर...

बैग में रखे 3.50 लाख रुपये में से पांच मिनट में कम हो गए 2 लाख रुपये

सीकर/ खाचरियावास. राजस्थान के सीकर जिले के दांतारामगढ़ कस्बे के कुली गांव में सोमवार को एक बैग में भरकर रखे गए 3 लाख...

क्या है जनता के इस गुस्से के मायने?

हाल के दिनों में नीतीश सरकार के कई मंत्रियों और विधायकों ने मारपीट का आरोप लगाया है. एनडीएए (NDA) के ये विधायक और मंत्री...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here