- Advertisement -
HomeRajasthan Newsबांसवाड़ा : लडक़ी को भगा ले जाने के मामले में दो गुटों...

बांसवाड़ा : लडक़ी को भगा ले जाने के मामले में दो गुटों में खूनी संघर्ष, महिलाओं सहित 12 लोग गंभीर घायल

- Advertisement -

आजकल राजस्थान / कुशलगढ़.

सज्जनगढ़ थाना क्षेत्र के वागोल गांव में बुधवार सुबह लडक़ी भगा ले जाने के मामले में दो गुटों में खूनी संघर्ष छिड़ गया। इससे दोनों पक्षों के 12 लोग घायल हो गए। पुलिस ने दोनों पक्षों के 35 जनों को नामजद किया है। घायलों में चार महिलाएं शामिल हैं। इधर दोनों पक्षों ने परस्पर मामले दर्ज करवाए हैं। सज्जनगढ़ थाना क्षेत्र के टांडी बड़ी निवासी बहादुर पुत्र रतना की लडक़ी को वागोल निवासी विनोद पुत्र भलजी दो दिन पूर्व भगा कर ले आया। इस पर बुधवार को लडक़ी के परिजन वागोल पहुंचे। जहां हुई कहासुनी के बाद दोनों गुट आपस में भिड़ गए। लडक़ी पक्ष के सभी घायल कुशलगढ़ अस्पताल पहुंचे। जहां उनका इलाज किया गया। घटना में टांडी बड़ी निवासी बसन्ती पत्नी नगीन, मंजुला पत्नी राजू, बहादुर पुत्र रत्ना, भूरिया पुत्र वालु, नगीन पुत्र रत्ना, केसरसिंह पुत्र मांगू व दिनेश पुत्र चूनिया, हडिया पुत्र जोगी, हकरी पत्नी हडिया, कबु पत्नी लालू व कमलेश पुत्र थानु, लालू पुत्र हकरू निवासी वागोल घायल हुए है।
एक पक्ष ने यह दी रिपोर्टलडक़ी के पिता टांडी बड़ी निवासी बहादुर पुत्र रत्ना ने पुलिस को दी रिपोर्ट में बताया कि गत 12 मई को वागोल निवासी विनोद पुत्र भलजी अपने साथियों के साथ आया और उसकी पुत्री का पत्नी बनाने की नीयत से अपहरण कर ले गया। सामाजिक स्तर पर हुई बातचीत के बाद आरोपियों ने बुधवार को उन्हें वागोल बुलाया। जहां पहले से हथियारों से लैस होकर तैयार विनोद के परिवार वालों ने उन पर हमला कर दिया। मामले में बहादुर ने वागोल निवासी विनोद, माधव पुत्र हकरू, हडिया पुत्र जोगी, थानू पुत्र जोगी, दिनेश पुत्र लालू, भूरिया पुत्र भलजी, लालू पुत्र हकरू, विजय पुत्र माधव, रूपेश पुत्र लालू सहित 20 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है।
दूसरे पक्ष का आरोपवहीं दूसरी और वागोल निवासी उर्मिला पत्नी भलजी कटारा ने पुलिस को दी रिपोर्ट में बताया कि उसके पुत्र विनोद की शादी गुजरात में तय हो गई थी। बुधवार को शादी होने वाली थी। दो दिन पूर्व टांडी बड़ी निवासी बहादुर अपनी पुत्री को उनके घर जबरन छोडकऱ चला गया। आरोप है कि बुधवार को वह अपने साथियों के साथ हथियारों से लैस होकर आया व हमला बोल दिया। आरोपियों ने मकान में आग लगा दी। ग्रामीणों की मदद से आग बुझाई। मामले में उर्मिला ने बहादुर पुत्र रतना, बसु पुत्र रतना, गटू पुत्र रतना, नगीन पुत्र रतना, शंकर पुत्र धुलजी, कल्पेश पुत्र वसु, रमेश पुत्र सेवला सहित 15 जनों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है। थानाधिकारी गोविन्द सिंह राजपुरोहित ने बताया कि दोनों पक्षों के परस्पर मामले दर्ज कर 35 आरोपियों को नामजद कर अनुसंधान शुरू किया है।

- Advertisement -
- Advertisement -
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -