- Advertisement -
HomeNewsAajkal Bharatराजस्थान सरकार एमबीसी काे 25 हजार नाैकरियां देने की तैयारी में

राजस्थान सरकार एमबीसी काे 25 हजार नाैकरियां देने की तैयारी में

- Advertisement -

आजकल राजस्थान / जयपुर

प्रदेश सरकार और गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के बीच फरवरी में हुए समझाैते के रिव्यू पर 18 जून काे मंत्री मंडलीय उप समिति की रिव्यू बैठक सचिवालय में हाेगी। ये बैठक गुर्जर सहित छह जातियाें के लिए इसलिए अहम है क्याेंकि इसमें 25 हजार भर्तियाें का रिव्यू किया जाएगा। इन 25 हजार नाैकरियाें में बैकलॉग की 15 हजार भर्तियां है जबकि प्रक्रियाधीन भर्तियों में 10 हजार से ज्यादा नौकरियां शामिल है। राज्य सरकार पुरानी भर्तियाें यानी की 2013 के बाद की भर्तियाें में 5 प्रतिशत आरक्षण देते हुए ये नाैकरियां दिलाएगी। इनमें शेडाे पाेस्ट क्रिएट करने का निर्णय पूर्व में किया जा चुका है। इनमें से काउंट हाेगी 15 हजार नौकरियाें आरपीएससी एलडीसी ग्रेड 2013, तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2013, आरएएस भर्ती परीक्षा 2013 – राजस्थान पुलिस भर्ती 2013, पंचायतराज एलडीसी, द्वितीय श्रेणी परीक्षा – 2014, विद्यालय सहायक भर्ती परीक्षा 2013, आरपीएससी जूनियर अकाउंटेंट 2013, नर्सिंग भर्ती परीक्षा 2013, तृतीय श्रेणी भर्ती रीट 2016 लेवल 1 व लेवल 2, द्वितीय श्रेणी अध्यापक भर्ती परीक्षा 2016, पटवार भर्ती परीक्षा 2016, ग्राम सेवक भर्ती परीक्षा 2016, प्रयोगशाला सहायक भर्ती – 2016 पशुधन सहायक भर्ती 2016 शामिल है। इन 10 हजार नौकरियाें में होगा फायदा नौकरियों में गुर्जर सहित 5 जातियों को 10 हजार नौकरियों का फायदा मिलेगा। इसमें तृतीय श्रेणी अध्यापक रीट भर्ती 2017, द्वितीय श्रेणी अध्यापक संस्कृत शिक्षा 2018, व्याख्याता भर्ती परीक्षा 2018, आरएसएमएसएसबी क्लर्क ग्रेड-2 2018, प्रयोगशाला सहायक 2018, पुस्तकालयाध्यक्ष परीक्षा 2018, पशुधन सहायक – 2018, कृषि पर्यवेक्षक – 2018, प्रधानाध्यापक भर्ती परीक्षा 2018, पुलिस सब इंस्पेक्टर भर्ती 2017- 2018,, आरएएस भर्ती परीक्षा – 2018, राजस्थान पुलिस भर्ती – 2018, जीएनएम 2018, पीटीआई 2018, प्रधानाध्यापक भर्ती 2018, सूचना सहायक 2018, राज. पुलिस भर्ती, अभियांत्रिकी विभाग की एईएन भर्ती 2018, आरजेएस भर्ती परीक्षा 2018 शामिल है। इधर, अभी तक किसी भी गुट को राज्य सरकार की ओर से आफिशियल रूप से आमंत्रण नहीं पहुंचा हैं। उधर, गुर्जर भरतपुर में पुरानी नौकरियों में आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे है, जबकि कई नियुक्तियां नहीं मिलने पर विरोध कर रहे हैं। इस बैठक पर दोनों गुटों की नजर, बैंसला व उनके विराेधी गुट में चल रही है एक-दूसरे पर प्रभावी होने की कश्मकश इस बैठक का हिस्सा बनने के लिए गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के संयाेजक कर्नल किराेड़ी सिंह बैंसला व उनके विराेधी गुट हिम्मत सिंह गुट के बीच कश्मकश चल रही है। हिम्मत सिंह लगातार भरतपुर में सरकार के रवैये से खफा बताते हुए धरने प्रदर्शन कर रहे है। वहीं बैंसला गुट ने राज्य सरकार काे अल्टीमेटम दे रखा है कि हिम्मत सिंह गुट से वार्ता करके समाज काे ताड़ने का काम नहीं करें। गाैरतलब है कि हिम्मत सिंह गुट ने बैंसला के बीजेपी में शामिल हाेने पर ये कहते हुए विराेध किया था कि समाज के प्लेटफार्म काे किसी पार्टी के लिए उपयाेग में लाने से समाज काे नुकसान हाेने का खतरा रहता है।

- Advertisement -
- Advertisement -
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -