- Advertisement -
Home News Ca final exam Result : देश में टॉपर कोटपूतली (जयपुर) के...

Ca final exam Result : देश में टॉपर कोटपूतली (जयपुर) के अजय और छठी रैंक प्राप्त कृतिका से जाने सफलता के मूलमंत्र

- Advertisement -

कोटपूतली. सीए फाइनल परीक्षा (CA Result) में क्षेत्र के निवासी अजय अग्रवाल ने अखिल भारतीय स्तर पर परीक्षा में 800 में से 650 अंक प्राप्त कर प्रथम रैंक हासिल की है। इस उपलब्धि के साथ अजय के साथ एक दूसरी उपलब्धि भी जुड़ गई है। उन्होंने सीए काउंसिल में पिछले कई सालों में सर्वाधिक अंक प्राप्तांक किए हैं। इनके बड़े भाई अतुल अग्रवाल भी सीए फाइनल की 2018 परीक्षा में आल इण्डिया टॉपर रहे थे।
मूल रूप से दांतिल गांव निवासी साधारण परिवार में जन्मे अजय के पिता संतोष अग्रवाल कोटपूतली में दवा की दुकान करते हैं। माता मंजू देवी सामान्य गृहणी है। अजय ने बताया कि उन्होंने जयपुर में रहकर सीए फाइनल की तैयारी की। उनके बड़े भाई का मार्गदर्शन भी बराबर मिलता रहता है। उन्हें बड़े भाई के पिछले साल ऑल इण्डिया टॉप करने के बाद टॉपर(Topper) बनने की प्रेरणा मिली। तैयारी के लिए लगातार अध्यन किया। उन्होंने कहा कि सफलता के लिए लक्ष्य तय करना जरूरी है। सीए फाइनल की तैयारी के दौरान ही उनके मन में भाई की तरह आल इण्डिया टॉप करने की थी। इसके लिए कोचिंग के अलावा परिवार व मित्रों का पूरा सहयोग रहा। उन्होंने उन्होंने सफलता का श्रेय माता पिता व अपने बड़े भाई के अलावा कोचिंग संस्थान के गुरुजनों को दिया। इनके छोटे भाई सचिन भी सीए की तैयारी कर रहे हैं। पिता संतोष ने कहा कि उनका परिवार बेटे की इस उपलिब्ध पर गौरवान्वित महसूस कर रहा है। इसने परिवार के अलावा क्षेत्र का नाम रोशन किया है। अग्रवाल समाज के अध्यक्ष रघुबीर गोयल, डॉ.महेश अग्रवाल, पवन दीवान, अजीत अग्रवाल, वासुदेव दांतिल वाले व योगेश शरण आदि ने खुशी जताई है।(नि.स.)
सफर का नहीं चलता था पता
अजय ने पढ़ाई के प्रति लगाव के बारे में बताया कि वे अपने तीनों भाइयों व मां के साथ जयपुर में एक कमरे में रहते थे। कोटपूतली से जयपुर आते व जाते समय बस में भी उनके हाथों में किताब रहती थी और उन्हें समय का पता ही नहीं लगता था कि बस में बैठने के बाद कब जयपुर आ गया। मां का त्याग देख किया वायदा
पैसों की कमी के चलते पढ़ाई जारी रखने के लिए मां ने एक टाइम का खाना छोड़ दिया था। उस वक्त खुद से वादा किया था कि लाइफ में हमेशा टॉप पर रहना है। बस इसी मोटो के साथ पढ़ाई की। बड़े भाई ने गाइड किया और सेल्फ स्टडी पर फोकस रखा। मेरा मानना है कि टॉपर्स की गाइडेंस फॉलो करनी चाहिए। आप उनकी सक्सेस से सीख सकते हैं। वहीं सोशल मीडिया का मतलब सिर्फ वाट्सऐप और फेसबुक नहीं है। यहां से आप काफी कुछ सीख भी सकते हैं। एग्जाम के बाद वाट्सएप डाउनलोड
कोटपूतली. सीए फाइनल (न्यू कोर्स) में कस्बे की बेटी कृतिका अग्रवाल ने ऑल इंण्डिया मे 6वीं रैंक हासिल की है। कृतिका अग्रवाल ने 800 में से 583 अंक प्राप्त किए। कृतिका ने 6वीं रैंक हासिल करके माता-पिता व क्षेत्र के लोगों का गौरव बढ़ाया है। पिता दिनेश कुमार चौकड़ायत कपड़े का व्यवसाय करते हैं, वहीं माता मृदुला गोयल सामान्य गृहणी है। उन्होंने सफलता का श्रेय परिवारजनों के अलावा कोचिंग संस्थान को दिया। इसके चाचा अजीत गोयल ने बताया कि वह शुरू से मेधावी रही है। इससे पूर्व कृतिका ने कक्षा 10वीं व 12वीं बोर्ड की परीक्षा की योग्यता सूची में नाम रहा था। इसे अध्ययन के अलावा टेलीविजन देखने का शौक है। सोशल मीडिया से रही दूर
न्यू सिलेबस में ऑल इंडिया 6वीं रैंक स्कोर करने वाली कृतिका का कहना है कि रेगुलर स्टडी (Education) और पैशेंस से हर सफलता पाई जा सकती है। मैं हमेशा सोशल मीडिया से दूर रही और आज सीए फाइनल के रिजल्ट के बाद पहली बार वाट्सऐप इंस्टॉल किया है। स्टूडेंट्स दूसरे ऑथर्स को पढऩे की बजाय सिर्फ आइसीएआइ की ओर से जारी स्टडी मैटेरियल पर फोकस करें। डेली 8 से 10 घंटे पढ़ाई करती थी, वहीं एग्जाम टाइम में 15 घंटे तक पढ़ाई करती थी।
 

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

एक सिर कटी, दूसरी नीले नाखूनों के साथ और तीसरी फंदे पर लटकी मिली लाश

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में मंगलवार को तीन संदिग्ध मौत हुई। जिनमें एक बुजुर्ग की सिर कटी लाश रेलवे ट्रेक पर मिली,...
- Advertisement -

राजस्थान के चार लाख शिक्षकों को सरकारी राहत का इंतजार, इस सप्ताह होगा फैसला

सीकर. प्रदेश के चार लाख से अधिक शिक्षकों को सरकारी राहत का इंतजार है। दरअसल, प्रदेश में शिक्षा विभाग की ओर से हर...

राजस्थान में यहां 61 कोरोना पॉजीटिव मिले, 19 हुए स्वस्थ

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में 574 सैंपल की जांच में मंगलवार को 61 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए। जिसके बाद जिले में...

कविता: मैं कौन हूं

मैं कौन हूँ ये बार बार पूछा जाता है,मेरे वजूद का सुबूत हर बार मांगा जाता है |मौजूदगी का प्रमाण नतमस्तक होकर दूँ,कुंठित...

Related News

एक सिर कटी, दूसरी नीले नाखूनों के साथ और तीसरी फंदे पर लटकी मिली लाश

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में मंगलवार को तीन संदिग्ध मौत हुई। जिनमें एक बुजुर्ग की सिर कटी लाश रेलवे ट्रेक पर मिली,...

राजस्थान के चार लाख शिक्षकों को सरकारी राहत का इंतजार, इस सप्ताह होगा फैसला

सीकर. प्रदेश के चार लाख से अधिक शिक्षकों को सरकारी राहत का इंतजार है। दरअसल, प्रदेश में शिक्षा विभाग की ओर से हर...

राजस्थान में यहां 61 कोरोना पॉजीटिव मिले, 19 हुए स्वस्थ

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में 574 सैंपल की जांच में मंगलवार को 61 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए। जिसके बाद जिले में...

कविता: मैं कौन हूं

मैं कौन हूँ ये बार बार पूछा जाता है,मेरे वजूद का सुबूत हर बार मांगा जाता है |मौजूदगी का प्रमाण नतमस्तक होकर दूँ,कुंठित...

उपचुनाव का ऐलान होने पर कमलनाथ ने दिया बयान

चुनाव आयोग ने मंगलवार को 56 विधानसभा सीटों और एक लोकसभा सीट के लिए उपचुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया. बिहार की एक लोकसभा...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here