- Advertisement -
Home News पचवारा में 200 तो दौसा में 170 एमएम पानी बरसा, सूरजपुरा बांध...

पचवारा में 200 तो दौसा में 170 एमएम पानी बरसा, सूरजपुरा बांध पर चली चादर

- Advertisement -

दौसा. जिले में मानसून पूरी तरह सक्रिय है। 14 अगस्त शाम 5 से 16 अगस्त सुबह 8 बजे तक 36 घंटे में रामगढ़ पचवारा में 8 इंच तो दौसा में 7, सिकराय में 6 व लवाण में 5 इंच बारिश हुई। जल संसाधन विभाग के अधिशासी अभियंता एचएल मीना ने बताया कि 48 घंटे में रेडिया पर 36, बांदीकुई में 44, सिकराय में 113, महुवा 86, मोरेल 96, राहुवास 100, लालसोट 96, सैंथलसागर पर 35, बसवा 28, दौसा में 106 एमएम बारिश दर्ज की गई। वहीं तहसील मुख्यालयों पर लगे वर्षामापी यंत्रों पर महुवा में 106, लालसोट 70, सिकराय 135, रामगढ़पचवारा 193, लवाण में 128, नांगलराजावतान में 96 व दौसा में 170 एमएम बारिश दर्ज की गई है।
Heavy Rain In Rajasthan
 
गत दो दिनों से लगातार हो रही बारिश के चलते सूरजपुरा बांध पांच साल बाद लबालब हो गया। शुक्रवार को बांध पर चादर भी चलने लगी है। उल्लेखनीय है कि 13 फीट भराव वाले इस बंाध के भरने के बाद इसके आस-पास के करीब एक दर्जन गांवों में पानी की आपूर्ति में यह बांध खासा प्रभाव रखता हैं। पांच साल से बांध के खाली रहने पर काश्तकारों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा था, लेकिन बांध भरने के साथ ही आस-पास के गांवों के लोगों के चेहरों पर रौनक लौट आई।
 
 
बांध के भरने के बाद ही धाना का बन्ध व उसके बाद कालाखोह बांध में पानी की आवक शुरू होती हैं। ऐसे में इसके भरने के बाद इन बांधों मे भी पानी आने की आस जगने लगी हैं। गुरुवार रात्रि से ही बजोरी का नाला लगातार बहने से सूखे पड़े धाना के बन्ध में भी पानी की आवक जारी है। पानी की आवक के कारण खेड़ली एनिकट भी टूट गया है।Heavy Rain In Rajasthan
 
दौसा अव्वल, बांदीकुई पिछड़ा
 
जिले में इस सीजन में अब तक औसत 524.35 एमएम बारिश हो चुकी है। जिले की पूरे सीजन की औसत बारिश 612 एमएम है। जिले में 15 जून से 16 अगस्त सुबह 8 बजे तक दौसा तहसील पर लगे वर्षामापी यंत्र में 788 एमएम बारिश दर्ज की गई है। दूसरे स्थान पर रामगढ़ पचवारा 643 व दौसा जल संसाधन विभाग कार्यालय 631 एमएम बरसात के साथ तीसरे स्थान पर है।
 
इसी प्रकार बांदीकुई के रेडिया पर 604, बांदीकुई में 325, सिकराय में 500, महुवा 428, मोरेल 628, राहुवास 550, लालसोट तहसील पर 546, सैंथल सागर 405, बसवा 349 एमएम बारिश दर्जकी है। इसी तरह तहसील पर लगे वर्षामापी यंत्रों में महुवा 516, लालसोट 448, सिकराय 536, लवाण 490, नांगलराजावतान में 529 एमएम बारिश दर्ज की गई है। इस प्रकार सभी केन्द्रों की औसत बारिश अब तक 524.35 एमएम हुई है। बारिश के मामले में इस सीजन में अब तक दौसा तहसील क्षेत्र प्रथम स्थान पर है तो बांदीकुई अंतिम 17वें स्थान पर रहा है। यानि बांदीकुई में इस सीजन में सबसे कम बारिश हुई है।
 
