- Advertisement -
Home News बाढ़ प्रभावित इलाकों का असर : नारियल और फूलों के भाव में...

बाढ़ प्रभावित इलाकों का असर : नारियल और फूलों के भाव में उछाल

- Advertisement -

अजमेर. रक्षाबंधन पर नारियल,खोपरा,फूल तथा अन्य सामग्री के दाम बढ़ गए। इसकी वजह केरल,कर्नाटक,महाराष्ट्र,आंध्रप्रदेश सहित अन्य राज्यों में बाढ़ है। तेज बारिश के चलते इन क्षेत्रों में काफी नुकसान पहुंचा है।
ताजा माल नहीं आने से स्टॉक खाली हो गया। बाढ़ का असर केला व अन्य फलों पर भी पड़ा है। बीते कुछ दिनों में प्रति नारियल जहां 15 से 25 रुपए तक पहुंच गया है। वहीं मालाओं के भाव भी उछाल पर है। दूसरी ओर
केरल में आई बाढ़ से नारियल की आवक प्रभावित हुई है। वहीं दक्षिण भारत के अन्य कई राज्यों में भी बाढ़ के हालात से वहां से नारियल की आवक नहीं हो रही है। इसके चलते स्टॉक कम हो गया। नारियल थोक में 12 सौ रुपए बोरी से 1550 रुपए बोरी पहुंच गया है।
त्यौहारों की मांग से भी नारियल के भाव बढ़े हैं। बाढ़ का असर कम होने पर नारियल का नया स्टॉक आएगा। उसके बाद भावों में नरमी आ सकती है।
वहीं महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश में तेज बारिश के चलते फूलों की खेती को बड़ा नुकसान हुआ है। इसके चलते आवक प्रभावित हुई है।
बीते एक पखवाड़े में कई फूलों के भाव दोगुने से कहीं ज्यादा बढ़ गए है। कई फूल से 50 रुपए किलो से 150 रुपए तक पहुंच गए है। मोगरा, गेंदा सहित अन्य फूल महाराष्ट्र, एमपी और यूपी से आते है। इनमें से केसरिया गेंदा 40 से 140, पीला गेंदा 50 से 140 और मोगरा 250 से ४५० रुपए किलो पहुंच गया है। वहीं पुष्कर से आने वाले गुलाब की कीमत भी बढ़ी है।
 

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

राजस्थान में आईटीआई में प्रवेश से मोहभंग, 75 फीसदी कॉलेजों की सीट खाली

सीकर. प्रदेश के आईटीआई विद्यार्थियों का ऑनलाइन प्रवेश से पूरी तरह से मोहभंग हो गया है। ऑनलाइन केन्द्रीयकृत प्रवेश के बाद भी प्रदेश...
- Advertisement -

प्रियंका गांधी चुपचाप बदलाव ला रही हैं- अभिषेक मनु सिंघवी

आजादी के बाद कांग्रेस अपने सबसे बुरे दौर में चल रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी के कई नेता अपने भाषणों...

कविता:ये भारत का किसान है!

हल लेकर खेतों की ओर आज कोई निकल पड़ा है , फटी जूती, फटे कपड़े बारिश की आस में चल पड़ा है,...

कपड़ों की दुकान में लगी भीषण आग, लाखों का माल खाक

सीकर. राजस्थान के सीकर शहर में दंग की नसियां में शनिवार देर रात एक कपड़े की दुकान में आग लगने से लाखों का...

Related News

राजस्थान में आईटीआई में प्रवेश से मोहभंग, 75 फीसदी कॉलेजों की सीट खाली

सीकर. प्रदेश के आईटीआई विद्यार्थियों का ऑनलाइन प्रवेश से पूरी तरह से मोहभंग हो गया है। ऑनलाइन केन्द्रीयकृत प्रवेश के बाद भी प्रदेश...

प्रियंका गांधी चुपचाप बदलाव ला रही हैं- अभिषेक मनु सिंघवी

आजादी के बाद कांग्रेस अपने सबसे बुरे दौर में चल रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी के कई नेता अपने भाषणों...

कविता:ये भारत का किसान है!

हल लेकर खेतों की ओर आज कोई निकल पड़ा है , फटी जूती, फटे कपड़े बारिश की आस में चल पड़ा है,...

कपड़ों की दुकान में लगी भीषण आग, लाखों का माल खाक

सीकर. राजस्थान के सीकर शहर में दंग की नसियां में शनिवार देर रात एक कपड़े की दुकान में आग लगने से लाखों का...

राजस्थान में यहां मूसलाधार बरसात से फसलों को नुकसान

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में शनिवार देर शाम को कई इलाकों में मूसलाधार बरसात हुई। बरसात से कुछ दिनों से बढ़ी उमस...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here