- Advertisement -
HomeRajasthan Newsअब बाल विवाह में शामिल होने वाले सभी पर होगी कार्रवाई, ...

अब बाल विवाह में शामिल होने वाले सभी पर होगी कार्रवाई, दो साल की सजा व एक लाख रुपए जुर्माना का प्रावधान

- Advertisement -
  1. बाल विवाह में शामिल होने वालों पर होगी कार्रवाई साल की सजा व एक लाख रुपए जुर्माना का प्रावधान
  2. न्यायाधीश ने बाल विवाह में शामिल होने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के दिए निर्देश

हनुमानगढ़. बाल विवाह समाज के लिए अभिशाप है। इसे रोकने के लिए सभी का समन्वित प्रयास जरूरी है तभी हम इस सामाजिक बुराई को रोक पाएंगे। ये बात जिला एवं सत्र न्यायाधीश ज्ञान प्रकाश गुप्ता ने बैठक के दौरान कही। गुप्ता ने कहा कि बाल विवाह की सूचना मिले तो एडीआर सेंटर के कंट्रोल रूम नंबर 01552- 262027 पर इसकी जानकारी दी जा सकती है। सूचना देने वाले की पहचान गुप्त रखी जाएगी। इसके अलावा जिला प्रशासन की ओर से भी कंट्रोल रूम स्थापित किया गया। जिसका नंबर 01552-260299 है। ृबैठक में न्यायाधीश ने अधिकारियों से बाल विवाह में शामिल होने वाले हलवाई, ंडित, बैंडबाजा, टेंट वाले, बारातियों आदि के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए। कानून के तहत बाल विवाह में शामिल होने वालों के खिलाफ दो साल की सजा व एक लाख रुपए के जुर्माना का प्रावधान है। बैठक में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव विजय प्रकाश सोनी, एडीएम अशोक कुमार असीजा, शकुंतला चौधरी आदि अधिकारी मौजूद रहे।
बाल विवाह में शामिल होने वालों पर होगी कार्रवाईजो साल की सजा व एक लाख रुपए जुर्माना का प्रावधान

न्यायाधीश ने बाल विवाह में शामिल होने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के दिए निर्देश

हनुमानगढ़. बाल विवाह समाज के लिए अभिशाप है। इसे रोकने के लिए सभी का समन्वित प्रयास जरूरी है तभी हम इस सामाजिक बुराई को रोक पाएंगे। ये बात जिला एवं सत्र न्यायाधीश ज्ञान प्रकाश गुप्ता ने बैठक के दौरान कही। गुप्ता ने कहा कि बाल विवाह की सूचना मिले तो एडीआर सेंटर के कंट्रोल रूम नंबर 01552- 262027 पर इसकी जानकारी दी जा सकती है। सूचना देने वाले की पहचान गुप्त रखी जाएगी। इसके अलावा जिला प्रशासन की ओर से भी कंट्रोल रूम स्थापित किया गया। जिसका नंबर 01552-260299 है। बैठक में न्यायाधीश ने अधिकारियों से बाल विवाह में शामिल होने वाले पंडित, हलवाई,  बैंडबाजा, टेंट वाले, बारातियों आदि के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए। कानून के तहत बाल विवाह में शामिल होने वालों के खिलाफ दो साल की सजा व एक लाख रुपए के जुर्माना का प्रावधान है। बैठक में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव विजय प्रकाश सोनी, एडीएम अशोक कुमार असीजा, शकुंतला चौधरी आदि अधिकारी मौजूद रहे।

- Advertisement -
- Advertisement -
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -