- Advertisement -
HomeRajasthan Newsदूसरी जगह जाना होगा शहरी स्कूलों में लंबे समय से जमे हुए...

दूसरी जगह जाना होगा शहरी स्कूलों में लंबे समय से जमे हुए शिक्षकों को

- Advertisement -

सीकर. नया सत्र शुरू होने से पहले शिक्षा विभाग शिक्षकों का सेटअप परिवर्तन करने जा रहा हैं। इससे शहरी स्कूलों में जमे कई शिक्षक इधर – उधर होंगे। इस बार शिक्षा विभाग ने सेटअप परिवर्तन के लिए माध्यमिक शिक्षा में शिक्षकों के पदस्थापन के लिए प्रारंभिक शिक्षा तथा पंचायत राज (6-डी) के शिक्षकों को लेने का फैसला किया है। इसके लिए प्रारंभिक शिक्षा के मूल शिक्षक तथा 6 डी की मिश्रित सूची तैयार की जाएगी। उसमें वरीयता के आधार पर दोनों प्रकार के शिक्षकों का सेटअप परिवर्तन कर माध्यमिक शिक्षा में समायोजित किया जाएगा। इससे शहरी क्षेत्र के शिक्षकों को वरिष्ठता का लाभ तो मिलेगा। लेकिन लंबे समय से जिन स्कूलों में वो सेवाएं दे रहे थे, उन्हें छोडऩी पड़ सकती हैं। इससे पहले शहरी क्षेत्र के शिक्षकों को इसमे शामिल नहीं किया जाता था। 1996 के बाद नई भर्ती नहीं माध्यमिक शिक्षा के रिक्त पदों पर 1996 के बाद कोई नई भर्ती नहीं हुई। इसलिए सेटअप परिवर्तन से ही इन रिक्त पदों को भरा जाता है। पिछले चार साल से 6 डी की सूची से ही शिक्षकों का सेटअप परिवर्तन किया गया। इसलिए प्रारंभिक शिक्षा के वरिष्ठ शिक्षक वंचित रह गए। इस बार प्रारंभिक शिक्षा के मूल शिक्षक ही सेटअप परिवर्तन की इस सूची से माध्यमिक में आएंगे। गौरतलब है कि 1996 तक पंचायत राज शिक्षकों से विकल्प मांगकर प्रारंभिक शिक्षा में सेटअप परिवर्तन किया जाता था। इसमें पांच वर्ष का सेवा काल अनिवार्य था। प्रारंभिक शिक्षा से माध्यमिक शिक्षा में जाने के लिए भी विकल्प पत्र भरा जाता था। तथा कुल विकल्प पत्रों की वरीयता के आधार पर प्रारंभिक शिक्षा के शिक्षकों का माध्यमिक शिक्षा में सेटअप परिवर्तन किया जाता था। तृतीय श्रेणी पद परिवर्तन से भरे 6 डी की सूची से वरीयता के आधार पर माध्यमिक शिक्षा के कुल रिक्त तृतीय श्रेणी अध्यापकों के पदों को सेटअप परिवर्तन कर भरे जाने लगे। उक्त सेटअप में पंचायत राज के शिक्षकों को सीधे ही 6 डी के माध्यम से माध्यमिक शिक्षा में समायोजित किया जाने लगा। प्रारंभिक शिक्षा के मूल शिक्षक सेटअप परिवर्तन करते समय माध्यमिक शिक्षा में आने से वंचित रह गए। 2016 से बदला तरीका पंचायत राज शिक्षकों को सीधे माध्यमिक शिक्षा में नहीं लिया जाता था। लेकिन 2016 से सेटअप परिवर्तन का तरीका बदल दिया गया। तथा 6 डी के माध्यम से पंचायत राज शिक्षकों को प्रारंभिक शिक्षा से समायोजित किया गया। 6 डी जिले में कार्यग्रहण तिथि से वरीयता के आधार पर बनाई गई।

- Advertisement -
- Advertisement -
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -