- Advertisement -
HomeRajasthan Newsराजस्थान पुलिस के कांस्टेबल की ट्रेनिंग के दौरान मौत ,ट्रेनर पर लापरवाही...

राजस्थान पुलिस के कांस्टेबल की ट्रेनिंग के दौरान मौत ,ट्रेनर पर लापरवाही का आरोप

- Advertisement -

आजकल राजस्थान / जयपुर

जोधपुरा ग्राम पंचायत के किडारोद निवासी एवं राजस्थान पुलिस में भर्ती एक कांस्टेबल की छतीसगढ़ में ट्रेनिंग के दौरान तबीयत खराब होने से अस्पताल में गुरुवार शाम को मौत हो गई। सूचना से गांव में शोक की लहर दौड़ गई और घरों में शुक्रवार शाम तक चुल्हे तक नहीं जले। पूरे गांव में सन्नाटा पसरा रहा। इधर, मृतक की पत्नी प्रसव पीड़ा के चलते अस्पताल में भर्ती रही। हालांकि उसे सूचना नहीं दी गई। शुक्रवार शाम तक मृतक कांस्टेबल का शव भी गांव में नहीं पहुंचा था।

जोधपुरा सरपंच प्रहलाद माठ व ग्राम सेवा सहकारी समिति अध्यक्ष जोधपुरा भरताराम यादव ने बताया की जोधपुरा ग्राम के किडारोद निवासी 22 वर्षीय मोहनलाल पुत्र उमराव कपुरिया का राजस्थान पुलिस में कांस्टेबल के पद पर 8 अक्टूबर 2018 में चयन हुआ था। जिसकी ट्रेनिंग छतीसगढ के बिलाई में चल रही थी।
ट्रेनिंग के दौरान उसकी अचानक तबीयत खराब हो गई और वहीं अस्पताल में शाम को उपचार के दौरान मौत हो गई। इधर, मोहनलाल की मौतस की सूचना से गांव में शोक की लहर दौड़ गई। किराडोद ग्राम के किसी भी घर में शुक्रवार देर शाम तक चुल्हे तक नहीं जले। प्रागपुरा थाना प्रभारी ने बताया कि देर शाम तक मृतक कांस्टेबल का शव गांव में नहीं पहुंचा।

पारिवारिक आर्थिक स्थिति है दयनीय, पिता लगाता है थड़ी

पूर्व सरपंच जोधपुरा बंशी गेट, विक्रम व खेमन्त्त गिठाला ने बताया की मृतक सिपाही के परिवार की दयनीय स्थिति है। मृतक सिपाही के पिता लम्बे समय से स्टैण्ड पर थड़ी लगाता है। जिससे वह अपने परिवार का पालन-पोषण करते है। बेटे के नौकरी लगने की पूरी परिवार में खुशी का माहौल था, लेकिन बेटे की मौत से खुशी काफूर हो गई।

पत्नी गर्भवती,एक साल पहले ही हुई थी शादी, 
पूर्व जिला पार्षद दिनेश यादव व सरपंच प्रहलाद माठ ने बताया की मोहनलाल का करीब एक साल पहले ही विवाह हुआ था। जिसकी पत्नी कृष्णा देवी करीब 9 माह से गर्भवती है। जो प्रसव पीड़ा के चलते अस्पताल मे भर्ती है। जिसको यह भी नहीं पता की उनके पति की ट्रेनिंग के दौरान मौत हो गई।

पुलिस में भर्ती होने के बाद दो दिन रूककर गया था घर
मृतक सिपाही राजस्थान पुलिस में भर्ती होने के बाद अपने घर 15 जनवरी 2019 को आया था। इस दौरान वह दो दिन घर पर रुका और 17 जनवरी को ट्रेनिंग के लिए वापस चला गया।

ट्रेनिंग देने वालों पर लापरवाही का आरोप, पत्नी को नौकरी देने की मांग की
भाजपा पूर्व प्रदेश महामंत्री कुलदीप धनकड, जोधपुरा सरपंच माठ, ग्राम सेवा सहकारी समिति जोधपुरा अध्यक्ष भरताराम यादव, पूर्व जिला पार्षद दिनेश यादव, सामाजिक कार्यकर्ता सागरमल वर्मा, जोधपुरा पूर्व सरपंच बंशी गेट, धूडाराम तहसीलदार, विक्रम नेहरा, सोनाराम धींधवाल ने आरोप लगाया कि ट्रेनिंग देने वालों की लापरवाही के कारण भीषण गर्मी में 3 जून को सिपाहियों को दौड़ करवाई गई थी। इसमें 17 जनों की तेज गर्मी में सांस फुलने से तबीयत बिगड़ गई थी। जिनको स्पर्च अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। जहां पर 14 को स्वास्थ्य में सुधार होने पर छुट्टी दे दी गई थी। जबकि 2 की हालत खराब होने पर रायपुर अस्पताल में ले गए। जबकि सिपाही मोहनलाल कपुरिया की अस्पताल में मौत हो गई।

उन्होंने मृतक के परिवार की दयनीय स्थिति होने की बात बताई। भाजपा पूर्व प्रदेश महामंत्री धनकड़ ने जयपुर कमिश्नर से बात कर ट्रेनिंग देने वालों पर लापरवाही का आरोप लगाया। उन्होंने मृतक को शहीद का दर्जा व परिजनों को 50 लाख रुपए मुआवजा व मृतक की पत्नी को सरकारी नौकरी दिलाने की मांग की।

- Advertisement -
- Advertisement -
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -