- Advertisement -
Home News राजस्थान में खतरे के निशान से ऊपर चंबल नदी, प्रशासन ने बंद...

राजस्थान में खतरे के निशान से ऊपर चंबल नदी, प्रशासन ने बंद किया नावों का संचालन, जारी किया रेड अलर्ट!

- Advertisement -

धौलपुर। हाड़ौती क्षेत्र ( hadoti area ) में लगातार बारिश के कारण कोटा बैराज ( Kota Barrage Dam ) के गेट खोलने के बाद धौलपुर से निकल रही चम्बल नदी ( River Chambal ) अब पूरे उफान पर है। चंबल अब खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। चंबल का गेज फिलहाल 130.50 मीटर है। वहीं 129.79 पर खतरे का निशान है। यानी अब इलाके में खतरा है, जिसे लेकर प्रशासन ने अलर्ट ( Heavy Rain Alert in Dholpur ) जारी किया है।
 
 
 गौरतलब है कि चंबल का गेज रविवार शाम को 128.20 मीटर पर पहुंच गया था, जो इस सीजन का सबसे अधिक स्तर था। क्योंकि खतरे का निशान ( danger Mark ) 129.70 पर है। वहीं शनिवार को नदी का गेज 126.20 मीटर पर था। इसके चलते प्रशासन ने नदी के समीपवर्ती निचले इलाकों में पटवारियों को भेजकर अलर्ट जारी करवा दिया था।सिंचाई विभाग के अधिकारी भी लगातार मॉनिटरिंग पर थे। अधिकारियों ने रविवार को कई गांवों का दौरा भी किया था। साथ ही ग्रामीणों को नदी के आसपास नहीं जाने के लिए ताकीद किया था। सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता सुरेश मीणा ने बताया कि चम्बल का गेज रविवार शाम को 128.20 पर पहुंच गया। गांवों में अलर्ट जारी है। स्थिति पर पूरी निगाह रखे हुए हैं। इधर, जिला कलक्टर नेहा गिरी के आदेश पर प्रशासन ने जिले के तीन तरफ से निकल रही चम्बल नदी क्षेत्र में चल रही नावों के संचालन पर भी रोक लगा दी थी। उल्लेखनीय है कि चम्बल नदी का बहाव बढऩे के साथ निचले इलाकों के गांवों में पानी घुसने लगता है। चंबल के खतरे के निशान से ऊपर बहने के कारण अब ऐसी स्थितियां उत्पन्न हो गईं हैं। गत बार भी चम्बल नदी का गेज 131 मीटर तक पहुंच गया था, लेकिन कोई अनहोनी नहीं हुई थी।
 
उधर, कोटा, भीलवाड़ा व झालावाड़ में भारी बारिश व बाढ़ के हालात के चलते जिला कलक्टर ने सभी सरकारी व निजी स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया है। कैथून में तो बाढ़ से हालात और भी ज्यादा खराब हैं। यहां घरों में 4 से 5 फीट पानी भर गया है। हालातों को देखते हुए जिला कलक्टर ने सेना से मदद मांगी है। एनडीआरएफ ( NDRF ) की टीम राहत कार्य में जुटी हुई है। मौसम विभाग ( IMD ) ने यहां भारी से भी बारिश का रेड अलर्ट ( Red Alert in Rajasthan ) जारी किया है। कोटा ( Heavy Rain in Kota ) में 24 घंटे में 6 इंच बारिश दर्ज की गई है।

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

राजस्थान के किसानों ने केंद्र को सुनाई खरी-खरी

केंद्र सरकार ने 6 रबी फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी की है, लेकिन कई किसान संगठन इससे ज्यादा खुश नहीं हैं. किसान महापंचायत...
- Advertisement -

स्वास्थ्य विभाग ने छुपाई कोरोना से मौतें!, 65 पॉजिटिव मिले

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में कोरोना पॉजिटिव केस के साथ मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। जिले में बुधवार को भी...

स्वास्थ्य विभाग ने छुपाई कोरोना से मौतें!, 65 पॉजिटिव मिले

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में कोरोना पॉजिटिव केस के साथ मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। जिले में बुधवार को भी...

वह बाहुबली जिसके पीछे हाथ धोकर पड़ी रही यूपी-बिहार की पुलिस, BJP के टिकट से होना चाहते हैं ‘पवित्र’

बाहुबलियों की राजनीति, गुनाहों की गलियों से निकले उन सियासतदानों का सच है जिनके दामन पर यूं तो गुनाहों के दाग हैं, लेकिन सियासत...

Related News

राजस्थान के किसानों ने केंद्र को सुनाई खरी-खरी

केंद्र सरकार ने 6 रबी फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी की है, लेकिन कई किसान संगठन इससे ज्यादा खुश नहीं हैं. किसान महापंचायत...

स्वास्थ्य विभाग ने छुपाई कोरोना से मौतें!, 65 पॉजिटिव मिले

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में कोरोना पॉजिटिव केस के साथ मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। जिले में बुधवार को भी...

स्वास्थ्य विभाग ने छुपाई कोरोना से मौतें!, 65 पॉजिटिव मिले

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में कोरोना पॉजिटिव केस के साथ मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। जिले में बुधवार को भी...

वह बाहुबली जिसके पीछे हाथ धोकर पड़ी रही यूपी-बिहार की पुलिस, BJP के टिकट से होना चाहते हैं ‘पवित्र’

बाहुबलियों की राजनीति, गुनाहों की गलियों से निकले उन सियासतदानों का सच है जिनके दामन पर यूं तो गुनाहों के दाग हैं, लेकिन सियासत...

राजस्थान में यहां मनरेगा की खुदाई में मिले हड़प्पाकालीन संस्कृति के अवशेष

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले के बिंज्यासी गांव में मनरेगा की खुदाई में मिले आभूषण हडप्पाकालीन संस्कृति के है। पुरातत्व विभाग की जांच...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here