- Advertisement -
Home News मानसून मेहरबान, खुशियों से नहाया राजस्थान, छलक पड़े 220 बांध

मानसून मेहरबान, खुशियों से नहाया राजस्थान, छलक पड़े 220 बांध

- Advertisement -

विजय शर्मा / जयपुर. राजस्थान में इस बार मानसून ( Heavy Rain in Rajasthan ) मेहरबान हुआ है। भले ही प्रदेश में 17 दिन देरी से मानसून आया है, लेकिन सवा महीने में ही पूरे मानसून की बारिश का कोटा पूरा कर लिया है। प्रदेश में सौ फीसदी से अधिक बारिश हो चुकी है।
 
 
बांधों की स्थिति पर नजर डालें तो 220 बांधों पर चादर चल चुकी है। वहीं 11 जिलों में 60 फीसदी से अधिक बारिश हो चुकी है। सामान्य से अधिक बारिश से प्रदेश के कई शहरों में पेयजल संकट दूर होने की संभावनाएं जताई जा रही है।
 
 
टोंंक के बीसलपुर बांध ( Tonk’s Bisalpur Dam ) झलकने के कगार पर आ गया है। इससे जयपुर के लिए ढाई साल पानी का इंतजाम हो गया है। इधर सामान्य से अधिक बारिश किसानों के लिए चिंता का विषय बन सकती है।
 
सामान्य से अधिक बारिश से क्या असर पडा
इस बारिश के बाद से खत्म हो जाएगी इन शहरों की पेयजल समस्याराज्य के 222 शहरों में से 100 से ज्यादा शहर ऐसे हैं, जहां लोगों को दो से पांच दिन तक इंतजार करना पड़ रहा है। जबकि, 28 शहरों के बांशिदों को 72 घंटे में और 67 शहरों में पेयजल सप्लाई दो दिन में दी जा रही है।
 
 
वहीं, 110 शहरों में चौबीस घंटे में 45 मिनट से दो घंटे के बीच पानी दिया जा रहा है। जल संसाधन विभाग से सेवानिवृत्त मुख्य अभियंता विनोद शाह का कहना है कि प्रदेश में हो रही बारिश और जलाशयों के भरने से इन शहरों की पेयजल समस्या का समाधान हो पाएगा। इधर बीसलपुर में पानी आने के बाद जयपुर में दो साल की पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था हो गई है।
 
बारिश :
– 534.17 एमएम बारिश हुई अभी तक प्रदेश में
100 फीसदी बारिश हुई राजस्थान में
60 फीसदी से ज्यादा बारिश हो चुकी है 11 जिलों में
 
 
 
राजस्थान के प्रमुख बांधों के हालात –
टोंक : बीसलपुर बांध ( Bisalpur Dam Overflow ) में 315.50 आरएल मीटर के मुकाबले अब तक 315.15 आरएल मीटर पानी आ चुका है। ये बांध छलकने के करीब है। बांसवाड़ा : क्षेत्र के सभी जलाशय लगभग लबालब है। सबसे बड़े माही डैम के 16 गेट खोले जा चुके हैं और पानी की आवक जारी है। बांध का जल स्तर 281.35 मीटर है।
 
कोटा : चम्बल नदी ( Chambal River ) के सबसे बड़ा बांध गांधी सागर ( Gandhi Sagar Dam ) 1312 के मुकाबले 1304 फीट भर चुका है, कभी भी गेट खोले जा सकते है, यह जल स्तर 2006 के बाद आया है।
राणा प्रताप बांध की जलभराव क्षमता : 1157 फीट – अभी पानी : 1153. 4 फीट
जवाहर सागर बांध : 980 फीट – अभी पानी : 974 फिट
भरतपुर : बंध बारैटा में 20 फीट पानी, भराव क्षमता 29 फीट हैपिकनिट स्पॉट
बीसलपुर बांध ( bisalpur dam ) में पानी ( water ) की बम्पर आवक के बाद वहां लोगों की भीड़ ( crowd ) जुटनी शुरु हो गई है। लोग लबालब बांध के साथ खुद को सेल्फी ( selfie ) मोड में देखकर खुश हो रहे हैं। यह जगह एक पिकनिट स्पॉट ( picnic spot ) की तरह बन चुकी है। राजस्थान में बारिश
जोधपुर, अजमेर, भरतपुर, जयपुर, कोटा, उदयपुर संभाग में सामान्य से अधिक बारिश दर्ज की गई है। वहीं बीकानेर संभाग में अभी सामान्य से कम बारिश हुई है।
 
 

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

प्रियंका गांधी चुपचाप बदलाव ला रही हैं- अभिषेक मनु सिंघवी

आजादी के बाद कांग्रेस अपने सबसे बुरे दौर में चल रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी के कई नेता अपने भाषणों...
- Advertisement -

कविता:ये भारत का किसान है!

हल लेकर खेतों की ओर आज कोई निकल पड़ा है , फटी जूती, फटे कपड़े बारिश की आस में चल पड़ा है,...

कपड़ों की दुकान में लगी भीषण आग, लाखों का माल खाक

सीकर. राजस्थान के सीकर शहर में दंग की नसियां में शनिवार देर रात एक कपड़े की दुकान में आग लगने से लाखों का...

राजस्थान में यहां मूसलाधार बरसात से फसलों को नुकसान

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में शनिवार देर शाम को कई इलाकों में मूसलाधार बरसात हुई। बरसात से कुछ दिनों से बढ़ी उमस...

Related News

प्रियंका गांधी चुपचाप बदलाव ला रही हैं- अभिषेक मनु सिंघवी

आजादी के बाद कांग्रेस अपने सबसे बुरे दौर में चल रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी के कई नेता अपने भाषणों...

कविता:ये भारत का किसान है!

हल लेकर खेतों की ओर आज कोई निकल पड़ा है , फटी जूती, फटे कपड़े बारिश की आस में चल पड़ा है,...

कपड़ों की दुकान में लगी भीषण आग, लाखों का माल खाक

सीकर. राजस्थान के सीकर शहर में दंग की नसियां में शनिवार देर रात एक कपड़े की दुकान में आग लगने से लाखों का...

राजस्थान में यहां मूसलाधार बरसात से फसलों को नुकसान

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में शनिवार देर शाम को कई इलाकों में मूसलाधार बरसात हुई। बरसात से कुछ दिनों से बढ़ी उमस...

जेपी नड्डा के फैसले से बीजेपी का घमासान सड़कों पर

एक महीने बाद पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव होने हैं. चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी (BJP) के अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पार्टी के...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here