- Advertisement -
Home News Aajkal Bharat अशोक गहलोत ने पीएम को लिखा पत्र, राजस्थानी भाषा को संविधान की...

अशोक गहलोत ने पीएम को लिखा पत्र, राजस्थानी भाषा को संविधान की 8वीं अनुसूची में शामिल करने का किया अनुरोध

- Advertisement -

आजकलराजस्थान / जयपुर, 12 सितम्बर। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर राजस्थानी भाषा को संविधान की 8वीं अनुसूची में शामिल करने और इसे संवैधानिक मान्यता देने का अनुरोध किया है। 
राजस्थान विधानसभा ने 2003 में पारित किया था संकल्प
मुख्यमंत्री ने अपने पत्र में लिखा है कि उनके पिछले कार्यकाल में राजस्थान विधानसभा द्वारा वर्ष 2003 में सर्वसम्मति से एक संकल्प पारित कर केन्द्र सरकार को भेजा गया था, जिसमें राजस्थानी को संविधान की 8वीं अनुसूची में सम्मिलित करने का अनुरोध किया गया था। इसके बाद भी कई बार राजस्थानी भाषा को संवैधानिक मान्यता देने के लिए राज्य सरकार की ओर से अनुरोध किया जाता रहा है। 
राजस्थानी देश की समृद्धतम स्वतंत्र भाषाओं में से एक
श्री गहलोत ने पत्र में आगे लिखा है कि राजस्थानी देश की समृद्धतम स्वतंत्र भाषाओं में से एक है जिसका अपना इतिहास है। राजस्थानी के बारे में लगभग 1000 ई. से 1500 ई. के कालखंड को ध्यान में रखकर गुजराती भाषा एवं साहित्य के मर्मज्ञ स्व. श्री झवेरचंद मेघाणी ने भी लिखा है कि राजस्थानी व्यापक बोलचाल की भाषा है और इसी की पुत्रियां बाद में ब्रजभाषा, गुजराती का नाम धारण कर स्वतंत्र भाषाएं बनी। अन्य भाषाओं की तरह ही राजस्थानी की भी मारवाड़ी, मेवाड़ी, ढूंढ़ाड़ी, वागड़ी आदि कई बोलियां हैं। ये बोलियां इसे वैसे ही समृद्ध करती हैं जैसे पेड़ को उसकी शाखाएं। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि संविधान में इस बात का स्पष्ट उल्लेख है कि एक भूभाग की अगर कोई भाषा है तो उसे बचाया और संरक्षित किया जाए। राजस्थानी भाषा को मान्यता मिलना हमारी संस्कृति और समृद्ध परम्पराओं से नई पीढ़ी को अवगत करवाने के साथ ही भावी पीढ़ियों के मानवीय अधिकारों के संरक्षण की दिशा में एक सराहनीय कदम होगा। 
महापात्र समिति ने भी की थी सिफारिश
श्री गहलोत ने कहा कि संविधान की 8वीं अनुसूची में सम्मिलित भाषाओं के अलावा दूसरी भाषाओं को इसमें शामिल करने एवं इसके लिए वस्तुनिष्ठ मानदंड तैयार करने के लिए श्री सीताकांत महापात्र की अध्यक्षता में गठित समिति ने भी अपनी सिफारिशों में राजस्थानी को संवैधानिक भाषा के दर्जे के लिए पात्र बताया था। यह विडम्बना है कि इतना समय गुजरने के बाद भी समिति की सिफारिशें केन्द्रीय गृह मंत्रालय में विचाराधीन हैं और अभी तक राजस्थानी को संवैधानिक भाषा का दर्जा नहीं मिल पाया है।
मुख्यमंत्री ने पत्र के माध्यम से प्रधानमंत्री से आग्रह किया कि राजस्थान विधानसभा द्वारा वर्ष 2003 में भेजे गये राजस्थानी को संविधान की 8वीं अनुसूची में सम्मिलित करने संबंधी संकल्प का सम्मान करते हुए राजस्थानी को संवैधानिक मान्यता देने के संबंध में यथोचित आदेश प्रसारित कराएं

Advertisement
Advertisement

- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

वन नेशन,वन इलेक्शन को PM ने बताया है देश की जरूरत. जान लीजिये नफा नुकसान

बीजेपी और खुद पीएम मोदी वन नेशन वन इलेक्शन की वकालत कर चुके हैं. उनका कहना है कि देश में अलग-अलग चुनावों में होने...
- Advertisement -

केरोसिन डालकर आत्मदाह करती विवाहिता का वीडियो वायरल

सीकर. ससुराल में आत्म दाह करने वाली वाली सीकर निवासी विवाहिता मनीषा का खुद पर केरोसिन डालकर आग लगाते हुए का दिल दहला...

खट्टर पर कैप्टन अमरिंदर सिंह का पलटवार

पंजाब से लेकर हरियाणा तक किसानों के विरोध प्रदर्शन का व्यापक असर दिख रहा है. अंबाला बॉर्डर पर किसान और पुलिस आमने-सामने आए. जहां...

बारात में गए युवक की घर ले जाकर पीट-पीट कर हत्या, परिजनों का शव लेने से इन्कार

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले खंडेला थाना इलाके के गांव रामपुरा में बारात से लौट रहे एक 20 वर्षीय युवक की हत्या का...

Related News

वन नेशन,वन इलेक्शन को PM ने बताया है देश की जरूरत. जान लीजिये नफा नुकसान

बीजेपी और खुद पीएम मोदी वन नेशन वन इलेक्शन की वकालत कर चुके हैं. उनका कहना है कि देश में अलग-अलग चुनावों में होने...

केरोसिन डालकर आत्मदाह करती विवाहिता का वीडियो वायरल

सीकर. ससुराल में आत्म दाह करने वाली वाली सीकर निवासी विवाहिता मनीषा का खुद पर केरोसिन डालकर आग लगाते हुए का दिल दहला...

खट्टर पर कैप्टन अमरिंदर सिंह का पलटवार

पंजाब से लेकर हरियाणा तक किसानों के विरोध प्रदर्शन का व्यापक असर दिख रहा है. अंबाला बॉर्डर पर किसान और पुलिस आमने-सामने आए. जहां...

बारात में गए युवक की घर ले जाकर पीट-पीट कर हत्या, परिजनों का शव लेने से इन्कार

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले खंडेला थाना इलाके के गांव रामपुरा में बारात से लौट रहे एक 20 वर्षीय युवक की हत्या का...

कांग्रेस हार रही है भाजपा जीत रही है, क्यों? समझिये इसे

देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस को एक के बाद एक झटके लग रहे हैं कभी चुनावी हार के रूप में तो कभी अपने...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here