- Advertisement -
Home News प्रधानमंत्री मोदी को राखी बांधकर बांसवाड़ा की बेटी चेताली ने मनाया रक्षा...

प्रधानमंत्री मोदी को राखी बांधकर बांसवाड़ा की बेटी चेताली ने मनाया रक्षा बंधन पर्व, पाया आशीष

- Advertisement -

बांसवाड़ा. जीवन के कुछ पल ऐसे भी आते हैं, जो पूरी उम्र के लिए अविस्मरणीय बन जाते हैं। कुछ ऐसा ही बांसवाड़ा की बेटी चेताली भटेवरा के साथ हुआ, जब उसने इस बार स्वाधीनता दिवस पर रक्षाबंधन का पर्व नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को राखी बांधकर मनाया।
राजस्थान-मध्यप्रदेश सीमा पर स्थित बड़ी सरवा कस्बे की निवासी चेताली अपने स्कूल की व्याख्याता और तीन छात्राओं के साथ नई दिल्ली गई थी। 11वीं विज्ञान वर्ग की छात्रा चेताली बताती हैं कि बामनिया में महाशय धर्मपाल एमडीएच दयानंद आर्य विद्या निकेतन की पहल पर उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात ही नहीं, राखी बांधने का अवसर मिला, जो हमेशा यादगार रहेगा।
महाराष्ट्र में बाढ़ पीडि़तों की मदद के लिए आगे आए वागड़वासी, राहत सामग्री लेकर 11 सदस्यों का दल रवाना
स्कूल से स्वीकृति मांगने पर जब प्रधानमंत्री कार्यालय से ई-मेल के जरिए पत्र आया तो इसकी जानकारी पाकर उसके आश्चर्य की सीमा नहीं रही। फिर कविता त्रिपाठी मेडम और अन्य छात्राओं के साथ 15 अगस्त की सुबह करीब 9.30 बजे पीएमओ पहुंची, तो वहां प्रधानमंत्री मोदी से मिलने वालों का तांता देखकर सन्न रह गई। करीब पौन घंटे बाद प्रधानमंत्री मोदी उपलब्ध हुए तो उनसे मिलने-मिलाने का सिलसिला चला। बड़े-बुजुर्गों से भेंट और राखी बंधवाते समय किसी के भी विश करने पर वे सेम टू यू ही कहते रहे, लेकिन जब बच्चों की बारी आईं तो वे काफी सहज हो उठे।बकौल चेताली, जब उनकी स्कूल टीम की बारी आई, तो जैसे ही उसने राखी बांधकर पैर छूए तो प्रधानमंत्री ने माथे पर हाथ रखकर आशीर्वाद दिया। उस समय लगा मानो कोई सपना पूरा होता दिखलाई दे रहा हो।
रक्षाबंधन पर वैदिक मंत्रों के साथ हुए श्रावणी उपाकर्म, पूजा-अर्चना के बाद विप्रवरों ने धारण किए यज्ञोपवीत
चेताली बताती हैं कि चंद पलों में मनाया राखी का यह पर्व जीवनभर याद रहेगा। गौरतलब है कि चेताली के पिता राजेंद्रकुमार भटेवरा बड़ी सरवा में किराणा कारोबारी हैं और बेटी एमडीएच स्कूल, बामनिया में अपनी क्लास की मॉनीटर होने के साथ हेड गर्ल भी है।

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

क्या कृषि विधेयकों के विरोध से डर गई सरकार?

क्या सरकार कृषि विधेयकों पर किसानों के गुस्से से डर गई है? या उसे अपने ही मंत्रिमंडल के एक सहयोगी के इस्तीफ़े ने हिला...
- Advertisement -

राजस्थान में यहां 22 कोरोना पॉजिटिव, एक मौत की पुष्टि

(22 corona positive found in sikar) सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में सोमवार को कोरेाना (corona virus) से फिर एक मौत की पुष्टि...

डॉ. कफील बोले- अभी राजनीति में उतरने का समय नहीं

डॉक्टर कफील खान की मथुरा जेल से रिहाई के 20 दिनों बाद सोमवार को दिल्ली में उनकी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी से मुलाकात हुई. डॉक्टर...

बैग में रखे 3.50 लाख रुपये में से पांच मिनट में कम हो गए 2 लाख रुपये

सीकर/ खाचरियावास. राजस्थान के सीकर जिले के दांतारामगढ़ कस्बे के कुली गांव में सोमवार को एक बैग में भरकर रखे गए 3 लाख...

Related News

क्या कृषि विधेयकों के विरोध से डर गई सरकार?

क्या सरकार कृषि विधेयकों पर किसानों के गुस्से से डर गई है? या उसे अपने ही मंत्रिमंडल के एक सहयोगी के इस्तीफ़े ने हिला...

राजस्थान में यहां 22 कोरोना पॉजिटिव, एक मौत की पुष्टि

(22 corona positive found in sikar) सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में सोमवार को कोरेाना (corona virus) से फिर एक मौत की पुष्टि...

डॉ. कफील बोले- अभी राजनीति में उतरने का समय नहीं

डॉक्टर कफील खान की मथुरा जेल से रिहाई के 20 दिनों बाद सोमवार को दिल्ली में उनकी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी से मुलाकात हुई. डॉक्टर...

बैग में रखे 3.50 लाख रुपये में से पांच मिनट में कम हो गए 2 लाख रुपये

सीकर/ खाचरियावास. राजस्थान के सीकर जिले के दांतारामगढ़ कस्बे के कुली गांव में सोमवार को एक बैग में भरकर रखे गए 3 लाख...

क्या है जनता के इस गुस्से के मायने?

हाल के दिनों में नीतीश सरकार के कई मंत्रियों और विधायकों ने मारपीट का आरोप लगाया है. एनडीएए (NDA) के ये विधायक और मंत्री...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here