- Advertisement -
Home News Aajkal Bharat जम्मू कश्मीर में आतंकियों द्वारा दो ट्रक ड्राइवर की हत्या के बाद...

जम्मू कश्मीर में आतंकियों द्वारा दो ट्रक ड्राइवर की हत्या के बाद परिजनों का शव लेने से इनकार, आर्थिक मदद और सरकारी नौकरी की मा

- Advertisement -

Aajkal Rajasthan News/Alwar

गुरुवार को कश्मीर के शोपियां में दो ट्रक ड्राइवरों की हत्या के बाद शनिवार को अलवर के इलियास खान और भरतपुर के जाहिद का शव उनके पैतृक गांव पहुंचा। जहां परिजनों ने शव लेने से इंकार कर दिया।

इलियास परिजनों की मांग है कि उन्हे 15 लाख रुपए और सरकारी नौकरी दी जाए। उन्होंने पीएम मोदी से मदद की मांग की। साथ ही कश्मीर में शांति के दावों को गलत बताया। वहीं जाहिद के परिवार ने सरकारी नौकरी के साथ 50 लाख रुपए की मांग की है। साथ ही 10 बीघा जमीन भी मांगी गई है।दोनों मृतक के परिजनों ने मांग पूरी होने तक शव लेने से इनकार कर दिया है।

देररात समझाईश करने पर भी जब परिजन नहीं माने तो जिला प्रशासन ने शव को मोर्चरी में रखवा दिया। इससे पहले रामगढ़ विधायक साफिया खान ने शुक्रवार को गांव खोहा बास पहुचंकर इलियास के परिजनों को ढांढस बंधाया और मुख्यमंत्री सहायता कोष से आर्थिक मदद एवं आवास योजना के तहत पक्के मकान व विधवा पेंशन शुरू करवाने का आश्वासन दिया। किशनगढ़बास एसडीएम सुरेन्द्र प्रसाद, थानाधिकारी अजीत सिंह व तहसीलदार हेमेंद्र गोयल भी गांव पहुंचकर पीड़ित परिवार से मिले।

इलियास तो ट्रक का मालिक भी नहीं था

मृतक इलियास खान (45)के 4 भाई हैं। बड़े भाई भुट्टो खां ने बताया कि इलियास 16 अक्टूबर की रात जयपुर से सेना के लिए दूध लेकर गया था। भतीजे मोहम्मद तालिब ने बताया कि 17 अक्टूबर को उसके फूफा जयपुर में थे और रास्ता पूछ रहे थे कि गांधी नगर कैसे जाना है, क्योंकि नो-एंट्री हो चुकी थी। इसके बाद उनसे कोई संपर्क नहीं हुआ। इलियास जिस ट्रक को चलता है, वह ट्रक नाैगांवा के ओदाका गांव निवासी जावेद के नाम पर रजिस्टर्ड है।

इलियास के घर में अब कोई कमाने वाला नहीं

इलियास के घर में अब कमाने वाला कोई नहीं है। उसके परिवार की अार्थिक स्थिति खराब है। मकान भी कच्चा-पक्का सा बना हुअा है। इलियास के परिवार में उसकी पत्नी मुबीना के अलावा 4 बच्चे हैं। इनमें एक बेटा साकिर (14) आठवीं में पढ़ता है। बेटी इमराना (17) 12वीं और अंजुम (12) आठवीं क्लास में मदरसा में पढ़ती है। बड़ी बेटी अरस्तूना की शादी हो चुकी।

सीएम सहायता कोष से दो लाख की आर्थिक मदद

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों द्वारा मारे गए अलवर के खोह बास निवासी ड्राइवर इलियास खां को मुख्यमंत्री सहायता कोष से 2 लाख रुपए की सहायता राशि जारी की गई है। यह राशि सीएम सहायता कोष नियमों में शिथिलता प्रदान करते हुए जारी की गई है।

एडीएम प्रथम रामचरण शर्मा ने आजकल राजस्थान न्यूज को बताया कि इसके अलावा जम्मू-कश्मीर सरकार का प्रावधान 4.50 लाख रुपए का है। फिलहाल यह सहायता पीड़त परिवार को जारी की गई है।

फोटो इलियास खान का परिवार

Aajkal Rajasthan News

truck driver killed in kashmir Family demand Goverment job and money

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

378 हेल्थ वर्कर्स को लगा कोरोना टीका, एक मिला कोरोना पॉजिटिव

सीकर. कोविड-19 टीकाकरण के दूसरे दिन सोमवार को जिले में 378 हैल्थ वर्कर्स ने कोरोना टीका लगवाया। टीकाकरण शहर के एसके अस्पताल, दांता,...
- Advertisement -

बवाल के बीच ‘तांडव’ के डायरेक्टर ने मांगी माफी

वेब सीरीज तांडव को लेकर मचे हंगामे के बीच डायरेक्टर अली अब्बास जफर का माफी से जुड़ा एक लेटर सामने आया है. उन्होंने लेटर...

सुलगती रही आग, एक और घायल ने दम तोड़ा

फतेहपुर. समय सुबह सात बजे। हल्का-हल्का कोहरा छाया हुआ था। नेशनल हाइवे के पुलिया के पास जाते ही ऐसी दुर्गंध आ रही थी...

अच्छे भाव की चाह में आया प्याज

सीकर. शेखावाटी के प्याज उत्पादक किसान कोरोना काल में हुए घाटे से बचने की जुगत में इस बार अगेती प्याज को मंडी में...

Related News

378 हेल्थ वर्कर्स को लगा कोरोना टीका, एक मिला कोरोना पॉजिटिव

सीकर. कोविड-19 टीकाकरण के दूसरे दिन सोमवार को जिले में 378 हैल्थ वर्कर्स ने कोरोना टीका लगवाया। टीकाकरण शहर के एसके अस्पताल, दांता,...

बवाल के बीच ‘तांडव’ के डायरेक्टर ने मांगी माफी

वेब सीरीज तांडव को लेकर मचे हंगामे के बीच डायरेक्टर अली अब्बास जफर का माफी से जुड़ा एक लेटर सामने आया है. उन्होंने लेटर...

सुलगती रही आग, एक और घायल ने दम तोड़ा

फतेहपुर. समय सुबह सात बजे। हल्का-हल्का कोहरा छाया हुआ था। नेशनल हाइवे के पुलिया के पास जाते ही ऐसी दुर्गंध आ रही थी...

अच्छे भाव की चाह में आया प्याज

सीकर. शेखावाटी के प्याज उत्पादक किसान कोरोना काल में हुए घाटे से बचने की जुगत में इस बार अगेती प्याज को मंडी में...

गोशाला संचालकों को सरकार का एक और झटका

फतेहपुर/सीकर. प्रदेश के गौशाला संचालकों को कांग्रेस सरकार ने एक और बड़ा झटका दे दिया है। 15 साल से गौशालाओं को बिजली बिलों...
- Advertisement -