- Advertisement -
HomeRajasthan Newsविवाहित महिला ने पुलिस थाने में आकर खाया जहर, सुसाइड नोट में...

विवाहित महिला ने पुलिस थाने में आकर खाया जहर, सुसाइड नोट में लिखी यह बात

- Advertisement -

आजकलराजस्थान / झुंझुनूं.
बुहाना क्षेत्र के कुहाड़वास गांव की एक विवाहिता मीना ने सोमवार दोपहर को गुढ़ारोड स्थित महिला पुलिस थाने आकर जहर खा लिया।आनन फानन में पुलिस उसे शहर के बीडीके अस्पताल भी लेकर गई, लेकिन उसकी मौत हो गई। पुलिस के अनुसार जयपुर स्थित एक न्यायालय में चल रहे भरण-पोषण के मामले में पति के कोर्ट में पेशी और गिरफ्तारी नहीं होने से अवसाद ग्रस्त विवाहिता ने यह कदम उठाया। महिला थाने में अचानक हुए घटनाक्रम से पुलिसकर्मियों में हडक़म्प मच गया। बाद में पुलिसकर्मी महिला को गंभीर हालत में राजकीय बीडीके अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। तलाशी में पुलिस को महिला के पर्स से दो पन्नों का सुसाइड नोट व डिबी में जहर की गोलियां मिली है। सुसाइड नोट में पति सहित आठ जनों की प्रताडऩा से परेशान होकर मौत को गले लगाने का  कारण बताया है।इस  सम्बंध में मृतका के पिता रिटायर्ड सूबेदार सहीराम ने कोतवाली थाने में दामाद रामकिशन सहित बेटी के ससुर महेश व सास के खिलाफ दहेज के लिए  प्रताडि़त कर हत्या करने का  मामला दर्ज कराया है। भिर्र निवासी मीना कुमारी जाट (28) की शादी चार साल पहले कुहाड़वास निवासी रामकिशन के साथ हुई थी। पिता सहीराम ने बताया कि शादी के छह माह तक सब कुछ ठीक चलता रहा। बाद में पति, सास व ससुर ने उसके साथ मारपीट करना शुरू कर दिया। बेटी जयपुर में किसी निजी संस्थान में नौकरी करती थी, उसे भी छुड़वा दिया गया। ससुराल पक्ष के लगातार प्रताडि़त करने पर बेटी पीहर आ गई। वर्ष 2016 में महिला थाना स्थित सलाह केन्द्र में दोनों पक्षों के राजीनामे होने पर वापस ससुराल चली गई। लेकिन कुछ समय बाद मारपीट करने का सिलसिला फिर से शुरू हो गया। ऐसे में मीना ने मई 2017 में पति पर दहेज प्रताडऩा व भरण पोषण का मामला दर्ज करा दिया। मामला न्यायालय में विचाराधीन है।
झूठ बोलकर शादी करने का आरोप: मृतका के पिता सहीराम ने बताया कि ससुराल पक्ष के लोगों ने झूठ बोलकर शादी की थी। ससुराल पक्ष के लोगों ने रामकिशन को बीटेक किया हुआ बताया। बाद में अजीतगढ़ स्थित एक निजी आइटीआइ में प्रिंसिपल के पद पर काम करने की जानकारी दी। झांसे में आकर बेटी की शादी कर दी। पिता ने बताया कि शादी के बाद छानबीन करने पर पता चला कि रिश्तेदार के नाम पर प्रिंसिपल बना बैठा हुआ था।
ससुराल पक्ष ने किया शव लेने से इंकारपोस्टमार्टम के दौरान पीहर पक्ष के लोगों ने शव ससुराल पक्ष को सौंपने की बात कही। इस पर महिला थानाधिकारी केपी सिंह के ससुराल पक्ष को फोन करने पर उन्होंने शव लेने से इंकार कर दिया।
एसपी के पास जाने के लिए कहकर निकली

परिजनों ने बताया कि कोर्ट में चल रहे मामले में कार्रवाई नहीं होने से परेशान विवाहिता सुबह पुलिस अधीक्षक झुंझुनूं से मिलने को कहकर निकली थी। लेकिन पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचने के बजाए टैक्सी कर सीधे महिला थाने पहुंच गई। थाने पहुंचने पर जहर की गोलियां खा ली, ऐसे में अचेत होकर वहीं गिर पड़ी। महिला के मुंह से झाग निकलता देखकर वहां मौजूद पुलिस कर्मियों के होश उड़ गए। थाने में महिला के जहर खाने की जानकारी लगने पर राजकीय बीडीके अस्पताल में पुलिस अधिकारी पहुंचे।
तीन भाई-बहनों में सबसे बड़ी मीनामृतका मीना तीन भाई बहनों में सबसे बड़ी थी, सबसे छोटी बहन की शादी भी कुछ दिनों पहले हुई थी। पिता फौज में सूबेदार थे जो वर्ष 2014 में सेवानिवृत्त हो चुके हैं। मझला भाई गुडग़ांव स्थित कम्पनी में कार्यरत है। सेवानिवृत्ति होने के अगले साल बेटी की शादी की थी। पिता ने बताया कि शादी के दौरान ससुराल पक्ष ने नकदी की मांग की थी, लेकिन ज्यादा दबाव बनाने पर उन्होंने कैंटीन से गाड़ी निकलवाकर दामाद को दी थी। शराब के नशे में दामाद के कई बार कार को दुर्घटना कर चुका था। ऐसे में दामाद की आदतों से परेशान रहा करते थे। विवाहिता के कोई संतान नहीं है।
विवाहिता की ओर से भिर्र स्थित घर पर 12 पन्नों का नोट लिखे होने की जानकारी लगने पर सीओ ग्रामीण नीलकमल के निर्देशन पर बुहाना पुलिस पीहर भिर्र स्थित मकान पर पहुंची। लेकिन परिजनों के झुंझुनूं होने पर मकान पर ताला लगा होने पर वापस लौट आए। ऐसे में नोट में क्या लिखा है इसके बारे में खुलासा नहीं हो पाया है।

आठ जनों को मौत के लिए जिम्मेदार बताया। सुसाइड नोट में सभी को रिमांड के बाद फांसी देने की बात कही है। साथ ही मौत के बाद उसके भिर्र निवासी माता-पिता सहित पीहर पक्ष के किसी भी व्यक्ति को परेशान नहीं करना के लिए लिखा है। सुसाइट नोट में पुलिस पर भी मामले में सहयोग नहीं करने की बात लिखी गई है।।  ईनका कहना है…मृतका मीना के पिता ने दहेज हत्या का मामला दर्ज कराया है। मृतका के पास से मौके पर सुसाइड नोट भी मिला है। मामले की जांच की जा रही है। -गोपालसिंह ढाका, थानाधिकारी कोतवाली (झुंझुनूं)

- Advertisement -
- Advertisement -
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -