- Advertisement -
HomeRajasthan Newsनरभक्षी बिलाव -नवजात बच्चे को उठा ले गया,फिर क्या हुआ ??

नरभक्षी बिलाव -नवजात बच्चे को उठा ले गया,फिर क्या हुआ ??

- Advertisement -

आजकल राजस्थान, कानोता (जयपुर)

बिल्लियों को भेड़ बकरियों के नवजात बच्चों को तो ले जाते देखा है।पर क्या कभी इंसानी बच्चों को भी बिल्ली ले जाने की सुनी है ?अगर नहीं तो आज जान लीजिए। ऐसा ही एक मामला हुआ है जयपुर  के नायला में।   शादी के 19 साल बाद बड़ी मिन्नतों से घर मे किलकारी गुंजी वो भी जुड़वाँ बच्चों की।उन्ही बच्चों में से एक को बिल्ली ने हमला कर गंभीर घायल कर दिया। बच्चा जयपुर के जेके लोन अस्पताल में भर्ती है।
प्ररप्त जानकारी अनुसार नायला के छतरी वालों की कॉलोनी निवासी रामकिशोर झालाणी की शादी 19 वर्ष पहले हुई थी। इतने सालों तक उसके कोई संतान नहीं हुई। बड़ी मिन्नतों से 6 मई को उसकी पत्नी के जुड़वा बच्चों को जन्म दिया। जुड़वा बच्चों में लड़का-लड़की को देख परिवारजनों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। जच्चा और बच्चों को 18 मई को परिजन घर लेकर आए। यहां कुछ दिन बीतने के बाद 23 मई की रात को कुछ ऐसा हुआ कि हर कोई जानकर भौंचक्का रह गया। रात करीब 2 बजे मां दोनों नवजातों को कमरे में सुलाकर बिना कुुंदी लगाए दरवाजा बंद कर शौच के लिए चली गई। मौका पाकर बिलाव अंदर घुस गया। बाद में वह नवजात लड़के को मुंह में दबाकर सीढिय़ों के रास्ते छत पर ले जाने लगी।

इस दौरान मां ने बिलाव के मुंह में अपना बच्चा दबा देखा तो उसके होश उड़ गए। वह जोर से चिल्लाती हुई बिलाव के पीछे दौड़ी। बिलाव ने महिला को  आता देखकर बच्चे को सीढिय़ों में छोड़ भाग गई।  जब बच्चे को देखा तो उसके सिर और अन्य स्थानों पर गहरे घाव हो चुके थे। समय रहते पता चलने से आखिरकार बच्चा बच तो गया लेकिन गंभीर घायल हो गया। महिला की चीख-पुकार सुनकर घर के अन्य सदस्य जाग गए। फिर बच्चे को जेके लोन अस्पताल जयपुर में भर्ती कराया। जहां बच्चे की हालत गंभीर बनी हुई है।
जानवरों के बच्चों को काट चुका बीलाव

ग्रामीणों ने बताया कि बिल्ली ने पहले भी अन्य जानवरों के बच्चों को भी मौत के घाट उतार दिया। अपने शिकार को मारने के बाद वह कॉलोनी के घरों में लाकर बैठकर खाता देखा गया है लेकिन अब तक ग्रामीणों ने इस ओर ध्यान नहीं दिया। बिलाव अब इंसानों को भी अपना निवाला बनाने लगी है, ये सोचकर लोग डर गए हैं। इस घटना से आस-पास के लोग सचेत हो गए हैें।

वन विभाग को दी सूचना

नायला सरपंच मोहनलाल मीणा ने वन विभाग को सूचित कर बिलाव को पकडऩे की मांग की। सूचना पर वन विभाग के फोरेस्टर ओमप्रकाश यादव और गार्ड रामकिशोर शर्मा पीडि़त के घर पहुंचे। आस पड़ोस में बिलाव की तलाश की लेकिन हाथ नहीं लगी।
शाम को पेड़ पर जा चढ़े दो बिलाव

रेंजर सीताराम मीणा ने बताया कि  वे बिलाव की तलाश कर रहे थे कि शनिवार शाम पीडित के घर पास ही एक पेड़ पर एक नहीं दो बिलाव आकर बैठ गए। ऐसे में उन्हे पकड़ने का प्रयास किया लेकिन दोनों भाग गए। ऐसे में बिलाव को पकडने के लिए वनकर्मी और ग्रामीण रात को पहरा देते नजर आए।

- Advertisement -
- Advertisement -
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -