- Advertisement -
Home News भाजपा के समर्थक भाजपा की इज्जत उछाल रहे है

भाजपा के समर्थक भाजपा की इज्जत उछाल रहे है

- Advertisement -

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ देशभर में जारी विरोध प्रदर्शन और अधिकतर गैर-भाजपा शासित राज्यों द्वारा लागू न करने के ऐलान बीच सत्तारूढ़ भाजपा ने इस कानून को लेकर जागरूकता अभियान चलाया है.

इसके तहत पार्टी ने डोर-टू-डोर कैंपेन, रैली, बुद्धिजीवियों के साथ बैठक करने और मीडिया के माध्यम से आम जनता तक पहुंच बनाने की योजना तैयार की है. इसी रणनीति के तहत सीएए के पक्ष में समर्थन के लिए भाजपा ने एक मिस्ड कॉल नंबर -8866288662- भी जारी किया है. इस नंबर पर आने वाले मिस्ड कॉल को भाजपा सीएए के समर्थकों के रूप में पेश करेगी.

इससे पहले भाजपा अपनी पार्टी का सदस्य बनाने के लिए भी ऐसी ही मिस्ड कॉल सुविधा का सहारा ले चुकी है.

नागरिकता संशोधन अधिनियम – 2019 को अपना समर्थन देने के लिए 8866288662 पर मिस्ड कॉल करें। #IndiaSupportsCAA pic.twitter.com/AJ819hv6Ul— BJP (@BJP4India) January 2, 2020

मैं सभी देशवासियों से अपील करता हूँ कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आए अल्पसंख्यकों को न्याय व अधिकार देने वाले CAA पर अपना समर्थन देने के लिए 8866288662 पर missed call दें।#IndiaSupportsCAA pic.twitter.com/BYPuoU2oIN— Amit Shah (@AmitShah) January 3, 2020

शनिवार को सोशल मीडिया सामने आया कि भाजपा द्वारा जारी इस नंबर का इस्तेमाल तमाम ऑफर्स देने में किया जा रहा है. कुछ वेरीफाइड ट्विटर एकाउंट के साथ फर्जी और बोगस दिखने वाले एकाउंट्स द्वारा इस नंबर पर लड़कियों से बात करवाने, उपहार या ऑफर मिलने की बात कही गई है.

हालांकि जब इस बारे में नंबर को लेकर सवाल उठे, तब कुछ एकाउंट्स ने मजाक करने का दावा किया. कई एकाउंट भाजपा समर्थक होने का दावा करते हैं, साथ ही नंबर को लेकर ऑफर देने वाले एक ट्विटर एकाउंट द्वारा उसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फॉलो किए जाने का दावा किया गया है.

The story of CAA support, in four pictures… pic.twitter.com/ueLNmqDRr8— Meghnad (@Memeghnad) January 4, 2020
The creativity on display is highly amusing here… pic.twitter.com/dYjZHOtDwz— Meghnad (@Memeghnad) January 4, 2020
Job in HR Free ride in a Mercedes Air Force to your rescue Quiz Free daaru and chakna pic.twitter.com/XdOknXYPEy— Meghnad (@Memeghnad) January 4, 2020
OK wow. Now Cricket gods are being invoked by verified accounts.cc @imVkohli your good name is now being used for a “Support CAA helpline.” pic.twitter.com/pzLhaP7s0h— Meghnad (@Memeghnad) January 4, 2020

This is absolutely fake. If you want free Netflix please use someone else’s account like the rest of us. https://t.co/PHhwdA3sEI— Netflix India (@NetflixIndia) January 4, 2020जब अनेक ट्विटर एकाउंट से नेटफ्लिक्स सब्सक्रिप्शन दिए जाने का दावा किया जाने लगा तब नेटफ्लिक्स इंडिया को इन अफवाहों पर विराम लगाते हुए ट्वीट किया कि उनकी और से ऐसा कोई ऑफर नहीं दिया गया है. नेटफ्लिक्स इंडिया ने ट्वीट कर कहा, ‘यह पूरी तरह से फर्जी है. अगर आप फ्री नेटफ्लिक्स सब्सक्रिप्शन चाहते हैं तो हमारे जैसे बाकी लोगों की तरह आप भी किसी और का एकाउंट इस्तेमाल करिए.’

भाजपा की ओर से इस बारे में कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया गया है, लेकिन पार्टी पर सीएए के लिए समर्थन जुटाने के लिए गलत तरीके अपनाने के आरोप लग रहे हैं.

गौरतलब है कि नागरिकता कानून को लेकर देश के विभिन्न हिस्सों में विरोध प्रदर्शन चल रहे हैं. बीते दिसंबर में कानून आने के बाद से प्रधानमंत्री और गृहमंत्री द्वारा कई आश्वासनों के बावजूद इसके खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों में कमी नहीं आयी है.

