- Advertisement -
Home News ईरान पर हमले को लेकर चीन ने अमेरिका को दी चेतावनी

ईरान पर हमले को लेकर चीन ने अमेरिका को दी चेतावनी

- Advertisement -

चीनी विदेश मंत्री वांग ने शुक्रवार को इराक में ईरान के शीर्ष कमांडर कासिम सुलेमानी की मौत का हवाला देते हुए जावद जरीफ से कहा कि घातक अमेरिकी सैन्य अभियान अंतरराष्ट्रीय संबंधों के मूल नियमों का उल्लंघन करता है.

चीन के विदेशमंत्री वांग यी ने शनिवार को अपने ईरानी समकक्ष से बातचीत के दौरान कहा कि अमेरिका को ताकत का गलत इस्तेमाल नहीं करना चाहिए बल्कि उसे बातचीत के जरिए समाधान निकालना चाहिए.

चीनी विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान के अनुसार वांग ने शुक्रवार को इराक में ईरान के शीर्ष कमांडर कासिम सुलेमानी की मौत का हवाला देते हुए जावद जरीफ से कहा, घातक अमेरिकी सैन्य अभियान अंतरराष्ट्रीय संबंधों के मूल नियमों का उल्लंघन करता है और इससे क्षेत्र में तनाव तथा अशांति बढ़ेगी.

बगदाद में शुक्रवार तड़के अमेरिकी ड्रोन हमले में कुद्स फोर्स के प्रमुख सुलेमानी की मौत हो गई थी.अमेरिका के इस कदम से क्षेत्र में अमेरिका एवं ईरान के बीच तनाव बढ़ने की आशंका है। ईरान ने इसका बदला लेने की बात कही है, वहीं चीन समेत कई देशों ने शांति बनाए रखने की अपील की है.

मंत्रालय के अनुसार वांग ने जरीफ से बातचीत में कहा,चीन अंतरराष्ट्रीय संबंधों में अधिक बल प्रयोग का विरोध करता है. सैन्य तरीकों के इस्तेमाल और अत्यंत दबाव बनाने का कोई मतलब नहीं है.चीन संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य और ईरान का अहम सहयोगी है. वह ईरान से तेल का प्रमुख खरीदार है. पिछले सप्ताह ईरान, चीन और रूस ने ओमान की खाड़ी में संयुक्त नौसेना अभ्यास किया था और इस सप्ताह ईरान के विदेश मंत्री ने बीजिंग की यात्रा की थी.

आपको बताते चले कि, ईरान की क़ुद्स फ़ोर्स के प्रमुख जनरल क़ासिम सुलेमानी की अमरीकी एयरस्ट्राइक में मौत हो गई है. सुलेमानी ईरान के लिए कितने अहम थे इसका अंदाज़ा इसी से लगाया जा सकता है कि उनकी मौत की ख़बर के आने के फ़ौरन बाद ही अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने अमरीका के राष्ट्रीय झंडे की तस्वीर ट्वीट की.

यह भी पढ़े : जनरल क़ासिम सुलेमानी की मौत का बदला लेने की बात कर रहा है ईरान

जनरल क़ासिम सुलेमानी का क़द ईरान के पावर-स्ट्रक्चर में बहुत बड़ा था. ईरान के सबसे ताक़तवर नेता – सर्वोच्च धार्मिक नेता आयतुल्लाह अली ख़ामेनेई – के बाद अगर ईरान में किसी को दूसरा सबसे ताक़तवर शख़्स समझा जाता था तो वो थे – जनरल क़ासिम सुलेमानी. जनरल सुलेमानी क़ुद्स फ़ोर्स नाम की एक सैन्य टुकड़ी के प्रमुख थे. ये टुकड़ी एक तरह से विदेश में ईरान की सेना के जैसी है जो अलग-अलग देशों में ईरानी हितों के हिसाब से किसी का साथ तो किसी का विरोध करती है.