 
बांधों में आया पानी
जिलेभर के अधिकांश बांधों में पानी की आवक हो चुकी है। शुक्रवार दोपहर तक जिले के सबसे बड़े मोरेल बांध का भराव 29 फीट पार कर गया है। इसी प्रकार सूरजपुरा बांध 13 फीट भर कर चादर चल गई। सैंथल सागर में सवा 15 फीट, सिनोली में 6 फीट, झिलमिली में 6 फीट 10 इंच, गेटोलाव में 5.35, चांदराना 8.32, सिंथोली 4, माधोसागर 5.4, रेडिया में 4, जगरामपुरा 1.5 फीट, कोट 2.3, हरिपुरा 3.9, भांकरी 5.2, रामपुरा 4.5, महेश्वरा में 3.10, उपरेड़ा 1.10, समसपुर 3 फीट पानी की आवक हुई है।
 
रिमझिम बारिश का दौर
जिलेभर में शुक्रवार तड़के से ही दिनभर बारिश का दौर चलता रहा। हर दस-पन्द्रह मिनट में बारिश से सुबह स्कूलों में बालक कम संख्या में पहुंच पाए। कक्षाएं खाली नजर आई। रोजमर्रा एवं दिहाड़ी पर जाने वाले लोगों को भी भीगते हुए जाना पड़ा। गुरुवार रात को कई स्थानों पर बिजली सप्लाई भी बाधित रही।
Heavy Rain In Rajasthan

Advertisement




Advertisement




- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

राजस्थान के किसानों ने केंद्र को सुनाई खरी-खरी

केंद्र सरकार ने 6 रबी फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी की है, लेकिन कई किसान संगठन इससे ज्यादा खुश नहीं हैं. किसान महापंचायत...
- Advertisement -

स्वास्थ्य विभाग ने छुपाई कोरोना से मौतें!, 65 पॉजिटिव मिले

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में कोरोना पॉजिटिव केस के साथ मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। जिले में बुधवार को भी...

स्वास्थ्य विभाग ने छुपाई कोरोना से मौतें!, 65 पॉजिटिव मिले

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में कोरोना पॉजिटिव केस के साथ मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। जिले में बुधवार को भी...

वह बाहुबली जिसके पीछे हाथ धोकर पड़ी रही यूपी-बिहार की पुलिस, BJP के टिकट से होना चाहते हैं ‘पवित्र’

बाहुबलियों की राजनीति, गुनाहों की गलियों से निकले उन सियासतदानों का सच है जिनके दामन पर यूं तो गुनाहों के दाग हैं, लेकिन सियासत...

Related News

राजस्थान के किसानों ने केंद्र को सुनाई खरी-खरी

केंद्र सरकार ने 6 रबी फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी की है, लेकिन कई किसान संगठन इससे ज्यादा खुश नहीं हैं. किसान महापंचायत...

स्वास्थ्य विभाग ने छुपाई कोरोना से मौतें!, 65 पॉजिटिव मिले

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में कोरोना पॉजिटिव केस के साथ मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। जिले में बुधवार को भी...

स्वास्थ्य विभाग ने छुपाई कोरोना से मौतें!, 65 पॉजिटिव मिले

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में कोरोना पॉजिटिव केस के साथ मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। जिले में बुधवार को भी...

वह बाहुबली जिसके पीछे हाथ धोकर पड़ी रही यूपी-बिहार की पुलिस, BJP के टिकट से होना चाहते हैं ‘पवित्र’

बाहुबलियों की राजनीति, गुनाहों की गलियों से निकले उन सियासतदानों का सच है जिनके दामन पर यूं तो गुनाहों के दाग हैं, लेकिन सियासत...

राजस्थान में यहां मनरेगा की खुदाई में मिले हड़प्पाकालीन संस्कृति के अवशेष

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले के बिंज्यासी गांव में मनरेगा की खुदाई में मिले आभूषण हडप्पाकालीन संस्कृति के है। पुरातत्व विभाग की जांच...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here