इस कानून के तहत अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से भारत आए हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है. नागरिकता संशोधन कानून में उन मुसलमानों को नागरिकता देने के दायरे से बाहर रखा गया है जो भारत में शरण लेना चाहते हैं.

सोशल मीडिया पर बहुत से लोग सवाल उठा रहे हैं कि गृह मंत्री अमित शाह ने इस नंबर का प्रचार करते हुए पार्टी का मक़सद तो बताया है, लेकिन उन्होंने यह नहीं बताया कि जो डेटा वो जमा कर रहे हैं, उसकी मान्यता क्या होगी? वो भी तब जब इस नंबर पर ग़लत तरीक़े से मिस्ड कॉल पाने के लिए सोशल मीडिया यूज़र कई तरह के पैंतरे आज़मा रहे हैं.

बीते दो दिनों में पार्टी के अधिकांश बड़े नेता इस नंबर का अपने-अपने सोशल मीडिया अकाउंट से प्रचार कर चुके हैं. लेकिन इस नंबर का अब सोशल मीडिया पर मज़ाक उड़ाया जा रहा है और काफ़ी लोग इसकी आलोचना कर रहे हैं.

इसके जवाब में नेटफ़्लिक्स इंडिया ने लिखा, “यह एकदम फ़र्ज़ी ख़बर है.”

शनिवार को ही मध्य प्रदेश के एक स्थानीय कांग्रेस नेता देवाशीष जररिया ने भी नागरिकता संशोधन अधिनियम के विरोध में एक अलग मोबाइल नंबर जारी किया. यह नंबर शनिवार को ट्विटर के टॉप ट्रेंड्स में शामिल रहा.

उन्होंने भी बीजेपी की तर्ज़ पर लोगों से अपील की और #99535_88585_AgainstCAA के साथ लिखा, “आइये मिलकर विरोध दर्ज करवाएं. #IndiaAgainstCAA_NPR_NRC इस नंबर पर मिस कॉल करें और मोदी-शाह को बता दें कि देश का क्या मूड है.

Thought of Nation राष्ट्र के विचार
The post भाजपा के समर्थक भाजपा की इज्जत उछाल रहे है appeared first on Thought of Nation.

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

एक्ट्रेस हिमांशी खुराना भड़की कंगना रनौत पर

एक्ट्रेस कंगना रनौत का किसान आंदोलन का लेकर जो नजरिया रहा है, उस पर अलग ही बहस छिड़ गई है. उस सब के ऊपर...
- Advertisement -

आखिर क्यों बदनाम करना चाहते है किसान आंदोलन को भजपा के नेता

न जाने क्यों बीजेपी के नेता किसानों के आंदोलन के पीछे पड़ चुके हैं. अध्यादेश आने के बाद से ही किसान केंद्र सरकार तक...

राजस्थान में यहां एक दिन में 187 कोरोना मरीज हुए स्वस्थ, 30 नए पॉजिटिव

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में गुरुवार को 187 कोरोना मरीज स्वस्थ हुए। जबकि 30 नए कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए। जिसके बाद...

बैठक में किसानों ने ठुकराया सरकार का खाना, जानिए अब तक क्या हुआ

दिल्ली के विज्ञान भवन में सरकार और किसान नेताओं की बैठक जारी है. कृषि कानूनों पर सरकार और किसान नेताओं की चौथे दौर की...

Related News

एक्ट्रेस हिमांशी खुराना भड़की कंगना रनौत पर

एक्ट्रेस कंगना रनौत का किसान आंदोलन का लेकर जो नजरिया रहा है, उस पर अलग ही बहस छिड़ गई है. उस सब के ऊपर...

आखिर क्यों बदनाम करना चाहते है किसान आंदोलन को भजपा के नेता

न जाने क्यों बीजेपी के नेता किसानों के आंदोलन के पीछे पड़ चुके हैं. अध्यादेश आने के बाद से ही किसान केंद्र सरकार तक...

राजस्थान में यहां एक दिन में 187 कोरोना मरीज हुए स्वस्थ, 30 नए पॉजिटिव

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में गुरुवार को 187 कोरोना मरीज स्वस्थ हुए। जबकि 30 नए कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए। जिसके बाद...

बैठक में किसानों ने ठुकराया सरकार का खाना, जानिए अब तक क्या हुआ

दिल्ली के विज्ञान भवन में सरकार और किसान नेताओं की बैठक जारी है. कृषि कानूनों पर सरकार और किसान नेताओं की चौथे दौर की...

किसानों ने जिलेभर में किया प्रदर्शन, चुनाव बाद उग्र आंदोलन की तैयारी

सीकर. केन्द्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली में जारी किसानों के प्रदर्शन के समर्थन में सीकर में अखिल भारतीय किसान...
- Advertisement -