इसे ऐसे भी कहा जा सकता है कि ईरान में कहने को विदेश मंत्री होता है,लेकिन असल विदेश मंत्री की भूमिका क़ुद्स फ़ोर्स के प्रमुख ही निभाते हैं. ऐसा समझा जाता है कि बीते वर्षों में जब सीरिया में राष्ट्रपति बशर अल-असद के ख़िलाफ़ विद्रोह का बिगुल बजा, तो उसे दबाने में सीरियाई राष्ट्रपति की असल मदद जनरल सुलेमानी ने ही की थी. ऐसे ही इराक़ में जब इस्लामिक स्टेट मज़बूत होने लगा तो उसे परास्त करने में भी उनकी भूमिका अहम रही. उन्होंने इराक़ में ईरान-समर्थक अर्धसैनिक बलों का हाथ मज़बूत किया. जनरल सुलेमानी लंबे समय तक पर्दे के पीछे रहकर अभियानों की अगुआई करते रहे, मगर कुछ साल पहले वो ख़ुलकर सामने आए और इसके बाद वो ईरान में इतने लोकप्रिय हो गए कि उनके ऊपर लेख लिखे गए, डॉक्यूमेंट्रियाँ बनीं और यहाँ तक कि पॉप गीत भी बनने लगे.

अमरीकी ख़ुफ़िया एजेंसी सीआईए के एक पूर्व अधिकारी जॉन मैग्वायर ने छह साल पहले अमरीकी पत्रिका न्यूयॉर्कर से कहा,जनरल सुलेमानी मध्य-पूर्व में अभियान चलाने वाले सबसे ताक़तवर शख़्स हैं. सुलेमानी एक सैन्य अधिकारी के तौर पर ईरान के लिए बहुत महत्वपूर्ण थे. वे एक महत्वपूर्ण ख़ुफ़िया अधिकारी थे.उन्हें ईरान का सबसे महत्वपूर्ण राजनीतिक चेहरा कहना भी ग़लत नहीं होगा.

Thought of Nation राष्ट्र के विचार

The post ईरान पर हमले को लेकर चीन ने अमेरिका को दी चेतावनी appeared first on Thought of Nation.

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

किसान आंदोलन के चलते हरियाणा बीजेपी की फजीहत

किसान आंदोलन को लेकर हरियाणा की सत्तारूढ़ पार्टी भारतीय जनता पार्टी को अब फिर सत्ता में उसकी एक और सहयोगी पार्टी ने चेतावनी दी...
- Advertisement -

69.25 फीसदी मतदान के साथ पिपराली मतदान में अव्वल, अजीतगढ़ 9 पंचायतों में सबसे फिसड्डी

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में जिला परिषद व पंचायत समिति के तीसरे चरण के चुनाव में मंगलवार को 63.33 फीसदी मतदान हुआ।...

किसान आंदोलन को हल्के में सरकार का लेना और कांग्रेस की चिंता

दिल्ली के बॉर्डर पर बैठे किसानों का आंदोलन जितना ज़मीन पर है, उससे कहीं ज़्यादा सोशल मीडिया पर. सोशल मीडिया के जरिये यह आंदोलन...

शाहीन बाग की दादी हिरासत में

शाहीन बाग में केंद्र सरकार के नागरिकता कानून के खिलाफ खुलकर आवाज उठाने वालीं बिल्किस दादी अब किसानों को समर्थन करने दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर पहुंची...

Related News

किसान आंदोलन के चलते हरियाणा बीजेपी की फजीहत

किसान आंदोलन को लेकर हरियाणा की सत्तारूढ़ पार्टी भारतीय जनता पार्टी को अब फिर सत्ता में उसकी एक और सहयोगी पार्टी ने चेतावनी दी...

69.25 फीसदी मतदान के साथ पिपराली मतदान में अव्वल, अजीतगढ़ 9 पंचायतों में सबसे फिसड्डी

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में जिला परिषद व पंचायत समिति के तीसरे चरण के चुनाव में मंगलवार को 63.33 फीसदी मतदान हुआ।...

किसान आंदोलन को हल्के में सरकार का लेना और कांग्रेस की चिंता

दिल्ली के बॉर्डर पर बैठे किसानों का आंदोलन जितना ज़मीन पर है, उससे कहीं ज़्यादा सोशल मीडिया पर. सोशल मीडिया के जरिये यह आंदोलन...

शाहीन बाग की दादी हिरासत में

शाहीन बाग में केंद्र सरकार के नागरिकता कानून के खिलाफ खुलकर आवाज उठाने वालीं बिल्किस दादी अब किसानों को समर्थन करने दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर पहुंची...

दुल्हन ने लाल जोड़े का फंदा बनाकर की आत्म हत्या

(newly marriage bride commit suicide in sikar) सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में नई नवेली दुल्हन ने फांसी का फंदा लगाकर आत्म हत्या...
- Advertisement -