- Advertisement -
Home News आरएसएस के गढ़ नागपुर में BJP को झटका, कांग्रेस की बड़ी जीत

आरएसएस के गढ़ नागपुर में BJP को झटका, कांग्रेस की बड़ी जीत

- Advertisement -

महाराष्ट्र में बीजेपी से अलग होने के बाद शिवसेना ने कांग्रेस और एनसीपी संग सरकार बनाई है ऐसे में अभी बीजेपी इस झटके से ऊबर भी नहीं पाई थी.

पार्टी को जिला परिषद के चुनाव हार का सामना करना पड़ा है. 31 सीटों के साथ कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. दिलचस्प बात यह है कि बीजेपी को नागपुर में भी हार का सामना करना पड़ा है, जहां बीजेपी आमतौर मजबूत मानी जाती है.यही नहीं केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के गांव में भी पार्टी को हार का मुंह देखना पड़ा है.

भारतीय जनता पार्टी को नागपुर में जिला परिषद चुनाव में हार का सामना करना पड़ा है. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के गृह गांव धापेवाड़ा में भी बीजेपी को हार का मुंह देखना पड़ा है. यहां से कांग्रेस उम्मीदवार को जीत मिली है.31 सीटों के साथ कांग्रेस अभी तक सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है.

बताया जा रहा है कि अब तक के नतीजों के मुताबिक, 58 में से 31 सीटों पर कांग्रेस ने जीत हासिल की है, जबकि बीजेपी के पास सिर्फ 14 सीटें आईं हैं. एनसीपी को 10, शिवसेना को 1 और अन्य को 2 सीटों पर जीत मिली है.

गडकरी के गांव में भी हारी बीजेपी: गौरतलब है कि जिला परिषद चुनाव में गडकरी के गांव धपेवाड़ा में कांग्रेस उम्मीदवार महेंद्र डोंगरे को जीत मिली है. जहां महेंद्र डोंगरे को 9,444 वोट मिले, तो वहीं बीजेपी प्रत्याशी को महज 5,501 वोट ही हासिल हुए. बता दें कि धापेवाड़ा सीट तीन बार से बीजेपी के ही कब्जे में थी। लेकिन इस बार कांग्रेस ने यह सीट कब्ज़ा ली है.

आपको बताते चले कि 2019 के लोकसभा चुनाव में प्रचंड जीत के साथ भाजपा दिल्ली की सत्ता पर आई थी प्रधानमंत्री दोबारा मोदी बने थे, लेकिन 2019 लोकसभा चुनाव के बाद भाजपा को लगातार हार का मुंह देखना पड़ रहा है. भाजपा एक के बाद एक लगातार चुनाव हार रही है हाल ही में भाजपा ने महाराष्ट्र और झारखंड की सत्ता गवाई है, ऐसे में आरएसएस के गढ़ नागपुर में भाजपा की इतनी बुरी हार पार्टी के लिए जरूर चिंता का सबब बनेगी.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के गृह गांव धापेवाड़ा में भी बीजेपी को हार का मुंह देखना पड़ा है. यहां से कांग्रेस उम्मीदवार को जीत मिली है. 31 सीटों के साथ कांग्रेस अभी तक सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. नितिन गडकरी खुद आरएसएस के प्रचारक है.पिछले बार नागपुर में बीजेपी को 22 सीटें मिली थी जबकि कांग्रेस के हाथ में 19 सीटें लगी थीं. जबकि एनसीपी को 7 सीटों पर जीत हाथ लगी थी. इस बार के चुनाव में खास बात यह है कि केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के गांव में भी बीजेपी अपनी सीट नहीं बचा पाई है.

पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और पूर्व मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले का गृह क्षेत्र नागपुर ही है. यहां बीजेपी की हुई हार तीनों बड़े नेताओं के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है. इस समय देश में लगातार भाजपा की नीतियों का विरोध हो रहा है. देश के अलग-अलग राज्यों में भाजपा के खिलाफ आंदोलन हो रहे हैं, पूरे देश में छात्र सरकार के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं. अपनी मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं भाजपा लगातार जनता के मुद्दों पर फंसती जा रही है.

आपको बताते चले कि अभी महाराष्ट्र के साथ-साथ पूरे देश में सावरकर के नाम पर विवाद हो रहा है. कांग्रेस लगातार सावरकर पर हमलावर है कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और कांग्रेस नेता राहुल गांधी लगातार आरएसएस पर हमले करते रहे हैं. राहुल गांधी लगातार सावरकर को लेकर भाजपा से सवाल करते रहे हैं. गौरतलब है कि सावरकर ब्रिटिश हुकूमत में अंग्रेजों से माफी मांग कर जेल से छूटे थे.

Thought of Nation राष्ट्र के विचार

The post आरएसएस के गढ़ नागपुर में BJP को झटका, कांग्रेस की बड़ी जीत appeared first on Thought of Nation.

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

एक्ट्रेस हिमांशी खुराना भड़की कंगना रनौत पर

एक्ट्रेस कंगना रनौत का किसान आंदोलन का लेकर जो नजरिया रहा है, उस पर अलग ही बहस छिड़ गई है. उस सब के ऊपर...
- Advertisement -

आखिर क्यों बदनाम करना चाहते है किसान आंदोलन को भजपा के नेता

न जाने क्यों बीजेपी के नेता किसानों के आंदोलन के पीछे पड़ चुके हैं. अध्यादेश आने के बाद से ही किसान केंद्र सरकार तक...

राजस्थान में यहां एक दिन में 187 कोरोना मरीज हुए स्वस्थ, 30 नए पॉजिटिव

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में गुरुवार को 187 कोरोना मरीज स्वस्थ हुए। जबकि 30 नए कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए। जिसके बाद...

बैठक में किसानों ने ठुकराया सरकार का खाना, जानिए अब तक क्या हुआ

दिल्ली के विज्ञान भवन में सरकार और किसान नेताओं की बैठक जारी है. कृषि कानूनों पर सरकार और किसान नेताओं की चौथे दौर की...

Related News

एक्ट्रेस हिमांशी खुराना भड़की कंगना रनौत पर

एक्ट्रेस कंगना रनौत का किसान आंदोलन का लेकर जो नजरिया रहा है, उस पर अलग ही बहस छिड़ गई है. उस सब के ऊपर...

आखिर क्यों बदनाम करना चाहते है किसान आंदोलन को भजपा के नेता

न जाने क्यों बीजेपी के नेता किसानों के आंदोलन के पीछे पड़ चुके हैं. अध्यादेश आने के बाद से ही किसान केंद्र सरकार तक...

राजस्थान में यहां एक दिन में 187 कोरोना मरीज हुए स्वस्थ, 30 नए पॉजिटिव

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में गुरुवार को 187 कोरोना मरीज स्वस्थ हुए। जबकि 30 नए कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए। जिसके बाद...

बैठक में किसानों ने ठुकराया सरकार का खाना, जानिए अब तक क्या हुआ

दिल्ली के विज्ञान भवन में सरकार और किसान नेताओं की बैठक जारी है. कृषि कानूनों पर सरकार और किसान नेताओं की चौथे दौर की...

किसानों ने जिलेभर में किया प्रदर्शन, चुनाव बाद उग्र आंदोलन की तैयारी

सीकर. केन्द्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली में जारी किसानों के प्रदर्शन के समर्थन में सीकर में अखिल भारतीय किसान...
- Advertisement -