- Advertisement -
HomeRajasthan Newsसीकर:पत्नी ने अपने पुलिस हेडकांस्टेबल प्रेमी से अपने ही पति की करवा...

सीकर:पत्नी ने अपने पुलिस हेडकांस्टेबल प्रेमी से अपने ही पति की करवा दी हत्या

- Advertisement -

आजकल राजस्थान / सीकर.
18 दिसंबर को बाजौर में हुई पन्नालाल की हत्या  के षडय़ंत्र में सीकर पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है।पुलिस के अनुसार हत्या में उसकी पत्नी हसीना भी शामिल थी। कॉल डिटेल व पुरानी सिम पुलिस के हाथ लगने पर उसको घटना के पांच महीने बाद गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।  पुलिस के सामने आरोपी महिला ने कबूला कि वह अपने हैडकांस्टेबल  प्रेमी सतीश को फोन कर अपने पति की लोकेशन बताती रहती थी। ताकि मौका पाकर वह उसके पति को मौत की नींद सुला सके। सीओ सीटी सौरभ तिवाड़ी ने बताया कि 45 वर्षीय पन्नालाल की हत्या के मामले में उसकी पत्नी हसीना को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया। यहां न्यायालय के आदेश पर उसको जेल भेज दिया गया है।

इधर, हत्या के बाद जब पन्नालाल की पत्नी हसीना के मोबाइल की कॉल डिटेल निकलवाई गई तो खुलासा हुआ कि हैडकांस्टेबल सतीश के साथ उसका प्रेम प्रसंग था। जिसके चलते वह उससे रोज बात किया करती थी और अपने पति पन्नालाल की सूचना देकर उसको रास्ते से हटाना चाहती थी। क्योंकि पन्नालाल को हसीना व उसके हैडकांस्टेबल प्रेमी सतीश के बारे में शक हो गया था। रास्ते के कांटे को हमेशा-हमेशा के लिए जीवन से निकालने खातिर हसीना का प्रेमी सतीश 18 दिसंबर की रात बाजौर स्थित पन्नालाल के खेत में पहुंचा और यहां सिर में सरिया मारकर पन्नालाल की हत्या करने के बाद फरार हो गया। लेकिन, कॉल डिटेल के आधार पर पुलिस ने उसको हत्या के 13 दिन बाद हरियाणा से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। पुख्ता सबूत हाथ लगने पर पुलिस ने हसीना को भी अपनी गिरफ्त में ले लिया।
एक दिन पहले बंद कर दी मोबाइल सिम



मृतक पन्नालाल की पत्नी हसीना हरियाणा की रहने वाली है और 2009 में एक शादी-समारोह के दौरान हसीना और हरियाणा पुलिस के हैडकांस्टेबल सतीश की जान-पहचान हो गई थी। इसके बाद दोनों की बात होने लगी और मामला प्रेम प्रसंग में बदल गया था। पुलिस के अनुसार प्रेमी सतीश से बात करने के लिए हसीना ने एक दूसरी सिम ले रखी थी। जिससे वह उससे बात किया करती थी। जांच में सामने आया कि पन्नालाल की हत्या के एक दिन पहले ही हसीना ने यह सिम बंद कर गांव में रहने वाली दूसरी महिला को दे दी थी। ताकि पुलिस हसीना के पास मौजूद पहली वाली सिम की कॉल डिटेल में उलझी रहे और हत्या के षडय़ंत्र में उसकी भूमिका का पता नहीं लगा सके। पुलिस महिला तक पहुंच गई और बंद सिम बरामद कर उसकी कॉल डिटेल निकलवाई तो हत्या के मामले में हसीना का प्रर्दाफाश हो गया।
पुलिस ने बनाया गवाह – हैडकांस्टेबल से बात होने वाली सिम गांव की एक महिला से बरामद होने के बाद पुलिस ने उससे भी पूछताछ की तो हकीकत का पता लगा। इसके बाद पुलिस ने उस महिला के बयान दर्ज कर गवाह बना लिया। इधर, पन्नालाल की मौत और उसकी पत्नी हसीना के जेल चले जाने के बाद इनके दोनों बच्चे अनाथ हो गए हैं। जिनमें एक लडक़ा और एक लडक़ी शामिल है।



अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डा. तेजपाल सिंह ने बताया कि बाजौर के पन्नालाल की हत्या हरियाणा के दादरी तोऐ निवासी सतीश पुत्र भगवानदास ने सिर में सरिया मारकर कर की थी। क्योंकि पूछताछ में आरोपित सतीश ने कबूला है कि पन्नालाल की पत्नी हसीना भी हरियाणा की रहने वाली है और रिश्तेदारी में होने तथा 2009 में एक शादी समारोह के दौरान उसके साथ जान-पहचान हो गई थी। इसके बाद आरोपित की उससे बात होने लगी। जो कि, प्रेम प्रसंग में बदली गई। इधर, आरोपित की खुद की पत्नी के ’ज्यादातर बीमार रहने से वह परेशान था और हसीना से शादी कर उसे साथ रखना चाहता था। जिस कारण से आरोपित ने अपने और हसीना के बीच से पन्नालाल को हटाने के लिए हत्या की वारदात को अंजाम देना कबूला है। घटना के दौरान आरोपित के साथ अन्य की भूमिका के बारे में भी गहनता से पूछताछ की जा रही है। उनके बारे में पता लगाने और पन्नालाल की पत्नी की हत्या में भूमिका जानने के लिए आरोपित को मंगलवार को न्यायालय में पेश कर पुलिस रिमांड मांगा जाएगा। ताकि प्रकरण में शामिल बाकी आरोपितों का भी खुलासा किया जा सके।



हत्या की खातिर ली 17 दिन की छुट्टी

आरोपित हैडकांस्टेबल सिविल लाइन थाने में कार्यरत है। पन्नालाल को रास्ते से हटाने के लिए योजना बनाने और उसकी हत्या करने के लिए उसने 11 दिसंबर से 19 दिसंबर तक ड्यूटी से छुट्टी ले ली थी। इसके बाद हत्या से पहले वह 12 दिसंबर को रैकी करके गया था। इधर, पन्नालाल की पत्नी से भी संपर्क में रहा और उसकी पल-पल की खबर लेता रहा। जब उसे पता लगा कि पन्नालाल घर से दूर खेत पर बने मकान में सोने आता है और अक्सर यहां शराब पार्टी भी करता है। घटना के दिन भी पन्नालाल के साथ दो तीन लोगों ने बैठकर वहां शराब पी थी। इसके बाद पन्नालाल खाना खाने के लिए घर चला गया। इधर, अंधेरा होने पर आरोपित मकान में पन्नालाल से पहले जाकर छुप कर बैठ गया। खाना खाने के बाद जब पन्नालाल खेत पर बने मकान में सोने के लिए आया तो उस पर वार कर सतीश ने उसे हमेशा के लिए मौत की नींद सुला दी। हत्या करने के बाद आरोपित वापस हरियाणा चला गया था। जिससे इस पर किसी को शक नहीं हुआ और पुलिस भी भ्रमित हो गई।



- Advertisement -
- Advertisement -
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -